नमस्कार दोस्तों, क्या आपको पता है LLM Full Form क्या है? और एल एल एम कैसे करे? इसके पिछले आर्टिकल में हमने LLB course (Bachelor of Law) के बारे में जानकारी दी और इस आर्टिकल में हम एलएलएम क्या है? (LLM kya hai) और एलएलएम कोर्स के बारे में (LLM in Hindi) विस्तार से बताने वाले है! 

इसके साथ ही हम एलएलएम कोर्स के लिए शैक्षिक योग्यता और एलएलएम कोर्स प्रवेश परीक्षा (LLM Course Entrance Exams) के बारे में जानेंगे! आमतौर पर लोगो को अपने क़ानूनी अधिकारों के बारे में पूर्णतः जानकारी नहीं होती है और ऐसे में जरूरत के समय वे वकीलों के चक्कर काटते रहते है!

जो छात्र वकील बनने और कानून के क्षेत्र में रूचि रखते और इस कानून के क्षेत्र में अपना सुनहरा करियर बनाना चाहते है तो वे बारहवीं की कक्षा पास करने के बाद लॉ कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते है! और ऐसे में LLM एक बेहतरीन करियर विकल्प होता है!

चलिए बिना समय व्यर्थ किये जानते है Law के फील्ड में LLM Full Form क्या है? LLM kya hai और एल एल एम कैसे करे? साथ ही भारत में बेस्ट लॉ कॉलेज कौन कौन से है?

LLM Full Form

[ LLM Kya Hai – LLM Full Form in law ]

भारत में लॉ के फील्ड में अनुभव यानी की वकालत का पेशा एक सम्मानजक पेशा माना जाता है!

विषय - सूची

एलएलएम का फुल फॉर्म – LLM Full Form in Hindi

LLM Full Form in law: एलएलएम का फुल फॉर्म Master of Law होता है! यह शब्द लेटिन भाषा के Legum magister से लिया गया है! यह वकीली के फील्ड में किया जाने वाला एक मास्टर कोर्स है!

एलएलएम कोर्स क्या है – LLM Course Kya hai

LLM Kya Hai: एल एल एम एक Post-graduated Degree Program है! यह Law (कानून) के क्षेत्र में प्राप्त की जाने वाली मास्टर उपाधि है! LLM कोर्स 2 साल का होता है जिसके अंतर्गत अधिकार और क़ानूनी तथ्यों से संबंधित पाठ्यक्रम का पूर्ण रूप से अध्ययन किया जाता है! Law के Field में विशेषज्ञता प्राप्त करने के लिए आप LLB Course पूरा करने के बाद LLM Course के लिए आवेदन कर सकते है!

कानून के आधार पर देश में सरकार द्वारा सामाजिक कार्यप्रणाली को सुचारु रूप से चलाया जाता है! देश में अलग अलग अलग प्रकार से नियमों को लागु किया जाता है! लॉ के पाठ्यक्रम में सभी प्रकार के क़ानूनी नियमो और दिशानिर्देशों का पूर्ण रूप से वर्णन किया जाता है!

एलएलएम कोर्स के लिए शैक्षिक योग्यता  Educational Qualification for LLM Course

LLM कोर्स को करने की लिए निर्धारित शैक्षिक योग्यता इस प्रकार होनी चाहिए!

  • कैंडिडेट्स द्वारा 12th उत्तीर्ण किया हो! 
  • LLB (Bachelor of law) कोर्स 55% मार्क्स के साथ उत्तीर्ण किया हो!
  • उम्मीदवार की उम्र 17 साल से अधिक हो!
  • नेशनल/स्टेट और यूनिवर्सिटी लेवल पर आयोजित होने वाला कोई एक LLM Entrance Exam क्लियर किया हो!

एलएलएम कोर्स प्रवेश परीक्षा – LLM Course Entrance Exams

यह परीक्षाएं लॉ कोर्स में एडमिशन प्राप्त करने के लिए आयोजित की जाती है! Entrance exams राष्ट्रिय, राज्य और यूनिवर्सिटी लेवल पर आयोजित की जाती है! यह एलएलएम कोर्स प्रवेश परीक्षा निम्नलिखित है:

  1. CLAT (Common Law Admission Test)
  2. AILET (All India Law Entrance Test)
  3. IPU CET (Indraprastha University Common Entrance Exam)
  4. LSAT (Law school admission Test)

1. CLAT (Common Law Admission Test)

यह परीक्षा को राष्ट्रीय स्तर पर पोस्टग्रेजुएट लॉ कोर्स में एडमिशन हेतु आयोजित किया जाता है! एलएलबी कोर्स के बाद कैंडिडेट्स CLAT परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते है! इंडिया में यह एग्जाम लगभग 22 लॉ यूनिवर्सिटी द्वारा कराई जाता है! CLAT में Total 150 MCQ पूछे जाते है! यह परीक्षा 2 घंटे का होता है! एग्जाम पैटर्न को 5 सेक्शन में विभाजित किया जाता है:

  • General knowledge of Current affairs 
  • English 
  • legal reasoning
  • logical reasoning
  • Mathematics (Quantitative Techniques)

2. AILET (All India Law Entrance Test)

यह परीक्षा को National Law University Delhi द्वारा आयोजित किया जाता है! अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट लॉ कोर्स और पीएचडी में प्रवेश हेतु AILET के लिए कैंडिडेट्स आवेदन कर सकते है! इंडिया में यह परीक्षा 12 कॉलेजो में आयोजित की जाती है! यह Offline Mode परीक्षा होती है!

3. IPU CET (Indraprastha University Common Entrance Exam)

यह एक यूनिवर्सिटी लेवल का Entrance Exam होता है! यह परीक्षा UG और PG कोर्स में एडमिशन के लिए गुरु गोविन्द इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी के द्वारा यह एग्जाम Organize किया जाता है! इस परीक्षा के लिए कैंडिडेट्स IPU की ऑफिसियल वेबसाइट में जाकर आवेदन कर सकते है। IPU CET में Multiple Choice Question दिए जाते है! 

4. LSAT (Law school admission Test)

यह परीक्षा को भारत में कई यूनिवर्सिटी और इंस्टिट्यूट में लॉ कोर्स में एडमिशन के लिए आयोजित किया जाता है! यह एग्जाम में अलग अलग सेक्शन में बहुवैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते है!

  • Analytical Reasoning
  • Reading Comprehension
  • logical reasoning (Two Sections)
  • (unscored) Writing

अन्य फुल फॉर्म – Other full forms 

LPG Full FormLLM Full Form NEET Full Form
ANM Full Form BDS Full Form BHMS Full Form
BBA Full Form B.Sc Full Form BDS Full Form
LLB Full Form ATM Full FormBA Full Form
MBA Full Form MBBS Full FormUPSC Full Form
MSP Full FormPGDM Full FormFDI Full Form
RIP Full Form WHO Full Form AWS Full Form
PHD Full Form M.Tech Full FormLPG Full Form
ITI Full Form B.Tech Full Form BMS Full Form
SSL Full FormTRP Full FormNGO Full Form
eRupi Full FormCDO Full FormCA Full Form

एलएलएम कोर्स कैसे करें – LLM Course Kese Kare

एल एल एम कैसे करे: मास्टर ऑफ़ लॉ में प्रवेश पाने के लिए सबसे पहले आपका Documentation पूर्ण होना चाहिए! बारहवीं पास करने के बाद लॉ में ग्रेजुएशन किया गया हो, इसके अलावा आप सीधे 12th करने के बाद LLB hons. करना चाहे तो कर सकते है! LLB hons. का कोर्स पांच साल का होता है!

आपका एलएलएम कोर्स में एडमिशन के लिए govt. या कॉलेजो में होने वाले प्रवेश परीक्षाओ में से कोई एक परीक्षा को क्लियर करना होता है! इन एग्जाम के लिए आवेदन कैंडिडेट्स यूनिवर्सिटी या सरकार द्वारा उपलब्ध कराये जाने वाले ऑफिसियल वेबसाइट में जाकर कर सकते है!

इसके बाद आप मास्टर ऑफ़ लॉ के कोर्स में एंट्री प्राप्त कर सकते है! कई कॉलेजो में एडमिशन मेरिट के आधार पर भी किये जाते है! एक अच्छे एग्जाम स्कोर प्राप्त करने पर आप इंडिया के सरकारी लॉ कॉलेजो में एडमिशन पा सकते है! और अंत में कोर्स के लिए चुने जाने वाले कैंडिडेट्स का इंटरव्यू लिया जाता है!

इसके अलावा लॉ कोर्स में एडमिशन प्रक्रिया के द्वारा अन्य निम्न मुख्य Documents का होना अनिवार्य माना जाता है जो इस प्रकार है!

  • 10th & 12th Certificate
  • Marksheet & Degree of LLB
  • Character Certificate
  • Passport Size Photos
  • Entrance Test Admit Card 
  • Cast Certificate (Optional)

एलएलएम कोर्स पाठ्यक्रम – LLM Course Syllabus in Hindi

LLM कोर्स के 2 साल के पाठ्यक्रम को सेमेस्टर के आधार पर निर्धारित किया जाता है! सेमेस्टर के अनुसार LLM Course Syllabus इस प्रकार है!

पहला सेमेस्टर एलएलएम पाठ्यक्रम (First Semester LLM Course Syllabus)

  • कानूनी अनुसंधान और कार्यप्रणाली प्रथम (Legal research and methodology – I)
  • संविधानवाद (Constitutionalism)
  • भारत में कानून और सामाजिक परिवर्तन (Law and Social Transformation in India)
  • न्यायशास्र (Jurisprudence)
  • व्यवहारिक प्रशिक्षण (Practical Training)

दूसरा सेमेस्टर एलएलएम पाठ्यक्रम (Second Semester LLM Course Syllabus)

  • कानूनी अनुसंधान और कार्यप्रणाली द्वितीय (Legal research and methodology – II)
  • अपराध का कानून (Law of Crimes)
  • प्रशासनिक कानून (Administrative law)
  • वित्त कानून (Finance Law)
  • विशेषज्ञता ऐच्छिक प्रथम (Specialization Elective – I)
  • कानून और प्रौद्योगिकी (Law & Technology)

तीसरा सेमेस्टर एलएलएम पाठ्यक्रम (Third Semester LLM Course Syllabus)

  • विशेषज्ञता ऐच्छिक द्वितीय (Specialization Elective – II)
  • अंतर्राष्ट्रीय व्यापार कानून (International Business Law)
  • संचार मीडिया कानून (Mass media Law)
  • विशेषाधिकार प्राप्त वर्ग विचलन (Privileged Class Deviance)
  • सार्वजनिक उपयोगिता कानून (Public Utilities Law)

चौथा सेमेस्टर एलएलएम पाठ्यक्रम (Forth Semester LLM Course Syllabus)

  • विशेषज्ञता ऐच्छिक तृतीय (Specialization Elective – III)
  • विशेषज्ञता ऐच्छिक चतुर्थ (Specialization Elective – IV)
  • रिपोर्ट कार्य और प्रकाशन (Report work and publication)
  • निबंध (Dissertation)
  • क्षेत्र कार्य (Field Work)

एलएलएम कोर्स फीस – LLM Course Fees in Hindi

इंडिया में लॉ कोर्स फीस अनुमानित 1 लाख से 3 लाख के बीच हो सकती है! सरकारी कॉलेजो में यह फीस एक समान हो सकती है लेकिन प्राइवेट कॉलेजो में किसी भी कोर्स की फीस को कॉलेजो द्वारा ही निर्धारित कीया जाता है!

भारत के टॉप लॉ कोर्स कॉलेज – Top Law Collages in India 

S.NoTop Law CollegesCityRank
1.National Law School of India UniversityBangalore1
2.Public university of IndiaLucknow2
3.National Law university Delhi3
4.Rajiv Gandhi School of Intellectual Property Law, Indian Institute of TechnologyKharagpur4
5.National Academy of Legal Studies and Research University of LawHyderabad5
6.WB National University of Juridical SciencesKolkata6
7.Dr Ram Manohar Lohiya National Law UniversityLucknow7
8.National Law UniversityJodhpur8
9.Hidayatullah National Law UniversityRaipur9
10.National University of Study and Research in LawRanchi10
11.The Tamilnadu Dr Ambedkar Law UniversityChennai11
12.National Law Institute University Bhopal12
LLM Full Form in law

एलएलएम कोर्स करने के बाद करियर – Career After LLM Course in Hindi

एल एल एम कोर्स करने के बाद अपने करियर को बेहतरीन बनाने के कई अवसर प्राप्त कर सकते है! सरकारी और निजी दोनों प्रकार से नौकरी पा सकते है! प्रोफेशनली कानून के क्षेत्र में अपने अनुभव का पूर्ण रूप से उपयोग कर सकते है! कोर्ट, यूनिवर्सिटी और अन्य संस्थाओ में कार्य कर सकते है! जो निम्न है!

  • कानूनी विभाग (Legal Department)
  • सरकार क्षेत्र (Govt. Sector)
  • निजी क्षेत्र की कंपनियां (Private Sector Companies)
  • विश्वविद्यालय (University)
  • भारतीय परामर्श फर्म (Indian Consulting Firms)
  • विदैशी कंपनियॉं (Foreign Companies)
  • विदेशी कानून फर्म (Foreign Law Firms)
  • राज्य विधिज्ञ परिषद्‍ (State Bar Council)

एलएलएम के बाद नौकरी – Job After LLM Course in Hindi

LLM Course करने के बाद आप कानून के क्षेत्र में एक प्रोफेशनल पद प्राप्त कर सकते है! चलिए जान लेते है लॉ के क्षेत्र में पोस्टग्रेजुएट डिग्री प्राप्त करने के बाद निम्नलिखित पदों में नौकरी पा सकते है! 

  • Lawyer (वकील)
  • Magistrate (मजिस्ट्रेट)
  • Attorney General (महान्यायवादी)
  • Legal Expert (कानून विशेषज्ञ)
  • Legal Advisor (क़ानूनी सलाहकार)
  • Lecturer (व्याख्याता)
  • Legal Manager (कानूनी प्रबंधक)
  • Trustee (ट्रस्टी)
  • Notary (लेख्य प्रमाणक)
  • Assistant Legal Manager (सहायक कानूनी प्रबंधक)
  • Joint Advisor (संयुक्त सलाहकार)
  • Programme Officer (कार्यक्रम अधिकारी)
  • District Judge (जिला जज)
  • Law Reporter (कानून संवाददाता)
  • Adjunct Professor (अनुबंधक अध्यापक)
  • Senior Tax Associate (वरिष्ठ कर सहयोगी)

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल – (Frequently Asked Questions) FAQ

Q1. LLB और LLM कोर्स में क्या अंतर (Difference) है?

Ans. कानून के क्षेत्र में LLB (Bachelor of law) एक अंडरग्रेजुएट लेवल का कोर्स और LLM (Master In law) एक पोस्टग्रेजुएट लेवल का कोर्स होता है! 

Q2. LLM Course Duration कितने साल का होता है?

Ans. यह LLM Course Duration दो साल का होता है! जिससे आप कानून के क्षेत्र में मास्टर डिग्री धारक कहलाते है!

Q3. क्या LLM कोर्स के बाद पीएचडी कर सकते है?

Ans. जी हाँ, एलएलएम कोर्स करने के बाद आप पीएचडी कर सकते है लेकिन LLB कोर्स करने के बाद कैंडिडेट्स पीएचडी के लिए आवेदन नहीं सकते है इसके लिए पोस्टग्रेजुएट होना अनिवार्य होता है!

Q4. क्या एलएलएम कोर्स के लिए LLB करना अनिवार्य होता है?

Ans. मास्टर डिग्री (एलएलएम) करने के लिए उम्मीदवार का पूर्वस्नातक (LLB Course) उत्तीर्ण होना आवश्यक होता है! 

Q5. लॉ कोर्स करने के लिए 12th कौन से स्ट्रीम से उत्तीर्ण होना चाहिए?

Ans. Law Courses (LLB, LLM) करने के लिए आपको बारहवीं में किसी भी स्ट्रीम (Science, Commerce, Art) से उत्तीर्ण होना चाहिए!

निष्कर्ष – Conclusion

आज के इस हिंदी पोस्ट में हमने LLM Full Form in law क्या है? LLM kya hai और LLM Course कैसे करें? साथ ही भारत में बेस्ट लॉ कॉलेज कौन कौन से है? जाने! कानून के क्षेत्र में बैचलर कोर्स करने के बाद मास्टर कोर्स कर सकते है!

उम्मीद है हमारा यह हिंदी लेख के माध्यम से आपको बहुत कुछ जानने को मिला होगा! यदि आपके मन में लॉ कोर्स को लेकर कोई विचार,सवाल हो, कमेंट सेक्शन में लिखकर जरूर बताएं! इस प्रकार की Educational information को सोशल मिडिया में शेयर करना न भूलें!

हमारी यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

स्वस्थ रहें, सुरक्षित रहें और अपनों का ख्याल रखें!

- Advertisement -

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here