नमस्कार दोस्तों, क्या आपको पता है की वेब होस्टिंग क्या है? (Web Hosting Kya Hai) और वेब होस्टिंग के कितने प्रकार होते है? (Types of Web Hosting in Hindi). आज के इस हिंदी ब्लॉग में मै आपको वेब होस्टिंग के बारे में (Web Hosting in Hindi) बहुत महत्वपूर्ण जानकारी देने वाला हूँ!

यदि आप अपनी एक वेबसाइट बनाने की सोच रहे है तो सबसे पहले आपको एक वेब होस्टिंग खरीदनी होती है! लेकिन वेब होस्टिंग के बारे में प्रयाप्त जानकारी नहीं होने के कारण अक्सर लोग गलत वेब होस्टिंग खरीद लेते है जिस कारण वे ब्लॉगिंग से पैसे कमाने से पहले ही अपना पैसा गवा देते है!

यदि आप ब्लॉग्गिंग करते है या ब्लॉग्गिंग शुरू कर चुके है तो आप जरूर वेब होस्टिंग ले चुके होंगे! तो ऐसे में आप यह जान चुके होंगे की आपको किस तरीके की और कौन से होस्टिंग खरीदनी चाहिए थी! और अगर आप अपनी वेब होस्टिंग से खुश है तो आप जरूर वेब होस्टिंग की जानकारी रखते है!

लेकिन अगर आप अभी ब्लॉग्गिंग में नये है और वेब होस्टिंग खरीदना चाहते है तो आपके लिए यह हिंदी आर्टिकल बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होने वाला है! इसलिए इस पोस्ट को आप जरूर पूरा पढ़े!

तो चलिये बिना अधिक समय व्यतीत किये आगे बढ़ते है और जानते है की Web Hosting Kya Hai और वेब होस्टिंग के कितने प्रकार होते है? (Types of Web Hosting in Hindi).

Web Hosting in Hindi

वेब होस्टिंग क्या है – Web Hosting Kya Hai

Web Hosting Kya Hai: वेब होस्टिंग एक तरह की सेवा यानी की Service होती है! इस Service के तहत Web Hosting Company आपको अपने Datacenter में 24 घंटे कार्यरत सर्वर प्रदान करती है और इस Server में आपके Website को Host किया जाता है! Host करने का मतलब यह है की इस Server में आपके वेबसाइट के सभी जरुरी Core Files और Folders को रखा जाता है! ताकि 24 घंटे Internet पर आपकी Website Live रहे!

वेब होस्टिंग की सेवा प्रदान करने वाली कम्पनियो को Web Hosting Provider के नाम से जाना जाता है! और अभी वर्तमान में बहुत अधिक Top Web Hosting Provider कम्पनिया मौजूद है जो अपने Web Hosting Service को अलग – अलग दाम पर प्रदान करती है!

साधारण शब्दों में कहे तो, Web Hosting का तात्पर्य इंटरनेट में उपलब्ध उस Online Web Server से होता है! जहा पर हमारे वेबसाइट की कोर फाइल्स, डेटाबेस और कंटेंट जैसे की वीडियोस, इमेजेज और आर्टिकल्स एक सुव्यवस्थित तरीके से स्टोर होते है!

वेब होस्टिंग की क्या जरुरत होती है – Need of Web Hosting in Hindi

वैसे आप अपने घर के कंप्यूटर यानी की अपने खुद के लैपटॉप या Desktop Computer में अपने वेबसाइट को Host कर सकते है! लेकिन यह वेबसाइट आपके घर के नेटवर्क में ही चलेगी और दुनिया को आपकी यह वेबसाइट नहीं दिखाई देगी! इसका मतलब आपकी Website इंटरनेट पर मौजूद नहीं है!

ऐसे में यदि आप अपनी वेबसाइट को इंटरनेट पर दिखाना चाहते है! और आप चाहते है की पूरी दुनिया में कोई भी कही से भी आपके वेबसाइट को देख सके तो आपको वेब होस्टिंग की जरुरत होती है!

वेब होस्टिंग के प्रकार कितने है – Web Hosting Types in Hindi

कोई वेबसाइट छोटी तो कोई वेबसाइट बड़ी होती है! यानी की किसी वेबसाइट में कम तो किसी में बहुत अधिक ट्रैफिक होता है! इसलिए Website Owner की जरुरत अनुसार Web Hosting Provider अपने Web Hosting Services को प्रदान करने के लिए अलग अलग Service Plan तैयार करके सेवाए देते है! 

और इन Web Hosting Service Plan के अलग अलग पैसे होते है! जिसमे कुछ सस्ते तो कुछ महंगे होते है! इसलिए हमें हमेशा अपने जरुरत के अनुसार वेब होस्टिंग प्लान को चुनना और खरीदना चाहिए!

Website Owner की आवश्यकता के आधार पर ही वेब होस्टिंग सर्विस मुख्यता 4 प्रकार की होती है!

  1. Shared Web Hosting (शेयर्ड वेब होस्टिंग)
  2. Dedicated Web Hosting (डेडिकेटेड वेब होस्टिंग)
  3. VPS (Virtual Private Server) (वीपीएस वेब होस्टिंग)
  4. Cloud Web Hosting (क्लाउड वेब होस्टिंग)

1. Shared Web Hosting (शेयर्ड वेब होस्टिंग)

Shared Web Hosting Kya Hai: जैसा की Shared Web Hosting के नाम से ही पता चल रहा है की इस Web Hosting में एक से अधिक वेबसाइट को एक साथ Host किया जाता है! शेयर्ड वेब होस्टिंग में एक सर्वर के Disk Space और Configuration जैसे की CPU, RAM और Processor इत्यादि को बहुत से उपभोक्ताओं में विभाजित कर दिया जाता है! ताकि एक Server में एक से अधिक उपभोक्ता अपनी अपनी Website को आसानी से चला सके!

Shared Web Hosting काफी सस्ते होते है! इसलिए ऐसे नए Bloggers जो पहली बार Website बना रहे है! और जिनका बजट ज्यादा नहीं है, के लिए यह Web Hosting का सबसे बेहतरीन विकल्प है!

Shared Web Hosting Kya Hai

Shared Web Hosting के फायदे

अभी तक आप अच्छे से समझ गए होंगे की शेयर्ड वेब होस्टिंग क्या है! तो चलिए अब इस होस्टिंग टाइप के कुछ फायदे जान लेते है!

👉 शेयर्ड वेब होस्टिंग अन्य होस्टिंग की तुलना में काफी सस्ते होते है!

👉 शेयर्ड वेब होस्टिंग एक नए ब्लॉगर के लिए वेब होस्टिंग का सबसे अच्छा विकल्प होता है!

👉 आप शेयर्ड वेब होस्टिंग में एक से अधिक वेबसाइट होस्ट कर सकते है!

👉 शेयर्ड वेब होस्टिंग इस्तेमाल करने में बहुत आसान होते है!

Shared Web Hosting के नुकसान

👉 बड़ी वेबसाइट या अधिक ट्रैफिक वाली वेबसाइट के लिए शेयर्ड होस्टिंग सही नही होते है!

👉 अचानक ट्रैफिक बड़ जाने से वेबसाइट के क्रैश होने का खतरा बना रहता है! लेकिन नए ब्लॉगर और महीने के 30 से 50 हजार ट्रैफिक के लिए यह सबसे बेहतरीन Web Hosting होता है!

2. Dedicated Web Hosting (डेडिकेटेड वेब होस्टिंग)

Dedicated Web Hosting Kya Hai: डेडिकेटेड वेब होस्टिंग में एक सर्वर पर केवल एक वेबसाइट को होस्ट किया जाता है! यानी की एक सर्वर का पूरा स्पेस और कॉन्फ़िगरेशन (CPU, RAM और Processor इत्यादि). केवल एक वेबसाइट के लिए उपलभ्द कराया जाता है! डेडिकेटेड वेब होस्टिंग में सर्वर बहुत तेज होता है और इसलिए  वेबसाइट की स्पीड बहुत अधिक हो जाती है!

यदि आपकी कोई बड़ी वेबसाइट है जिसमे हजारो या लाखो में ट्रैफिक आता है! तो आपकी वेबसाइट के लिए Dedicated Web Hosting सबसे बेहतरीन विकल्प है! इस Web Hosting में किसी अन्य उपभोक्ता से कोई मतलब नहीं होता है! और ना ही उनका कोई हस्तक्षेप होता है!

Dedicated web hosting kya hai

अगर आसान भाषा में समझे तो Dedicated Web Hosting एक ऐसे प्राइवेट गाड़ी की तरह है जिसे अपने केवल अपने लिए बुक किया है! जिसमे कोई दूसरा व्यक्ति नहीं बैठ सकता है!

Dedicated Web Hosting के फायदे

👉 Dedicated Hosting में एक सर्वर पर केवल आपकी वेबसाइट होस्ट होती है!

👉 डेडिकेटेड वेब होस्टिंग में आपको बहुत अधिक परफॉरमेंस मिलती है!

👉 सिक्योरिटी की बात करे तो डेडिकेटेड होस्टिंग सबसे अधिक सुरक्षित होते है!

👉 आप डेडिकेटेड वेब होस्टिंग में सारे रिसोर्सेज को केवल अपने वेबसाइट के लिए उपयोग कर सकते है!

Dedicated Web Hosting के नुकसान

👉 डेडिकेटेड वेब होस्टिंग थोड़े महंगे होते है!

3. VPS Web Hosting (वीपीएस वेब होस्टिंग)

VPS Web Hosting Kya Hai: वीपीएस का पूरा नाम Virtual Private Server होता है! इसे वर्चुअल पर्सनल सर्वर भी कहते है! VPS Web Hosting, शेयर्ड और डेडिकेटेड वेब होस्टिंग को मिलकर बनाया जाता है! 

जैसा की शेयर्ड वेब होस्टिंग में एक सर्वर में कई वेबसाइट होस्ट की जाती है और डेडिकेटेड वेब होस्टिंग में एक सर्वर पर केवल एक वेबसाइट होस्ट की जाती है! 

ऐसे ही VPS वेब होस्टिंग में एक फिजिकल सर्वर के रेसौर्सेस जैसे की Storage, CPU और RAM इत्यादि को Virtualization तकनीक का उपयोग करके एक से अधिक वर्चुअल Machine बनाये जाते है! और ये अलग अलग वर्चुअल मशीन अलग अलग सर्वर की तरह कार्य करते है! इसके बाद हर एक वर्चुअल मशीन में एक वेबसाइट को होस्ट किया जाता है! 

VPS Web Hosting in Hindi

VPS Hosting के फायदे

👉 Complete Control

VPS वेब होस्टिंग में आपके पास आपके वर्चुअल मशीन का पूरा कंट्रोल होता है! यानी की आप अपने हिसाब से अपने वर्चुअल मशीन को कॉन्फ़िगरुरे कर सकते है!

👉 Scalability  

VPS वेब होस्टिंग में Scalability का फायदा आपको मिलता है! मतलब की आप अपने वर्चुअल मशीन के रिसोर्स को आवश्यकता के अनुसार Scale यानी की बड़ा सकते है! 

चलिये इसे एक उदाहरण से समझते है! मान लीजिये शुरुआत में आपने अपने नई वेबसाइट को होस्ट करने के लिए 2/4 का यानी की 2 CPU और 4 RAM के साथ VPS वेब होस्टिंग ख़रीदा! 

अब कुछ समय बाद आपकी वेबसाइट बहुत अच्छा परफॉर्म करने लग गयी और विज़िटर्स की संख्या भी बढ़ने लग गयी है! तो ऐसे में आप VPS होस्टिंग के Scalability फीचर का उपयोग करके अपने रिसोर्स (CPU और RAM) को बिना वेबसाइट बंद करे बड़ा सकते है!

4. Cloud Web Hosting (क्लाउड वेब होस्टिंग)

Cloud Web Hosting Kya Hai: क्लाउड वेब होस्टिंग में आपकी वेबसाइट किसी एक सर्वर (शेयर्ड या डेडिकेटेड) में होस्ट ना होकर अलग अलग Servers में होस्ट की जाती है! यानी की Cloud में Host की जाती है!

Cloud Web Hosting में बहुत सारे Servers को आपस में मिलकर Cluster Server बनाया जाता है और इस Cluster Server पर आपकी Website को Host किया जाता है! 

आप यह समझ सकते है की Cloud Web Hosting में Cluster के पीछे लगे सभी Servers आपके वेबसाइट के Traffic और Load को Manage तथा Uptime को अधिक रखने के लिए काम करते है! और Cluster में किसी एक सर्वर के ख़राब हो जाने पर भी वेबसाइट को कोई फक्र नहीं पड़ता है!

Cloud Web Hosting Kya Hai in Hindi

Cloud Web Hosting में क्लाउड कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है! हमने अपने पिछले लेख में क्लाउड कंप्यूटिंग क्या है और यह कैसे काम करता है? के बारे में अच्छे से बताया है!

Cloud Web Hosting के फायदे

👉 Better Performance (बेहतर प्रदर्शन)

क्लाउड वेब होस्टिंग में क्लस्टर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके एक से अधिक सर्वर में आपकी वेबसाइट होस्ट की जाती है! जिससे जाहिर सी बात है की आपके वेबसाइट के लोड और ट्रैफिक को बहुत अच्छे से मैनेज किया जाता है! और Overall आपके वेबसाइट की Performance बहुत ही अच्छी हो जाती है!

👉 Scalability

आप क्लाउड वेब होस्टिंग में अपने वेबसाइट के रिसोर्सेस जैसे की CPU, RAM और Storage को स्केल यानी की बड़ा सकते है!

👉 Disaster Recovery

क्लाउड वेब होस्टिंग में Multi-Server Hosting Architecture का उपयोग करने से वेबसाइट का Disaster recovery प्रोसेस बहुत आसान हो जाता है!

Conclusion [निष्कर्ष]

आज के इस लेख में हमने वेब होस्टिंग क्या है? (Web Hosting Kya Hai) और वेब होस्टिंग के कितने प्रकार होते है? (Types of Web Hosting in Hindi) जाना! 

उम्मीद है आपको इस हिंदी आर्टिकल से वेब होस्टिंग के बारे (Web Hosting in Hindi) में बहुत कुछ जानने को मिला होगा! साथ ही अब आप यह समझ पाएंगे की आखिर आपके वेबसाइट के लिए एक अच्छा और बेहतरीन वेब होस्टिंग कौन सा होगा!

इस हिंदी आर्टिकल को पूरा पढने के लिए आपका धन्यवाद!

सुरक्षित रहें, स्वस्थ रहें और अपनों का ख्याल रखें!

- Advertisement -

3 COMMENTS

  1. nice content aapne bahut achi knowledge provide ki hai web hosting kya hai. thanks for sharing this information….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here