Rate this post

IPS Officer Kaise Bane – बात जब सरकारी नौकरी की होती है तो भारत में सरकारी नौकरी को सबसे अच्छा रोजगार माना जाता है क्योंकि सरकारी नौकरी में कर्मचारियों को कई लाभ मिलते हैं और नौकरी भी अस्थायी नहीं होती है! इसलिए हर मध्यम वर्ग का व्यक्ति यही चाहता है की उसे अच्छी सी सरकारी नौकरी प्राप्त हो! 

लेकिन भारत में तीन पद ऐसे हैं जिन्हें बहुत सम्मानजनक माना जाता है और हर कोई चाहता है कि उसे ये सम्मानजनक और उच्च पद मिले!

क्या आप जानते हैं वो तीन पद? वे तीन पद IAS ,IPS और IFS के है! आज हम इन तीन पदों में से एक महत्वपूर्ण पद के बारे में आपको जानकारी देंगे जो की IPS का पद है!

आईपीएस क्या होता है? IPS Officer Kaise Bane, आईपीएस फुल फॉर्म हिंदी, IPS की परीक्षा में बैठने के लिए शारीरिक और शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए? IPS की परीक्षा की तैयारी के लिए Exam Pattern क्या होता है? अगर आप इन सभी सवालों के साथ इस आर्टिकल को पढ़ने आए हो तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हो!

इस आर्टिकल के द्वारा हम विस्तार से हर एक जानकारी को आपके साथ शेयर करने जा रहे है! आईपीएस ऑफर बनने से लेकर उसके वेतन से जुड़े हर एक महत्वपूर्ण सवालों का जवाब आपको इस लेख में मिलेगा! तो चलिए आगे बढ़ते हैं और जानते हैं!

Police Verification क्या है? पुलिस वेरिफिकेशन फॉर्म ऑनलाइन कैसे भरें?

विषय - सूची

आईपीएस फुल फॉर्म हिंदी – IPS Full Form in Hindi

आईपीएस का अंग्रेजी भाषा में फुल फॉर्म Indian Police Service है और हिंदी में आईपीएस का पूरा नाम भारतीय पुलिस सेवा है! आईपीएस ऑफिसर हमेशा प्रशाशनिक कार्यों के आलावा समाज के प्रति भी अपनी जागरूकता को बनाये रखते हैं! 

IPS क्या होता है?

भारत में पुलिस प्रशासन में पुलिस अधिकारियों का उच्चतम पद IPS का होता है! IAS के बाद IPS के पद को सबसे सम्मानजनक पद माना जाता है! IPS का काम राज्य सरकार या केंद्र सरकार के स्तर तक सीमित नहीं होता बल्कि वे राज्य के साथ-साथ केंद्र सरकार के स्तर पर होने वाले महत्वपूर्ण सरकारी कार्यों में अपना योगदान देता है!

भारत में IAS, IPS और IFS के लिए परीक्षा UPSC (Union Public Service Commission) द्वारा आयोजित की जाती है! आईपीएस की परीक्षा को भारत में सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है!

इसलिए IPS के उम्मीदवारों के लिए यह सलाह दी जाती है कि वे 10वीं के बाद से परीक्षा की तैयारी शुरू कर दें यदि वे वाकई में IPS ऑफिसर बनने के बारे में विचार कर रहे है तो!

आईपीएस ऑफिसर कैसे बने?

IPS Officer Kaise Bane – आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए आपको कई बातों का ध्यान रखना होता है! IPS बनने के लिए आपको किन शारीरिक और शैक्षणिक योग्यताओं की आवश्यकता होती है, इसके बारे में आपको पता होना चाहिए और बहुत से लोगों को आईपीएस के बारे में संदेह है कि हमें शिक्षा की कौन सी धारा चुननी चाहिए!

साथ ही लोगों के मन में कई अन्य शंकाएं और प्रश्न होते है जिनका जवाब जानना बेहद ही जरूरी है! इसलिए आपके सभी सवालों के जवाब हमने निम्नलिखित रूप से दिए है! 

IPS ऑफिसर बनने के लिए उन सभी योग्यताओं को निम्नलिखित रूप से विभाजित किया गया है जो आईपीएस परीक्षा में भाग लेने के लिए आवश्यक हैं!

शैक्षिक योग्यता, राष्ट्रीयता, आयु और शारीरिक मापदण्ड, ये चार बुनियादी योग्यताएं हैं जो परीक्षा में भाग लेने के लिए आवश्यक है! इन सभी के बारे में नीचे समझाया गया है! इनको ध्यान से पढ़े ताकि आपके मन में कोई संदेह न रहे!

शैक्षणिक योग्यता

आईपीएस और किसी भी प्रकार की सिविल सेवा परीक्षा में भाग लेने के लिए सरकारी या प्राइवेट विद्यालय से 12वी की परीक्षा अच्छे नंबरों से पास होनी चाहिए! साथ आपके पास महाविद्यालय से किसी भी विषय में स्नातक डिग्री का (Graduation In Any Subject) होना जरूरी है!

BMS Full Form: BMS कोर्स क्या है? कैसे करें? BMS Course Details in Hindi

जो छात्र पिछले साल की स्नातक डिग्री के अपने परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं, वे आईपीएस की परीक्षा में भी शामिल हो सकते हैं, लेकिन Joining होने से पहले आपको अपना अंतिम वर्ष का परिणाम भी जमा करवाना होगा!

राष्ट्रीयता

सिविल सेवा या फिर आईपीएस की परीक्षा में बैठने के लिए जरूरी हैं की व्यक्ति के पास भारत की नागरिकता जरूर होनी चाहिए यानी की वजह भारत का नागरिक होना चाहिए!

आयु सीमा

Category (श्रेणी) Age Limit (आयु सीमा)Attempts Available (प्रयास उपलब्ध)
General21 to 32 वर्ष6 Attempts (प्रयास)
OBC21 to 35वर्ष  (+3 Year Relaxation (+3 वर्ष की राहत)9 Attempts (प्रयास)
SC/ST21 to 37 (+ 5 Year Relaxation (+5 वर्षा की राहत )No Limit (कोई सीमा नहीं)

शारीरिक योग्यता

आईपीएस की तैयारी करने से पहले हर कोई यह जानना चाहता है कि किसी व्यक्ति को आईपीएस के लिए शारीरिक रूप से फिट मानने के लिए न्यूनतम माप क्या हैं? इस शारीरिक योग्यता को भी तीन भागों में बांटा गया है 1. ऊँचाई 2. छाती और 3. नेत्र दृश्यता! 

ऊंचाई

सामान्य वर्ग के लड़कों के लिए अनिवार्य ऊंचाई 165 सेमी (5 फीट 5 इंच) और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और ओबीसी वर्ग के लड़कों के लिए अनिवार्य ऊंचाई 160 सेमी (5 फीट 4 इंच) है! 

सामान्य श्रेणी की लड़कियों के लिए अनिवार्य ऊंचाई 150 सेमी (4 फीट 12 इंच) और एससी / एसटी और ओबीसी श्रेणी की लडकियों के लिए अनिवार्य ऊंचाई 145 सेमी (4 फीट 9 इंच) है!

छाती

आईपीएस के पुरुष उम्मीदवारों के लिए छाती की चौड़ाई 84 सेमी होनी चाहिए!

महिला उम्मीदवारों के लिए छाती की चौड़ाई 79 सेमी होनी चाहिए!

नेत्र दृष्टि

स्वस्थ आँख के लिए 6/6 या 6/9 सही दृष्टि है!

सबसे बुरी नजर के लिए 6/9 या 6/12 सही दृष्टि है!  

अच्छी आंख के लिए निकट दृष्टि J1 और सबसे खराब आंख के लिए निकट दृष्टि J2 होनी चाहिए!

IPS (UPSC) की परीक्षा के लिए आवेदन करें?

आपको अपना स्नातक पूरा करने के बाद IPS (UPSC) Exam के लिए आवेदन करना चाहिए! यहां तक ​​कि आप अपने अंतिम वर्ष की परीक्षा के परिणाम की प्रतीक्षा करते हुए भी परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं! लेकिन Joining होने से पहले आपको ग्रेजुएशन के सभी विषयों में उत्तीर्ण होना होगा!

लेकिन मुख्य सवाल यह है कि IPS Officer Kaise Bane, IPS के लिए आवेदन कैसे करे? आवेदन करने के लिए आप upsc.gov.in साइट पर जाके आईपीएस परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हो!

हमने आपको पहले ही बताया था कि आईपीएस की परीक्षा यूपीएससी द्वारा आयोजित की जाती है तो परीक्षा का पैटर्न आईएएस प्रारूप के समान होता है! परीक्षा के इस प्रारूप में परीक्षाओं को तीन चरणों में विभाजित किया गया है!

  1. प्रारंभिक परीक्षा (preliminary exam)
  2. मुख्य परीक्षा (main exam)
  3. साक्षात्कार (interview)

इन तीनों परीक्षाओं को पास करने वाले उम्मीदवार IPS बन जाते हैं! लेकिन इन्हें क्लियर करना कोई आसान काम नहीं है! आपको इस परीक्षा को पास करने के लिए समान रूप से कड़ी मेहनत और स्मार्ट वर्क करना होगा!

प्रारंभिक परीक्षा – Preliminary Exam

IPS बनने के लिए आपको सबसे पहले UPSC की प्रारंभिक परीक्षा पास करनी होती है! इस परीक्षा को योग्यता परीक्षा (Qualifying Exam) भी कहा जाता है क्योंकि अगर आपने यूपीएससी परीक्षा को गंभीरता से नहीं लिया है तो आप प्रारंभिक परीक्षा में भी उत्तीर्ण नहीं हो सकते हैं!

यह परीक्षा आम तौर पर जून और अगस्त के महीनों के बीच आयोजित की जाती है और प्रारंभिक परीक्षा के कुछ महीनों बाद परिणाम भी घोषित कर दिए जाते हैं! 

प्रारंभिक परीक्षा में कितने पेपर होते हैं?

यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam) में 200-200 अंकों के दो पेपर होते हैं और उम्मीदवारों को दूसरे चरण के लिए इन पेपरों को उत्तीर्ण करना होगा जो कि मुख्य परीक्षा है!

यह दोनों पेपर वस्तुनिष्ठ (Optional Question) प्रकार के प्रश्नों के साथ आते हैं! उम्मीदवारों के पास प्रत्येक प्रश्न के लिए 4 उत्तर विकल्प होते हैं!

इन 4 विकल्पों में से उम्मीदवारों को प्रश्न के लिए उपयुक्त विकल्प पर टिक करना होता है! इन दोनों परीक्षाओं में निगेटिव मार्किंग की जाती है जिसकी वजह से इस प्रारंभिक परीक्षा को पास करना थोड़ा बहुत मुश्किल हो जाता है!

[12वी के बाद] CA Kaise Bane (सीए की सैलरी) CA Full Form फीस & योग्यता पूरी जानकारी

लेकिन आपके पास प्रश्न पत्र में हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा का विकल्प है जिससे आप प्रश्न पत्र को आसानी से समझ सकते हो! इस प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद ही आप IPS (UPSC) की मुख्य परीक्षा में बैठ सकते हैं!

मुख्य परीक्षा – Main Exam

IPS (UPSC) की प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद आपको मुख्य परीक्षा की तैयारी करनी होगी!

मेन्स परीक्षा आम तौर पर साल के आखिरी चार महीनों में किसी भी महीने में यूपीएससी द्वारा किसी भी तारीख को आयोजित की जा सकती है! और परिणाम आम तौर पर मुख्य परीक्षा के दो महीने बाद घोषित किया जाता है!

मेंस में कितने पेपर होते हैं?

मेन्स में 9 पेपर यूपीएससी द्वारा आयोजित किए जाते हैं! इन 9 पेपर में 7 पेपर मैरिट और 2 पेपर भाषा के होते हैं! 

इन 9 प्रश्नपत्रों में दो प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं 1. वैकल्पिक प्रश्न 2. निबंधात्मक प्रश्न!

आपको इन दोनों प्रारंभिक और मुख्य परीक्षाओं को पास करने की आवश्यकता है और फिर आपको साक्षात्कार के लिए बुलाया जाएगा !

साक्षात्कार – Interview

उम्मीदवारों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है जब वे प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा दोनों उत्तीर्ण करते हैं! इस प्रक्रिया में उम्मीदवारों को यूपीएससी के शीर्ष अधिकारियों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का सही तरीके से सटीक जवाब देना पड़ता है!

यह इंटरव्यू 45 मिनट तक चलता है और साक्षात्कार में कुल 275 अंक होते हैं! उम्मीदवारों को आत्मविश्वास के साथ खुद को दूसरों के सामने पेश करने के लिए व्यवहार, व्यक्तित्व और गुण के आधार पर नंबर दिए जाते हैं!

जिन उम्मीदवारों में ये गुण होते हैं उन्हें अधिकारियों से ज्यादा नंबर मिलते हैं और इन्ही से आईपीएस बनने की संभावना बढ़ जाती है! इसे IPS Officer बनने का अंतिम चरण भी कहा जाता है!

आईपीएस ऑफिसर का प्रशिक्षण

यूपीएससी के तीनों राउंड की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद यह माना जाता है कि उम्मीदवार आईपीएस (Training) प्रशिक्षण के लिए सक्षम हैं!

IPS की प्रशिक्षण अवधि 3 वर्ष है और इन 3 वर्षों में उम्मीदवारों को पुलिस सेवा के संबंध में हर एक छोटी से छोटी जानकारी दी जाती है! 

आईपीएस अधिकारी Sardar Vallabhbhai Patel National Police Academy में प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं और यह अकादमी हैदराबाद, तेलंगाना में है! तीन साल के प्रशिक्षण के बाद उम्मीदवारों को उनके कर्तव्यों के आधार नियुक्त किया जाता हैं!

IPS Exam Syllabus in Hindi

जैसा कि आप पहले ही पढ़ चुके हैं कि यूपीएससी द्वारा लिखित परीक्षा दो प्रकार की होती है और इन दोनों परीक्षाओं के लिए पाठ्यक्रम भी अलग-अलग होता है!

आइए जानते हैं IPS/UPSC की इन दोनों प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा के परीक्षा सिलेबस के बारे में:

IPS प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम (syllabus):

प्रारंभिक परीक्षा में आपको दो पेपर पास करने होते हैं! ये दोनों पेपर ऑब्जेक्टिव टाइप के होते हैं और 200-200 अंकों के साथ आते हैं! आपको प्रत्येक पेपर को 2 घंटे में हल करना होता है!

S.Nप्रारंभिक परीक्षा पेपर -1प्रारंभिक परीक्षा पेपर-2
1.देश और विदेश की वर्तमान घटनाएंComprehension
2.भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहासपारस्परिक और संचार कौशल
3.भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय भूगोलतार्किक और विश्लेषणात्मक कौशल
4.वित्तीय और सामाजिक विकाससामान्य मानसिक योग्यता
5.राजनीति और शासननिर्णय लेने और समस्याओं को हल करने की क्षमता!
6.पर्यावरण की वर्तमान गतिविधियाँसामान्य गणित (10वीं स्तर का गणित)

IPS मुख्य परीक्षा का पैटर्न और पाठ्यक्रम

IPS (UPSC) की मुख्य परीक्षा में 9 पेपर होते हैं! इन 9 पेपरों में से दो पेपर भाषा के होते हैं, जिसमें उम्मीदवारों द्वारा एक भाषा चुनी जाती है जिस पर वे सहज होते हैं और दूसरी भाषा अंग्रेजी होती है जो अनिवार्य है! अगले 7 पेपरों में से अंतिम 2 पेपर उम्मीदवारों द्वारा चुने गए मुख्य सब्जेक्ट के होते है!

S.NPaper (पेपर)Maximum Marks (अधिकतम अंक)
1.एक  एक सामान्य प्रकार का पेपर200
2.एक निबन्ध प्रकार का भारतीय भाषा क्वालिफाइंग पेपर300
3.एक अंग्रेजी क्वालीफाइंग पेपर300
4.दो सामान्य अध्ययन पत्र300
5.चार ऑब्जेक्टिव सब्जेक्ट पेपर300

आईपीएस ऑफिसर बनने की तैयारी कैसे करें?

IPS Officer Kaise Bane इसके लिए तैयारी कैसे करें? की बात करे तो सबसे पहले आपको किसी भी विषय में ग्रेजुएशन पूरा करना होता है!

आप अपने अंतिम वर्ष के परिणाम की प्रतीक्षा करते हुए IPS परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं लेकिन Join होने से पहले आपकी स्नातक डिग्री पूरी होनी चाहिए!

  • अपनी IPS परीक्षा पास करने के लिए आपको करेंट अफेयर्स के बारे में अच्छी जानकारी होनी चाहिए! करंट अफेयर्स के लिए आप समाचार पत्र ,पत्रिकाएं और इंटरनेट पर अपने फोन से न्यूज और सामान्य ज्ञान से जुड़े ब्लॉग भी पढ सकते हो!
  • ये परीक्षाएं बहुत कठिन होती हैं इसलिए आपको कड़ी मेहनत के साथ-साथ स्मार्ट वर्क भी करने की जरूरत है! आपको IPS परीक्षा के सिलेबस को समझना होगा और उसके सिलेबस के अनुसार अध्ययन करना चाहिए! 
  • आपको समय का प्रबंधन करना चाहिए ताकि आप अपने सभी विषयों के पाठ्यक्रम को पूरा कर सकें! अर्थात अपना एक टाइम टेबल बनाना होगा जिसके अनुसार आप पढ़ाई कर सको!
  • यूपीएससी परीक्षा के सभी उपलब्ध पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों को हल करें! इससे आपको यह अनुभव प्राप्त होता है कि परीक्षक द्वारा प्रश्नपत्र कैसे निर्धारित किए जाते हैं और इस तरह से आप स्वयं को परीक्षा के लिए तैयार कर सकते हैं!
  • Mocks Tests को भी लगवाये और उन्हे हल करें जिस से आपकी पेपर solve करने की गति में वृद्धि होगी!
  • इसके साथ आप किसी कोचिंग सेंटर से कोचिंग भी प्राप्त कर सकते हो! इसके अतिरिक्त आज कल ऑनलाइन फ्री कोचिंग भी दी जाती है जिसका फायदा आपको जरूरी उठाना चाहिए!
  • UPSC परीक्षा पास करना आसान नहीं होता तो अपनी अध्ययन को कम ना होने दें और आत्मविश्वास और दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ पढ़ाई करें!

IPS ऑफिसर के द्वारा किए जाने वाले कार्य कौन–कौन से है?

एक IPS अधिकारी का प्राथमिक कार्य यह सुनिश्चित करना है कि उसके कार्यक्षेत्र के सभी लोग सुरक्षित रहें! जिले के आईपीएस अधिकारी मुख्य रूप से कानून व्यवस्था बनाए रखने का काम करते हैं! एक IPS अधिकारी को अपने कार्य क्षेत्र में इन महत्वपूर्ण कर्तव्यों को पूरा करना होता है!

  1. क्षेत्र में अपराध को रोकना
  2. क्षेत्र में दुर्घटनाओं (सामाजिक, वित्तीय आदि) को रोकना!
  3. अपराधों के बारे में जांच करना और उन पर कार्यवाही करना!
  4. प्राथमिक सुचना रिपोर्ट के लिए पंजीकरण (FIR)!
  5. राजनीतिक और धार्मिक कार्यों के संबंध में अनुमति देना देना जो समाज के हित मे हो!
  6. क्षेत्र में आतंकवाद विरोधी गतिविधियों को रोकना और इन गतिविधियों से बचने के लिए विशेष उपाय करना!

कुछ अनुभवी IPS अधिकारी IB (खुफिया ब्यूरो), CBI और RAW में नियुक्त होते हैं! उन्हे BSF, CRPF जैसे अर्धसैनिक बलों के प्रमुख के रूप में भी नियुक्त किया जाता है!

आईपीएस की सैलरी कितनी होती है?

प्रत्येक पद के लिए IPS अधिकारी का वेतन अलग-अलग होता है! एक IPS अधिकारी का औसत वेतन 56,100 से 2,25,000(TA, DA और HRA अतिरिक्त) से शुरू होता है!

Serial no.Rank of IPS officer  (आईपीएस अधिकारी का पद )IPS Salary (वेतन)सातवा वेतन आयोग के वेतनमान के अनुसार
1.Director General of Police (DGP)/ Director of IB or CBI2,25,000 Rs.
2.Director General of Police2,05,400 Rs.
3.Inspector general of police1,44,200 Rs.
4.Deputy Inspector general of Police1,31,000 Rs.
5.Senior Superintendent of Police  78,000 Rs.
6.Additional Superintendent of Police  67,000 Rs.
7.Deputy Superintendent of Police  56,100 Rs.

Conclusion – IPS Officer Kaise Bane

हमे उम्मीद है की IPS Officer Kaise Bane और आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए आवश्यक योग्यताएं क्या है? आपको अच्छे से समझ मे आ गई होंगी! अगर आपको लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और परिवार के साथ साझा करना न भूलें! 

इस लेख को अपने उन दोस्तों के साथ साझा जरूर करें जो IPS (UPSC) Exam में शामिल होना चाहते है ताकि उनको इस जानकारी का लाभ मिल सके! आपको पोस्ट कैसा लगा आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं!

हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने हेतु आपका बहुत बहुत धन्यवाद 

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here