3/5 - (2 votes)

NSE Full Form in Hindi, What is NSE in Hindi, Stock Market में NSE क्या होता है! NSE भारत का सबसे बड़ा वित्तीय बाजार है!

दरअसल एनएसई की स्थापना भारतीय शेयर बाजार में पारदर्शिता लाने के लिए वर्ष 1992 में की गयी थी! यदि आप स्टॉक मार्किट में निवेश करना चाहते है तो आपको NSE Kya Hai और NSE हमारे लिए क्यों फायदेमंद है जानना बहुत आवश्यक है! इसलिये आज हम इस हिंदी आर्टिकल में एनएसई की पूरी जानकारी आप तक साझा कर रहे है!

अधिकतर लोग Share Market में निवेश करना चाहते है और किसी ब्रोकर के माध्यम से निवेश भी कर लेते हैं! लेकिन उनके मन में शेयर मार्किट को लेकर बहुत भय रहता है! जिस कारण उन्हें उनके स्टॉक ब्रोकर प्रयाप्त जानकारी प्रदान नहीं करते है! 

ऐसे में NSE शेयर मार्किट में हर उस व्यक्ति को Invest करने की अनुमति देता है जो योग्य, अनुभवी और न्यूनतम वित्तीय आवश्यकताओ की पूर्ति करता हो! इसके साथ ही NSE भारत में पूरी तरह से Automated Electronic Treading प्रदान करने वाला पहला शेयर बाजार है!

NSE kya hota hai
NSE kya hota hai

इससे पहले ब्लॉग में हमने BSE (Bombay Stock Exchange) के बारे में बताया था! और जाना था की BSE क्या होता है!

आज इस ब्लॉग के माध्यम से हम जानेंगे की शेयर बाजार में NSE क्या है - NSE kya hai साथ ही साथ हम जानेंगे NSE का Benchmark क्या है Benchmark of NSE जानेंगे एनएसई का फुल फॉर्म क्या है Full Form of NSE in Hindi भारतीय पूंजी बाजारों में NSE के उपयोग को भी जानेंगे!

विषय - सूची

NSE का पूरा नाम | Full Form of NSE

Full Form of NSE: NSE का Full Form National Stock Exchange of India Limited होता हैं! इसमें कई प्रकार के Securities को सूचीबद्ध किया जाता है!

फुल मीनिंग ऑफ एनएसई इन हिंदी | NSE Full Form in Hindi

NSE Full Form in Hindi: NSE का Hindi में Full Form नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड है! यह भारत में Modern and Electronic Stock Treading System प्रदान करने वाला पहला स्टॉक बाजा है!

[ NSE kya hai – What is NSE in Hindi ]

Founded1992
TypeStock Exchange
LocationMumbai, India
Owned ByNational Stock Exchange of India Limited
ChairmanGirish Chandra Chatruvedi
CEO & MDAshish kumar Chauhan
CurrencyIndian Rupee
Market CapUS$3.4 trillion (August 2021)
IndicesNIFTY 50
Websitewww.nseindia.com
Source: wikipedia

एनएसई क्या है (NSE kya hai in Hindi)

NSE (National Stock Echange) भारत का सबसे बड़ा financial market है! भारतीय शेयर बाजार में पारदर्शिता (Transparency) लाने के लिए सनं 1992 में NSE को Introduce किया गया!

BSE की तरह NSE की स्थापना भी मुंबई में ही हुई! NSE आधुनिक तकनीकी सुविधाओं से लैस Automated Electronic Stock Exchange है!

दरअसल 1992 Security Scam (हर्षद मेहता स्कैम) में हुई बाजार में हेर फेर के पर्दाफ़ाश के बाद NSE को स्थापित किया गया जिसका मुख्य उद्देश्य प्रत्येक Investor को Investment के लिए Equal Rights and Access देना था!

भारत की आर्थिक पूँजी में जितना योगदान BSE का है। उससे कई ज्यादा NSE का भी है! भारत की वैश्विक पूँजीवाद के विस्तार में अगर BSE ने खून देने का काम किया है! वहीं NSE ने नई जान देने का काम किया है!

NSE में 2000 से ज्यादा कंपनियां सूचित हैं। कोई भी कंपनी NSE से सीधे Treading नहीं कर सकती है! कंपनी को सबसे पहले Brokers के माध्यम से खुद को SEBI में Registration करना होता है!

एनएसई का मार्केट कैपिटलाइजेशन | NSE Market Capitalization Value in Hindi

NSE का Market capitalization Value: 1.80 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर यानि 110 लाख करोड़ से भी ज्यादा का है! 2018 में यह मूल्य 1.41 ट्रिलियन यानि 90 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर था!

SEBIके आने के बाद Stock Exchange में काफी बदलाव होने लगे! NSE में सब कुछ ऑनलाइन होने लगा! ब्रोकर्स  की ट्रेडिंग भी बढ़ने लगी!

इससे पहले शेयर दस्तावेजों के माध्यम से बेचे और खरीदे जाते थे! शेयर के दस्तावेज डाक के माध्यम से भेजे जाते थे, जिसमें लगभग 6 महीने तक का समय लग जाता था!

एनएसई के बाद नया क्या हुआ?

गौरतलब है कि NSE की शुरूआत एक प्राइवेट लिस्टेड कंपनी के तौर पर शुरू की गयी थी!

1992 में शेयर बाजार में धोखाधड़ी जैसे मामले सामने आने लगे! इसलिये भारत सरकार ने फिर SEBI (SECURITIES AND EXCHANGE BOARD OF INDIA) की नींव रखी!

SEBI को शेयर बाजार पर निगरानी के लिए बनाया गया! अमेरिका के शेयर बाजारों के नियमों को अपनाया गया!

लेकिन BSE के निवेशकों को यह रास नहीं आया! फिर उसके बाद्‌ NSE Stock Exchange बनाया गया! इसमें सारा काम Computer से होने लगा! दस्तावेज का काम खत्म कर दिया गया! धीरे-धीरे Trading ज्यादा बढ़ने लगी!

लेकिन फिर भी BSE ने SEBI को नहीं अपनाया! आखिरकार 1995 में BSE को अपनी कंपनियां SEBI में लिस्टेड करवानी ही पड़ी!

एनएसई का मुख्य उद्देश्य | Goal of NSE in Hindi

NSE का मुख्य उद्देश्य भारत में शेयर की Trading को बढ़ावा देना है। जितना ज्यादा कम्पनियों को ट्रेडिंग बढ़ेगी! उतना ज्यादा देश में रोजगार खुलने के आसार भी बढ़ेंगे। और Income earning के स्त्रोत खुलेंगे!

हालाँकि आज के समय में BSE से ज्यादा NSE में ट्रेडिंग अधिक हो रही है! क्योंकि इसमें निवेश ज्यादातर Trading Account के जरिये होता है!

एनएसई का बेंचमार्क क्या है?| Benchmark of NSE in Hindi

एनएसई (National Stock Exchange) का बेंचमार्क Nifty है और यह एक तरह का सूचकांक है! NSE में Nifty की शुरुआत 1996 से हुई थी!

इसमें NSE की 50 शीर्ष कम्पनियों को शामिल किया जाता है! इसलिये इसको Nifty -50 भी कहा जाता है! Nifty -50 लिस्टेड 50 प्रमुख शेयरों एक सूचकांक है!

एनएसई में निवेश करना महत्वपूर्ण क्यों है?

दोस्तों NSE में निवेश करना BSE से ज्यादा आसान है। यहाँ पर कोई भी निवेश पेपर वर्क में नहीं होता है! NSE शेयर बाजार में SEBI (SECURITIES AND EXCHANGE BOARD OF INDIA) द्वारा मान्यता प्राप्त Stack Exchange बाजार है!

एनएसई की ग्लोबल रैंक 11वीं है। साथ ही Stock Market में इसका प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा है!

आज के समय में NSE में निवेश करना इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें बिना Paper Based Work के काम होता है! साथ ही शेयरों का डिजिटलिजेशन के रूप संग्रह भी होता है!

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के कार्य

NSE (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) इंडिया का प्राथमिक कार्य वित्तीय उत्पादों में व्यापार के लिए एक पारदर्शी, कुशल और उचित बाज़ार प्रदान करना है। इसके साथ ही चलिये एनएसई इंडिया के कुछ प्रमुख कार्य और जान लेते हैं!

1. व्यापार की सुविधा (Facilitating trading)

एनएसई इक्विटी, डेरिवेटिव और ऋण प्रतिभूतियों सहित विभिन्न वित्तीय उत्पादों की खरीद और बिक्री के लिए एक मंच प्रदान करता है। यह व्यापार प्रक्रिया में पारदर्शिता और दक्षता सुनिश्चित करता है।

2. समाशोधन और निपटान (Clearing and settlement)

एनएसई अपने मंच पर निष्पादित व्यापारों के लिए समाशोधन और निपटान सेवाएं भी प्रदान करता है। यह सुनिश्चित करता है कि सभी ट्रेडों का समय पर और सुरक्षित तरीके से निपटारा किया जाता है।

3. मार्केट डेटा (Market Data)

एनएसई रीयल-टाइम मार्केट डेटा प्रदान करता है, जिसमें स्टॉक की कीमतों, इंडेक्स और ट्रेडिंग वॉल्यूम की जानकारी शामिल होती है। इस डेटा का उपयोग निवेशकों, व्यापारियों और विश्लेषकों द्वारा सूचित निर्णय लेने के लिए किया जाता है।

4. शिक्षा और प्रशिक्षण (Education and training)

एनएसई निवेशकों, व्यापारियों और अन्य बाजार सहभागियों के लिए विभिन्न शैक्षिक और प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रदान करता है। यह वित्तीय उत्पादों और बाजार की गतिशीलता के बारे में जागरूकता और समझ बढ़ाने में मदद करता है।

कुल मिलाकर, एनएसई इंडिया भारतीय वित्तीय बाजारों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और इसने भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

FAQs

एनएसई का मुख्यालय कहाँ है?

NSE का मुख्यालय मुंबई में है! यह भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है! यहीं से पेपर में Shares को बेचने और खरीदने का काम खत्म हुआ और Online Trading शुरू हुई! 

NSE का फुल फॉर्म क्या है?

NSE का फुल फॉर्म नेशनल स्टॉक एक्सचेंज है जो भारत सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है।

एनएसई का चेयरमैन कौन हैं?

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के (chairperson) अध्यक्ष Girish Chandra Chaturvedi और NSE के Managing Director और Chief Executive Officer यानी की सीईओ Ashish kumar Chauhan हैं!

एनएसई का Capital Market Value कितना है?

NSE का बाजार वेल्यू लगभग 2.87 trillion US Dollar है! यह विश्व का 11वां सबसे बड़ा Stock Exchange Market है! हालांकि कैपिटल मार्केट वैल्यू अर्थात मार्केट कैपिटलाइजेशन प्रतिदिन बदलते रहता है और यह nse में लिस्टेड कंपनियों के स्टॉक price पर निर्भर रहता हैं!

एनएसई की स्थापना कब हुई?

NSE की स्थापना 1992 में हुई! तब BSE (Bombay Stock Exchange) शेयर बाजार पर धोखाधड़ी के आरोप लगने लगे थे! 

NSE का सूचकांक क्या है?

एनएसई का सूचकांक Nifty -50 है! इसको Nifty -50 इसलिए कहते हैं क्योंकि यह लिस्टेड 50 प्रमुख शेयरों एक सूचकांक है! 

क्या मैं सीधे एनएसई में सीधे Invest कर सकता हूँ?

कोई भी निवेशक सीधे शेयरों को किसी भी एक्सचेंज से खरीद या बेच नहीं सकता है! इसके लिए निवेशक को Stock Broker से सम्पर्क करना होगा, इनकों Trading Member कहा जाता है! एनएसई में किसी भी Investor की तरफ से Stock Brokers Trading करते हैं! 

एनएसई में अभी कितनी कंपनी हैं?

एनएसई में अभी 1600 से अधिक कम्पनी लिस्टेड हैं किंतु एनएसई में कंपनियों की संख्या निर्धारित नहीं है, क्योंकि यह संख्या निरंतर बदलती है। जब नए कंपनियों की स्थापना होती रहती है जैसे कि कुछ कंपनियों को बंद कर दिया जाता है।

इन्हें भी पढ़ें –

निष्कर्ष | NSE क्या हैं?

आज के इस हिंदी ब्लॉग के इस पोस्ट में हमने जाना NSE क्या है NSE kya hai in Hindi एनएसई का Full Form क्या है NSE full form in Hindi हमने जाना एनएसई हमारे लिए क्यों महत्वपूर्ण है! साथ ही यह जाना भी Stock Market में NSE का प्रदर्शन कैसा रहा है।

आशा करता हूँ आपको हमारे इस ब्लॉग के माध्यम कई जानकारियां प्राप्त हुई होंगी! आप हमारे इस पोस्ट को अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ शेयर अवश्य करें! ताकि उन्हें भी ऐसी जानकरियां प्राप्त हो सके।

हमारे इस ब्लॉग को आप Subscribe भी करें! हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है ताकि भविष्य में हम इस तरह की अनेकों जानकारियां लाते रहें!

- Advertisement -

1 COMMENT

  1. […] किया जाता है यह कंपनी 1995 में BSE व NSE में लिस्ट हुई इस कंपनी में लगभग 40 […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Captcha verification failed!
CAPTCHA user score failed. Please contact us!