क्या आप जानते हैं सिडबी क्या है? (SIDBI kya hai), सिडबी का कार्य क्या है? और सिडबी से लोन कैसे लें? इस पोस्ट में आज हम SIDBI के बारे में पूरी जानकारी, जैसे – SIDBI Full Form, सिडबी की स्थापना कब हुई? और SIDBI Bank किस तरह से लघु उद्योगों को सहायता प्रदान करता है? के बारे में बताने वाले है!

दरअसल लघु उद्योगों तक वित्तीय सहायता और ऋण प्रदान करने के लिए एक विशेष बैंक बनाया गया जिसे सिडबी बैंक का नाम दिया गया!

SIDBI का मुख्य उद्देश्य देश के उद्योगों को मजबूत आर्थिक आधार प्रदान करना है! सिडबी माइक्रो, स्माल और मध्यम उद्योगों (Micro, Small और Medium Businesses) को सहायता प्रदान करता है!

तो चलिए आगे बढ़ते हैं और सिडबी क्या है? (SIDBI kya hai), सिडबी का कार्य क्या है? SIDBI Full Form, सिडबी का शेयरधारक कौन सा बैंक है? और सिडबी से लोन कैसे लें? जानते हैं!

SIDBI

[ SIDBI क्या है – SIDBI Full Form in Hindi ]

विषय - सूची

सिडबी फुल फॉर्म

SIDBI Full Form: सिडबी का फुल फॉर्म “Small Industrial Development Bank of India” होता है! इसकी शुरुआत एक आद्योगिक बैंक के रूप में की गयी!

SIDBI Full Form in Hindi: सिडबी का हिंदी में फुल फॉर्म भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक होता है! यह क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को आद्योगिक वित्तीय निगमों के आधार पर वित्तीय ऋण प्रदान करता है!

सिडबी क्या है?

SIDBI kya hai Hindi: सिडबी एक ऐसा वित्तीय बैंक है जो MSME के अंतर्गत कार्य करने वाले उद्योगों को ऋण प्रदान करता है! साथ में अन्य वित्तीय सुविधा भी मुहैया कराता है!

सिडबी की स्थापना 2 अप्रैल 1990 को संसद में एक अधिनियम के तहत सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (MSME) क्षेत्र के संवर्धन वित्तपोषण और विकास के लिए भारतीय औद्योगिक विकास बैंक (IDBI Bank) के सहायक बैंक के रूप में किया गया!

इस Bank की शुरुआत, इसमें कार्य कर रही संस्थाओं के कार्यों का समन्वय और अवलोकन हेतु एक विशेष वित्तीय संस्था के रूप में हुई!

SIDBI सेक्शन Industrial Development Bank of India एक्ट 1989 के अंतर्गत आता है!

सिडबी का इतिहास – SIDBI History in Hindi

सिडबी की जब स्थापना हुई तब सिडबी Industrial Development Bank of India की सब्सिडरी के रूप में कार्य करती थी!

सिडबी का head office उत्तर प्रदेश के लखनऊ में है! वर्तमान में सिडबी के चेयरमैन 1995 बैच के IAS Officer मोहम्मद मुस्तफा हैं! 

सिडबी के व्यवसाय का कार्यक्षेत्र MSME (Micro Small & Medium Enterprises) है! जिसे भारत की अर्थव्यवस्था का एक मजबूत स्तम्भ भी माना जाता है! SIDBI एमएसएमई के लिए बहुत लम्बे समय से कार्य कर रहा है!

सिडबी के प्रयासों से MSME को बहुत आर्थिक फायदे भी हुए हैं! SIDBI बहुत सालों से समतामूलक समाज के निर्माण के लिए अपनी सेवा देता आ रहा है! 

इन्हें भी पढ़ें

सिडबी का शेयरधारक कौन सा बैंक है – SIDBI ka ShareHolder Bank konsa Hai

सिडबी का सबसे बड़ा व्यक्तिगत शेयरधारक SBI (भारतीय स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया) है! भारतीय स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया के पास SIDBI के 16 प्रतिशत शेयर मौजूद हैं!

इसमें भारत सरकार और जीवन बिमा निगम भी शामिल हैं! लन्दन की Rating Company “दि बैंकिंग” की रेटिंग के अनुसार सिडबी विश्व में 30 वें स्थान पर है!

सिडबी द्वारा स्थापित संस्थाए कौन सी है – Institutions Established by SIDBI

सिडबी द्वारा पांच प्रकार की अलग अलग संस्था का निमार्ण किया गया जो इस प्रकार निम्न है!

1.सिडबी वेंचर कैपिटल लिमिटेड (SIDBI Venchear Capital limited)

यह एमएसएमई को उद्यम पूंजी सहायता प्रदान करती है!

2.सूक्ष्म इकाई विकास और पुनर्वित्त एजेंसी (Micro Units Development and Refinance Agency)

देश में वित्त वंचित उद्योगों का संरक्षण करना!

3.रिसीवेबल एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (Receivable Exchange of India Limited)

एमएसएमई में प्राप्ति शीघ्र उगाही हेतु संस्था!

4.स्मेरा रेटिंग्स लिमिटेड (Smera Ratings Limited)

 यह एमएसएमई की क्रेडिट रेटिंग के लिए बनाई गयी एक संस्था के रूप में चलती है!

5.इंडिया एमएसएमई टेक्नोलॉजी सर्विसेज लिमिटेड (India MSME Technology Services Limited)

प्रद्योगिकी सलाहकार एंव परामर्श परामर्श हेतु सेवाओं के लिए!

SIDBI एमएसएमई के विकास से जुडी सरकार की हर पहलुओं का समर्थन करता है जैसे मेक इन इण्डिया, स्टार्ट अप इण्डिया!

सिडबी का कार्य क्या है – SIDBI Ka Kaam Kya Hai

सिडबी Credit Plus Modal के तहत काम करती है! यह आद्योगिक विकास के लिए ऋण प्रदान करती है! इस के साथ साथ SIDBI एमएसएमई को परामर्श और अन्य पारस्परिक सुविधा, वित्तीय सुविधा भी सिडबी प्रदान करती है! 

  • SIDBI का मुख्य कार्य MSME क्षेत्र में धन की आपूर्ति को बढ़ाना और समर्थन के लिए एक सुनियोजित कार्यक्रम संचालित करना हैं!
  • बैंकों, लघु वित्तीय बैंकों और गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थाओं को सावधि ऋण प्रदान करना!
  • औद्योगिक क्षेत्रों की दीर्घकालीन वित्त पोषण अवश्यकताओं को पूरा करना! 
  • Micro Finance Insinuation के माध्यम से Micro Finance प्रदान करने में सहायता करना!
  • नव निर्मित उद्योगों को ऋण व अल्पकालिक ऋण  प्रदान करना!

सिडबी के कारोबार का दायरा कहाँ तक है – SIBDI Ka Karobar

सिडबी के कारोबार में अनेकों लघु उद्योग की इकाइयां सम्मिलित हैं! लघु एंव मध्यम उद्योग जिनकी Value 10 करोड़ से अधिक न हो!

देश भर में ऐसी इकाइयां करीब 60 लाख हैं और इनमें 3 करोड़ लोगों को रोजगार मिला है!

SIDBI के अंतर्गत भारत में करीब 38 प्रतिशत निर्यात और करीब 40 प्रतिशत विनिर्माण का काम होता है!

सिडबी देश भर में पर्यटन स्वास्थ सेवाओं परिवहन एंव सामाजिक कार्यों को समय समय पर अनेकों रोजगार उपलब्ध कराती है!

इन्हें भी पढ़ें

सिडबी से लोन कैसे लें?

SIDBI se Loan Kaise Le: जैसे की मैंने आपको बताया SIDBI एमएसएमई (MSME) उद्योगों को स्थापित करने व विनिर्माण के लिए वित्तीय व्यवस्था करता है! तो इसी से जाहिर हो जाता है कि Online ऋण आवेदन के लिए आपको एमएसएमई (MSME) में पहले रजिस्ट्रेशन करना होगा!

यदि आप MSME में आवेदन करना चाहते है तो MSME क्या है – MSME में ऑनलाइन Registration कैसे करें पोस्ट पढ़ सकते है!

चलिये अब SIDBI में Online लोन आवेदन के लिए आवेदन कैसे करें और कौन से Documents की जरूरत आपको होती है! इसके लिए कुछ Steps जानते है

  1. MSME के द्वारा बताये गए सारे Documents को तैयार कर लें जिसमें रेटिंग एजेंसी संबधित जानकारियां भी हो!
  2. एमएसएमई में रजिस्ट्रेशन करें और रजिस्ट्रेशन संख्या मिलने के बाद ऋण के लिए आवेदन करें!
  3. नजदीकी Bank में सम्पर्क करें और एमएसएमई की Official Website पर विजिट करें!
  4. आधार कार्ड, पैन कार्ड, पहचान पत्र और 9 महीने का Bank Account statement!
  5. घर या व्यवसाय की जगह में किसी एक का मालिकाना हक़ पत्र!
  6. SIDBI से जुडी अनेक जानकारी और Online ऋण आवेदन के लिए आप सिडबी की Online Website पर भी Visit कर सकते हैं!

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल  – FAQ (Frequently asked Questions)

Q 1. सिडबी का मुख्य कार्य क्या है?

Ans. सिडबी का मुख्य उद्देश्य उद्योगों का पुनर्वित्त और अल्पकालिक ऋण प्रदान है! सिडबी सूक्ष्म, लघु, एंव मध्यम उद्योग के प्रमुख वित्तीय कार्य करता है!

Q 2. सिडबी की फुल फॉर्म क्या है?

Ans. सिडबी की फुल फॉर्म Small Industrial Development Bank of India है! 

Q 3. सिडबी बैंक किस कंपनी की सहायक कंपनी है?

Ans. सिडबी बैंक IDBI (Indistrial Dovelopment Bank of India) की पूर्ण सहायक कंपनी है! जिसे संसद के विशेष अधिनियम 1998 के तहत स्थापित किया गया था! 

Q 4. सिडबी की स्थापना कब हुई थी?

Ans. सिडबी की स्थापना 2 अप्रैल 1990 को हुई!

Q 6. वर्तमान में सिडबी के चेयरमैन कौन है?

वर्तमान में सिडबी के चेयरमैन सीनियर आईएएस अफसर मुहम्मद मुस्तफा है! मुहम्मद मुस्तफा को अगस्त 3 2017 में भारत सरकार द्वारा सिडबी का नया Chairman and Managing Director नियुक्त किया गया!

Q 7. सिडबी और नाबार्ड बैंक क्या हैं?

Ans: SIDBI Bank का हिंदी में अर्थ लघु उद्योग विकास बैंक ऑफ इंडिया होता है! इसे लघु उद्योगों तक वित्तीय सहायता और ऋण प्रदान करने के लिए एक विशेष बैंक के रूप में बनाया गया

जबकि Nabard Bank नाबार्ड का हिंदी में अर्थ राष्ट्रीय कृषि एंव ग्रामीण विकास बैंक है! इसका मुख्य कार्य क्षेत्र ग्रामीण और कृषि विकास होता है!

निष्कर्षConclusion

आज के इस हिंदी आर्टिकल में हमने सिडबी क्या है? (SIDBI kya hai in Hindi) यह किस क्षेत्र में कार्य करती है! सिडबी का फुल फॉर्म क्या होता है? (SIDBI Full Form in Banking) सिडबी का शेयरधारक कौन सा बैंक है! कई वर्षों से SIDBI हमारे लघु सूक्ष्म और मध्यम, उद्योगों को अपनी सहायता प्रदान करता आ रहा है!

SIDBI Bank हर तरह के व्यवसाय को मदद करती है किन्तु इसके लिए जरूरी है आपके पास एमएसएमई रजिस्ट्रेशन संख्या जरूर होनी चाहिए!  

उम्मीद है आपको SIDBI Full Form आर्टिकल से SIDBI के बारे में बहुत कुछ जानने को मिला होगा! अगर आपके पास इस पोस्ट से संबधित किसी प्रकार का कोई प्रश्न या सुझाव हो तो हमें कमेंट सेक्शन में कमेंट करके जरूर बताये! और पोस्ट को सोशल मिडिया (WhatsApp, Facebook, Instagram, twitter Etc.) पर जरूर शेयर कीजिये!

 इस लेख को पूरा पढ़ने हेतु आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here