हेल्लो दोस्तों, आज के इस पोस्ट में हम फार्मेसी क्या है इन हिंदी? (Pharmacy Kya Hai), फार्मेसी कोर्स कैसे करें? (Pharmacy Kaise Kare) और फार्मेसी कोर्स की पूरी जानकारी (Pharmacy Course in Hindi) जानेंगे। एक ऐसा कोर्स जो पूर्ण रूप से हमारे स्वास्थ्य से संबंधित है। और इसके बारे में जानना सभी के लिए फायदेमंद हो सकता है। यह एक बहुत बेस्ट करियर विकल्प माना जाता है।

12th पास करने के बाद प्रत्येक Student अपने करियर के बारे में सोचता है और एक सही विकल्प को चुनते है! गवर्नमेंट द्वारा बारहवीं उत्तीर्ण छात्रो के लिए हजारो कोर्स प्रोवाइड किये जाते है! इन्ही में से Pharmacy भी एक Course है जो मेडिकल के फील्ड से जुड़ा हुवा है!

फार्मेसी कोर्स को सरकारी और निजी दोनों प्रकार के कॉलेजो से किया जा सकता है! आज हमारी इस पोस्ट को पढ़कर आपके फार्मेसी कोर्स से संबंधित सभी Doubts Clear हो जायेंगे!

इसके साथ ही आप जान पायेंगे की यदि आप मेडिकल के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है! यह फार्मेसी का कोर्स कितना फायदेमंद है? और एक सही विकल्प है!

तो चलिए आगे बढ़ते हैं और फार्मेसी कोर्स क्या है? (Pharmacy Kya Hai), फार्मेसी कोर्स कैसे करें? (Pharmacy Kaise Kare) विस्तार से जानते हैं!

Pharmacy Course details in Hindi

[ Pharmacy Kya Hai – Pharmacy Course Details in Hindi ]

यदि आप को इस कोर्स के बारे में सम्पूर्ण जानकारी न हो और आप जानने चाहते है तो चलिए जान लेते है Pharmacy Kya Hai ? यह कोर्स कैसे करें और टॉप फार्मेसी कॉलेज कौन-कौन से है? 

विषय - सूची

फार्मेसी कोर्स क्या है – Pharmacy Kya Hai in Hindi    

Pharmacy Kya Hai: फार्मेसी एक Undergraduate Diploma Course होता है जो मेडिकल के क्षेत्र से संबंधित है! यह एक प्रोफेशनल कोर्स है! भारत में यह फार्मेसी प्रोफेशन को PCI (Pharmacy council of India) द्वारा regulate किया जाता है!

फार्मेसी एक्ट 1948 के अंतर्गत PCI का गठन 4 मार्च 1948 को किया गया!

फार्मेसी हेल्थ साइंस से जुड़ा हुआ एक ऐसा Branch है! जिसके अंतर्गत दवाओं (Medicine) का Preparation (औषध निर्माण), Compounding (औषध – मिश्रण) और Dispensing (औषध वितरण) का अध्ययन कराया जाता है!

Pharmacy Course को पूर्ण करने के बाद फार्मेसी स्टूडेंट को पीसीआई में As a Pharmacist रजिस्ट्रशन कराना होता है! जिसका आपको हर पांच या दश साल में नवीनीकरण कराना अनिवार्य होता है!

फार्मेसी कोर्स के अंतर्गत किसी भी Drugs का पूर्ण रूप से अध्ययन कराया जाता है जैसे शरीर में दवा किस प्रकार कार्य करती है!

Medicine का side effects, Drugs Interaction, Toxicity आदि! फार्मेसी कोर्स को पूर्ण करने के बाद आप फार्मासिस्ट कहलाते है!

फार्मासिस्ट की स्पष्ट परिभाषा – Pharmacist Definition in Hindi

Pharmacist जो डॉक्टर द्वारा दिए जाने वाले Prescription के अनुसार पेशेंट को Medicine प्रदान करता है! फार्मासिस्ट को कैमिस्ट भी कहा जाता है! एक Pharmacist एक Clinic या medicos खोल कर लोगो तक सेवा प्रदान करते है! 

भारतीय फार्मेसी का जनक – Father of Indian Pharmacy

भारत में ‘महादेवा लाल श्रॉफ‘ को भारतीय फार्मेसी का जनक माना जाता है। उन्होंने भारत में फार्मेसी के क्षेत्र में अपना सम्पूर्ण योगदान दिया। हिन्दू यूनिवर्सिटी ऑफ़ बनारस उन्होंने अपना इंजीनियरिंग कोर्स की पढाई पूरी की। 

फार्मासिस्ट कैसे बने – Pharmacist Kaise Bane

फार्मेसी के बारे में जानने के बाद चलिए अब हम जानते है की फार्मासिस्ट कैसे बने? सरकारी अस्पतालों, स्वास्थ्य केंद्रों और स्वास्थ्य संबंधी सरकारी संस्थाओ में फार्मासिस्ट का पद और फार्मासिस्ट की भूमिका बहुत अधिक महत्वपूर्ण होता है!

फार्मासिस्ट का कार्य अस्पताल, स्वास्थ्य कार्यक्रम या फिर स्वास्थ परियोजनाओ में मरीजों को डॉक्टरों के द्वारा प्रेस्क्राइब्ड दवाओं को उपलब्ध कराने और स्टॉक में दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने का होता है!

इसके साथ ही अस्पतालों में दवाओं की कमी या फिर दवाओं के क्रय संबधी रिपोर्ट तैयार करने की जिम्मेदारी भी एक फार्मासिस्ट की होती है! 

तो यदि आप भी एक फार्मासिस्ट बनना चाहते है और फार्मासिस्ट कैसे बने? के बारे में पूरी जानकारी ढूढ़ रहे है तो आपको बता दे की आप फार्मेसी कोर्स करके एक सफल फार्मासिस्ट बनकर अपने सपने साकार कर सकते है!

तो चलिए और आगे बढ़ते है और फार्मेसी कोर्स करने के लिए शैक्षिक योग्यता, प्रवेश प्रक्रिया और फार्मेसी कोर्स के लिए फीस के बारे में विस्तार से जानते है!

फार्मेसी कोर्स के लिए शैक्षिक योग्यता – Qualification for Pharmacy Course

Pharmacy Course (फार्मेसी कोर्स) में एडमिशन के लिए शैक्षिक योग्यता इस प्रकार निम्न है:

1. 12th science stream (Chemistry, Mathematics/Biology, Physics) के साथ से उत्तीर्ण हो!

2. छात्र द्वारा बारहवीं में 50% मार्क्स प्राप्त किये गए हो!

3. Candidates के उम्र 17 साल होनी चाहिए!

4. SC/ST/OBC Category के Candidates को 10% Marks की छूट दी जाती है!

फार्मेसी कोर्स में प्रवेश प्रक्रिया – Pharmacy Course Admission Process in Hindi

यह कोर्स किसी भी छात्र के लिए एक बेस्ट करियर विकल्प है! यह कोर्स नेशनल और स्टेट लेवल कोर्स होता है! फार्मेसी कोर्स में एडमिशन के लिए आपको सबसे पहले common entrance exam देना होता है!

यह फार्मेसी कोर्स भी पॉलिटेक्निक का ही एक ब्रांच होता है! साल के शुरुवात में February – March में यह एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई कर सकते है! लगभग 1-2 month बाद आपको यह एग्जाम देना होता है!

एग्जाम देने के कुछ समय बाद गवर्नमेंट द्वारा रिजल्ट घोषित किये जाते है और रिजल्ट में आप अपनी रैंक जान सकते है!

आपकी रैंक के आधार पर ही यह निर्धारित होता है की आपको किस प्रकार के कॉलेज (Government या private) में एडमिशन मिल पायेगा! 

एक अच्छी रैंक लाने पर आप टॉप गवर्नमेंट कॉलेज इसके साथ ही अपने पसंदीदा कॉलेज में एडमिशन आसानी प्राप्त कर सकते है!

कॉउंसलिंग और कॉलेज चुनाव प्रक्रिया – Pharmacy Counseling and College Selection Process in Hindi

जब आपको अपना रिजल्ट या रैंक पता चल जाती है! तो आपको कॉउन्सिलिंग Process के लिए आपको अपने निकट के पॉलीटेक्निक कॉलेज या किसी सेंटर में जाना होता है!

Counseling के लिए सबसे पहले Documentation को पूरा करना होता है और आपको उन सभी पसंदीदा कॉलेजो के नाम लिखना होता है जहां आप एडमिशन लेना चाहते है!

इस प्रकार आपके रैंक के आधार पर आपको 2 -3 कॉलेज Provide कराये जाते है इनमे से आप कोई एक कॉलेज Select कर एडमिशन ले सकते है!

फार्मेसी कोर्स फीस – Pharmacy Course Fees in Hindi

यदि Pharmacy course की Fees में बारे में बात की जाये तो जब आप किसी भी गवर्नमेंट कॉलेज से यह कोर्स करते है तो आपको इसकी फीस 10,000 से 1 Lakh तक होती है!

प्राइवेट कॉलेज में Pharmacy course फीस अलग अलग और सरकारी कॉलेज की तुलना में अधिक होती है! निजी संस्थानों में Fees एजुकेशन व्यवस्था पर निर्भर करती है!

फार्मेसी कोर्स पाठ्यक्रमPharmacy Course Syllabus in Hindi

यह डिप्लोमा फार्मेसी 2 साल का कोर्स होता है! इस अवधि में Health science से संबंधित जानकारी दी जाती है!

Pharmacy First-Year Syllabus in Hindi

  • फार्मास्युटिक्स – I (Pharmaceutics – I)
  • फार्मास्युटिकल केमिस्ट्री – I (Pharmaceutical Chemistry – I)
  • फार्माकोग्नॉसी (Pharmacognosy)
  • जैव रसायन और नैदानिक ​​रोगविज्ञान (Biochemistry and Clinical Pathology)
  • मानव शरीर रचना विज्ञान और शरीर विज्ञान (Human anatomy & physiology)
  • स्वास्थ्य शिक्षा और सामुदायिक फार्मेसी (Health Education & Community Pharmacy)

Pharmacy Second-Year Syllabus in Hindi

  • फार्मास्युटिक्स – II (Pharmaceutics – II)
  • फार्मास्युटिकल केमिस्ट्री – II (Pharmaceutical Chemistry – II)
  • औषध विज्ञान और विष विज्ञान (Pharmacology & Toxicology)
  • फार्मास्युटिकल न्यायशास्त्र (Pharmaceutical Jurisprudence)
  • दवा की दुकान और व्यवसाय प्रबंधन (Drug Store and Business Management)
  • हॉस्पिटल क्लीनिकल ​​फार्मेसी (Hospital Clinical Pharmacy)

फार्मेसी के प्रकार –Types Of Pharmacies 

फार्मेसी के अंतर्गत भी अलग अलग डिपार्टमेंट से संबंधित फार्मेसी को Include किया जाता है! आप चाहे कोई भी एक फार्मेसी में As a Pharmacist कार्य कर सकते है! आइये जान लेते है फार्मेसी के प्रकार types of Pharmacies जो निम्न है:

  • अस्पताल फार्मेसी (Hospital Pharmacy)
  • खुदरा फार्मेसी (Retail Pharmacy)
  • क्लिनिक फार्मेसी (Clinic Pharmacy)
  • घरेलू देखभाल फार्मेसी (Home Care Pharmacy)
  • कंपाउंडिंग फार्मेसी (Compounding Pharmacy)
  • मेल-ऑर्डर फ़ार्मेसी (Mail-order Pharmacy)
  • दीर्घकालिक देखभाल फ़ार्मेसी (Long – Term Care Pharmacy)

फार्मेसी कोर्स करने के बाद क्या करे – Career Option After Pharmacy

Pharmacy जो की पॉलीटेक्निक का ही एक भाग है Course करने के बाद आप पास बहुत सारे विकल्प रहते है! देखा जाये तो फार्मेसी के बाद करियर को मेडिकल के क्षेत्र में बेहतरीन बना सकते है!

यदि आप चाहे तो फार्मेसी के बाद बी फार्मा Bachelor of pharmacy कर सकते है जो की एक डिग्री है! इससे आप मेडिकल के फील्ड में Deep Knowledge प्राप्त कर सकते है साथ ही एक हाई लेवल इनकम पा सकते है!

मेडिकल के क्षेत्र में एक डिप्लोमेटिक व्यक्ति दूर दराज के गावो में अपने क्लिनिक के माध्यम से सेवा प्रदान कर सकते है!

फार्मेसी करने के बाद नौकरीJob Opportunities After Pharmacy

यह Diploma Course करने के बाद आप एक से अधिक फील्ड में जॉब करने का मौका पा सकते है! Government और private हॉस्पिटल में नौकरी कर सकते है! आइये जान लेते है आप मेडिकल के क्षेत्र में फार्मेसी करने के बाद कौन कौन से पदों में नौकरी कर सकते है:

  • फार्मेसिस्ट (Pharmacist)
  • ड्रग इंस्पेक्टर (Drug Inspector)
  • अस्पताल फार्मासिस्ट (Hospital Pharmacist)
  • सामुदायिक फार्मासिस्ट (Cmmunity Pharmacist)
  • वैज्ञानिक अधिकारी (Scientific Officer)
  • होम स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता (Home Health Care Provider)

फार्मेसी कोर्स करने के फायदे – Benefits of Pharmacy Course  

फार्मेसी मेडिकल के क्षेत्र में एक Respected Profession माना जाता है! इससे आप अपने करियर को बेहतरीन बना सकते है! Government और Private हॉस्पिटल में नौकरी कर सकते है। फार्मेसी कोर्स करने के फायदे इस प्रकार है:

  1. Pharmacy Course करने के बाद Candidates को PCI के अंतर्गत As a Pharmacist रजिस्ट्रेट कराया जाता है!
  2. फार्मेसी करने के बाद आप कैमिस्ट के तौर पर किसी भी सरकारी और निजी संस्थानों में कार्य सकते है!
  3. अपना क्लिनिक open कर सकते है जिससे आप लोगो तक हेल्थ केयर की सर्विस पहुंचा सकते है!
  4. हॉस्पिटल फार्मासिस्ट के पद पर नौकरी कर सकते है। जिससे आप एक अच्छी खासी इनकम प्राप्त कर सकते है!
  5. सरकारी और प्राइवेट कॉलेजो में टीचिंग के तौर पर भी कार्य कर सकते है! मेडिकल के क्षेत्र में कई पदों में आप जॉब कर सकते है!
  6. Drug factory और कंपनी में Drug preparation, Compounding का कार्य कर सकते है!
  7. खुद का बिज़नेस शुरू कर सकते है! और मेडिकल के क्षेत्र में अपने अनुभवों को बेहतरीन तरिके से इस्तेमाल कर सकते है!
  8. आप चाहे तो छोटे गांव में होम हेल्थ केयर सर्विस की शुरुवात कर सकते है और लोगो की हेल्प कर सकते है!

फार्मासिस्ट सैलरी – Pharmacist Salary

फार्मेसी कोर्स करने के बाद आप सरकारी और प्राइवेट संस्थानों पर जॉब कर सही सैलरी प्राप्त कर सकते है! कंपनी में शुरुवात में एक फार्मासिस्ट की अनुमानित सैलरी 12 से 15 हजार तक हो सकती है! 

सैलरी में बढ़ोतरी आपके कार्य, अनुभव और कौशल  निर्भर करता है! सरकारी संस्थानों में फार्मासिस्ट अच्छा खासा पैसा कमा सकते है!

भारत में टॉप फार्मेसी कॉलेज – Top Pharmacy Collages in India

  • रासायनिक प्रौद्योगिकी संस्थान, मुंबई (Institute of Chemical Technology, Mumbai)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, वाराणसी (Indian Institute of Technology, Varanasi)
  • यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्युटिकल साइंस, चंडीगढ़ (University institute of pharmaceutical Science, Chandigarh)
  • बॉम्बे कॉलेज ऑफ फार्मेसी (Bombay College of Pharmacy)
  • पूना कॉलेज ऑफ फार्मेसी, पुणे (Poona College of Pharmacy, Pune)
  • महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय, रोहतक (Maharshi Dayanand University, Rohtak)
  • फार्मेसी के गवर्नमेंट कॉलेज, बैंगलोर (Government College of Pharmacy, Bangalore)
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्युटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, हैदराबाद (National Institute of Pharmaceutical Education and Research, Hyderabad)

निष्कर्ष – Conclusion

इस हिंदी पोस्ट के माध्यम से हमने फार्मेसी कोर्स क्या है? (Pharmacy Kya Hai), फार्मेसी कोर्स कैसे करें? (Pharmacy Kaise Kare) और फार्मेसी कोर्स की पूरी जानकारी (Pharmacy Course in Hindi) प्राप्त की! साथ ही हमने यह भी जाना की हम फार्मेसी कोर्स में प्रवेश कैसे ले सकते है! Pharmacy Course Fees कितनी होती है? और यह स्टूडेंट के लिए यह कोर्स कितना लाभदायक है।

उम्मीद करते है आपके लिए Pharmacy Course in Hindi पोस्ट Informative रही होगी! आप इस Post से संबंधित कोई भी Questions, Suggestion या doubts को कमेंट में जरूर बताये!

आशा करते है आपको हमारी यह हिंदी पोस्ट पसंद आयी होगी। सोशल मिडिया Facebook, WhatsApp, Instagram, Twitter पर जरूर Share करे जिससे हमे भी प्रोत्साहन मिलेगा!

हमारी यह हिंदी ब्लॉग को subscribe जरूर करें इससे आप हमारी ब्लॉग में आने वाली इस प्रकार की एजुकेशनल पोस्ट का लाभ और जानकारी प्राप्त कर पाएंगे!

हमारी पोस्ट को अपना कीमती समय देने के लिए आपका धन्यवाद!

- Advertisement -

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here