क्या आपको पता है की डोर स्टेप बैंकिंग सर्विस क्या है? (Doorstep Banking Kya Hai) डोर स्टेप बैंकिंग सेवा में ग्राहक को बैंक द्वारा घर पर ही बैंकिंग सेवाएं प्रदान करायी जाती है! आज के इस ब्लॉग में हम डोर स्टेप बैंकिंग क्या है? डोर स्टेप बैंकिंग की शुरुआत कब हुई थी? और डोर स्टेप बैंकिंग के क्या फ़ायदे है? के बारे में विस्तार से चर्चा करने वाले है!

ज्यादा उम्र के बुजुर्गों, दिव्यांगों और गंभीर रूप से बीमार लोगों के लिए डोरस्टेप बैंकिंग सेवा किसी वरदान से कम नहीं है! इस बैंकिंग सेवा में बैंक से कैश जमा करने, कैश निकालने या फिर नया चेकबुक बनाने इत्यादि की सुविधाएं प्रदान की जाती है!

Doorstep banking in Hindi

डोर स्टेप बैंकिंग सर्विस क्या है – Doorstep Banking Kya Hai

Doorstep Banking Kya Hai: डोर स्टेप बैंकिंग एक ऐसी बैंक सेवा हैं जिसके माध्यम से ग्राहक घर से ही अपने बैंक खाते में पैसा जमा करना, पैसे निकलना, चैक जमा या डिमांड ड्राफ्ट बनाने, इत्यादि बैंक से बहुत से जुड़े सभी काम कर सकते हैं! आपको बैंक साखा जाने की कोई आवश्यकता नहीं होती है!  

बैंक के तरफ से सर्विस प्रोवाइडर के माध्यम से आपको घर पर ही यह बैंकिंग सेवा उपलब्ध कराई जाती है! जिसके लिए आपको थोड़ा बहुत सर्विस के चार्ज देना होता है और आप डोरस्टेप सेवा का फायदा उठा सकते है!

डोर स्टेप बैंकिंग सेवा का मुख्य उद्देश्य देश में 70 वर्ष से अधिक वरिष्ठ या वृद्ध नागरिकों और दिव्यांगों (जिन्हे बैंक आने या जाने में बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है) को बैंकिंग सुविधाएँ प्रदान करना है! लेकिन कुछ समय से यह सेवाएं हर किसी के लिए उपलब्ध हो गयी है! आपको बता दे अब आपके घर तक आएगा बैंक!

डोरस्टेप सर्विस के दौरान आपको यह बात का ध्यान रखना होता है की डोरस्टेप सर्विस एजेंट से अकाउंट नंबर, एटीएम कार्ड या इसके पिन से सम्बंधित कोई जानकारी साझा न करें!

डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस की शुरुआत कब हुवी?

सरकार द्वारा 9 सितम्बर बुधवार के दिन पब्लिक सेक्टर बैंकों (सरकारी बैंको) की डोर स्टेप बैंकिंग सेवा का शुभारंभ कि गयी! और सभी ग्राहकों को इससे जुड़े बैंको द्वारा घर बैठे बैठे डोरस्टेप बैंकिंग सेवा का लाभ देना आरंभ किया गया!

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के द्वारा इस सर्विस को लांच क्या गया और फ़िलहाल इस सेवा की शुरुआत अभी देश के बड़े 100 शहरों में की जा रही है!

डोर स्टेप बैंकिंग में मिलने वाली सुविधाएं – Facilities available in Door Step Banking

डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस के अंतर्गत बैंक खाते से संबंधित सुविधाओं को बैंक आपके घर पर ही आपको उपलब्ध करता है! आइये जान लेते है डोर स्टेप सेवा के माध्यम से बैंक द्वारा दी जाने वाली सुविधाएं जो निम्न है! 

  • नकदी प्राप्ति (Cash Receipt)
  • नकदी लेन-देन (Cash delivery)
  • चैक प्राप्त करना (Receiving checks )
  • अकाउंट स्टेटमेंट (Account statement)
  • चैक मांग –पर्ची लेना ( check requisition)
  • फार्म 15 एच लेना (Taking Form 15H)
  • ड्राफ्ट का वितरण (Delivery of draft)
  • मियादी जमा सूचना लेन-देन (Delivery of term deposit information)
  • जीवन प्रमाणपत्र लेना (Take life certificate)
  • केवाईसी दस्तावेजों का लेना (Collecting KYC documents)

डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस में लेनदेन की लिमिट – Doorstep Banking Service Transaction Limit

इस सेवा के अंतर्गत घर पर कॅश लेन – देने के लिमिट अलग सभी बैंको द्वारा अलग अलग अमाउंट में निर्धारित की जाती है! चलिए कुछ बैंको द्वारा डोर स्टेप बैंकिंग के अनुसार निर्धारित की जाने वाली घर पर कॅश लेन – देने के लिमिट के बारे में जान लेते है जो इस प्रकार है!

  • डोरस्टेप सर्विस के जरिये भारतीय स्टेट बैंक अकाउंट होने पर आप कम से कम 1,000 रुपये और अधिक से अधिक 20,000 रुपये क़ज़ लेन देन कर सकते है!
  • पंजाब नेशनल बैंक से डोर स्टेप बैंकिंग के माध्यम से घर पर न्यूनतम 1,000 रुपये और अधिकतम 10, 000 रूपये का ट्रांसक्शन कर सकते है!
  • यूनियन बैंक में कम से कम 5,000 और अधिकतम 25, 000 रूपये तक का लेन देन डोर स्टेप बैंकिंग सर्विस के अनुसार कर सकते है! 
  • HDFC बैंक से डोर स्टेप बैंकिंग के माध्यम से घर पर न्यूनतम 25,000  रुपये और अधिकतम 50, 000 रूपये का ट्रांसक्शन कर सकते है!

डोरस्टेप बैंकिंग सर्विसेज के लिए शुल्क – Doorstep Banking Services Fee

यदि आप भी चाहते है डोरस्टेप बैंकिंग सेवा का लाभ इसके लिए प्रत्येक बैंक द्वारा कस्टमर के लिए शुल्क निर्धारित किया जाता है! जैसे

  • स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस का चार्ज 100 रूपये प्रति विजिट लिया जाता है!
  • यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया में इस सर्विस का शुल्क 75 रूपये प्रति विजिट इसके साथ ही GST चार्ज भी जोड़ा जाता है!
  • पंजाब नेशनल बैंक के ग्राहकों को डोरस्टेप बैंकिंग के जरिए लेन देन करने के लिए 50 रूपये  का भुगतान करना होता है! 
  • HDFC में डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस का चार्ज 100-200 रूपये प्रति विजिट लिया जाता है!

डोरस्टेप बैंकिंग के लिए रजिस्टर कैसे करें – Doorstep Banking Registration Process

आप जिस भी बैंक में डोर स्टेप बैंकिंग सर्विस शुरू करना चाहते है इसके लिए आपको सबसे पहले अपना रजिस्ट्रेशन करना होता है! रजिस्ट्रेशन आप ऑनलाइन ऑफ़ ऑफलाइन दोनों प्रकार से कर सकते है! 

आपको बता दे डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस के लिए आप बैंक के ऑफिसियल वेबसाइट, बैंक मोबाइल एप्लीकेशन और बैंक के टोल – फ्री नंबर के सहायता से रजिस्ट्रेशन कर सकते है!

यदि आप बैंक में जाकर डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस फॉर्म भरकर भी यह सर्विस चालू कर सकते है! फॉर्म में आपको अपना बैंक अकाउंट में रजिस्ट्रेटेड मोबाइल नंबर भरना होता है!

रजिस्ट्रेशन प्रोसेस पूरी होने के बाद आपके फ़ोन में एक कन्फर्मेशन मैसेज भेजा जाता है! इसके बाद आपके बैंक खाते में डोर स्टेप बैंकिंग सर्विस लागु हो जाती है! 

ऑनलाइन डोरस्टेप बैंकिंग रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के लिए आपको बैंक के ऑफिसियल साइट में जाकर करना होता है!

निष्कर्ष – Conclusion

तो इस ब्लॉग से हमको डोर स्टेप बैंकिंग सर्विस क्या है? (Doorstep Banking Kya Hai) के बारे में जानने को मिला! साथ ही हमने जाना की आखिर Doorstep banking के लिए रजिस्टर कैसे करें? और इसके फ़ायदे क्या क्या है?

उम्मीद करते है हमारी यह पोस्ट (Doorstep Banking in Hindi) से आप सभी को बहुत कुछ जानने को मिला होगा! यह कोर्स आज के समय में सबसे लोकप्रिय कोर्स माना जाने लगा है! पोस्ट को लाइक जरूर करें और सोशल मिडिया पर इस प्रकार की जानकारियों को शेयर अवश्य करें!

हमारी यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

स्वस्थ रहें, सुरक्षित रहें और अपनों का ख्याल रखें!

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here