3.5/5 - (2 votes)

Hello दोस्तों, क्या आप जानते हैं एनडीआरएफ क्या है? (NDRF Kya Hai) भारत में एनडीआरफ का मुख्यालय कहाँ स्थित है? और NDRF Full form in Hindi क्या होता है? एनडीआरएफ की कितनी बटालियन है? आज के इस लेख में हम आपको एनडीआरएफ से जुड़े तथ्य एनडीआरफ की स्थापना कब हुवी?, एनडीआरएफ के कार्य आदि के बारे में विस्तार से बताने वाले है! 

आमतौर पर टीवी या न्यूज़ पेपर में एनडीआरफ का नाम सुनने को मिल जाता है! देश में किसी भी प्राकृतिक या मानवनिर्मित आपदा के समय एनडीआरफ की टीम लोगो तक सुरक्षा पहुँचाती है!

ऐसे नौजवान जो देश की सेवा करना करना चाहते हैं, देश के लोगों की जान बचाना चाहते हैं उनके लिए NDRF एक बेहतरीन करियर ऑप्शन के रूप में साबित हो सकता है!

क्योंकि एक NDRF के जवान का काम ही होता है अपनी जान को खतरे में डालकर, मुसीबत से लोगों को निकालना और उनकी जान बचाना! तो चलिए अब एनडीआरएफ का फुल फॉर्म (NDRF Full Form in Hindi) एनडीआरएफ क्या है? और एनडीआरएफ कैसे ज्वाइन करें? आदि के बारे में जानते हैं!

How to join ndrf in hindi

विषय - सूची

एनडीआरएफ का फुल फॉर्म NDRF Full Form in Hindi

NDRF Ka Full Form: एनडीआरएफ का फुल फॉर्म  “National Disaster Response Force” होता है! जिसका मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं से जनसामान्य की सुरक्षा करना है!

एनडीआरफ का हिंदी अर्थ “राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल” होता है! यह सुरक्षा बल देश के लोगो तक जागरूकता फ़ैलाने का कार्य करता है! 2000 के दशक में भारत में आपदाओं का अम्बार सा लग गया था ऐसे में 2005 एनडीआरएफ का गठन किया गया! 

एनडीआरएफ क्या होता है?

NDRF Kya Hai: एनडीआरएफ एक ऐसा सैन्य बल है, जो भारत में आए खतरनाक प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं से निपटने के लिए काम करती है!

प्राकृतिक आपदाएं जैसे – बाढ़, सुनामी, भूकंप आदि और मानव निर्मित आपदाएं जैसे – रेल दुर्घटना, बिल्डिंग गिर जाना आदि में लोगों की जान बचाने का काम NDRF ही करती है!

प्राकृतिक आपदा में सहायता करने के अलावा, NDRF बायोलॉजिकल, केमिकल, परमाणु और रेडियोलॉजिकल आपदाओं को भी संभाल सकता है!

NDRF पूरे world का सबसे बड़ा एकमात्र ऐसा आपदा मोचन बल है, जो पूरी तरह से आत्मनिर्भर है!

Uniform Civil Code Kya Hai | यूनिफार्म सिविल कोड के फायदे और नुकसान क्या है?

एनडीआरएफ की स्थापना कब की गई थी?

NDRF का गठन आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 44-45 के अनुसार किया गया था! यह विधेयक वर्ष 2005 में संसद में पारित किया गया था! भारत के राष्ट्रपति ने 2006 में इस विधेयक को अपनी सहमति दी थी!

इसके बाद सन् 2006 में एनडीआरएफ( राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल) की स्थापना/ गठन की गयी! 

देश में आने वाली प्राकृतिक आपदाओं को रोका तो नहीं जा सकता है लेकिन इन आपदाओं के वजह से होने वाले जान और माल के नुकसान को NDRF की सहायता से कम जरूर किया जा सकता है!

बहुत कम समय में ही NDRF ने लगभग, 1.44 लाख से ज्यादा लोगों की जान बचाई और देश और विदेश में आपदा स्थितियों से फंसे 7 लाख से अधिक लोगों को आपदा से बाहर निकाला है!

जापान ट्रिपल डिजास्टर-2011 और नेपाल भूकंप 2015 के दौरान एनडीआरएफ की तेज और प्रभावी प्रतिक्रिया को पूरे विश्व स्तर पर सराहा भी गया है!

NDRF का मुख्यालय कहां है? – NDRF Ka Mukhyalay Kaha Hai

एनडीआरएफ का मुख्यालय (headquarter) अन्त्योदय भवन में है जो कि नई दिल्ली में स्थित है! और एनडीआरएफ (NDRF) की ऑफिसियल वेबसाइट http://www.ndrf.gov.in/ है!

एनडीआरफ का आदर्श वाक्य क्या है? – NDRF Motto

NDRF का Motto यानि की आदर्श वाक्य “आपदा सेवा सदैव सर्वत्र” होता है जिसका मतलब होता है की एनडीआरएफ खतरनाक आपदा स्थिति के समय सभी परिस्थितयों में बचाव और राहत सेवा प्रदान करती है!

Full Form of IMF – IMF क्या है? आईएमएफ क्या काम करता है?

एनडीआरफ के महानिदेशक कौन हैं?

NDRF के महानिदेशक की वर्दी पर 3 stars होते हैं! वर्तमान समय में NDRF के महानिदेशक IPS officer अतुल करवाल जी हैं!

एनडीआरएफ का ऊपरी संगठन NDMA यानि की “राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण” होता है और एनडीआरएफ NDMA के अंतर्गत कार्य करती है!  राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के चेयरमैन देश के प्रधानमंत्री होते हैं!

NDMA आपदा का अनुमान लगाने वाले अधिकारियों से आपदा आने की संभावना के ऊपर परामर्श करके NDRF को भारत के विभिन्न क्षेत्रों में तैनात करती है!

एनडीआरएफ का क्या काम है? – Duty of NDRF in Hindi

एनडीआरफ का गठन देश में आने वाली किसी भी प्रकार की आपदा से हमारी सुरक्षा के लिए किया गया! तो चलिए एनडीआरएफ के प्रमुख कार्य जो की निम्नलिखित है!

  • देश में आने वाली प्राकृतिक आपदाओं के भयावह रूप से बचाने के लिए आपदा सुरक्षा बल द्वारा लोगो को सुरक्षित स्थान पर पहुचाया जाता है!
  • आपदा प्रतिरोधी भारत का निर्माण करना! प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदाओं के दौरान राहत, बचाव, निकासी अभियान चलाना!
  • आपातकालीन स्थितियों का अनुमान लगाना और रणनीति तैयार करना!
  • आपदा में फंसे लोगो को भोजन या स्वास्थ्य संबंधी सुरक्षा प्रदान करना!
  • बोरवेल दुर्घटनाओं से लेकर रासायनिक, जैविक और रेडियोधर्मी आपात स्थितियों से निपटना!

Democracy Meaning in Hindi: लोकतंत्र क्या है? लोकतंत्र के प्रकार कितने है?

एनडीआरएफ की कितनी बटालियन है?- NDRF Battalions in India

भारत में एनडीआरएफ बटालियन की कुल संख्या 12 होते हैं! जो इस प्रकार निम्नलिखित है:

  • 3 बटालियन BSF(Border Security Force) के
  • 3 बटालियन CRPF(Central Reserve Police Force) के
  • 2 बटालियन CISF(Central Industrial Security Force) के
  • 2 बटालियन ITBP(Indo-Tibetan Border Police) के
  • और 2 बटालियन SSB(Services Selection Board) के होते हैं!

प्रत्येक बटालियन में कुल 1149 personnel(कर्मचारी) कार्यरत होते हैं!

45 rescue personnel (बचाव कर्मी) की टीम में इंजीनियर, तकनीशियन, इलेक्ट्रीशियन, डॉक्टर, पैरामेडिक्स, और डॉग स्क्वायड शामिल होते हैं!

ये 12 बटालियन भारत देश के 12 उन क्षेत्रों में तैनात होते हैं, जहां पर आपदा आने की सबसे ज्यादा संभावना होती है!

भारत के 12 एनडीआरफ बटालियन और उनके कार्य क्षेत्रों की सूची इस प्रकार निम्न है!

क्रम सं. एनडीआरएफ बटालियन कार्य क्षेत्र 
1. Bn NDRF गुहावटी – असम (BSF)
2. Bn NDRF नदिया – पश्चिम बंगाल (BSF)
3. Bn NDRF कटक – उड़ीसा (CISF)
4. Bn NDRF वेल्लोर – तमिलनाडु (CISF)
5. Bn NDRF पुणे – महाराष्ट्र (CRPF)
6. Bn NDRF बडोदरा – गुजरात  (CRPF)
7. Bn NDRF भटिंडा – पंजाब (ITBP)
8. Bn NDRF गाजियाबाद – उत्तर प्रदेश (ITBP)
9. Bn NDRF पटना – बिहार (BSF)
10. Bn NDRF गुंटूर – आंध्र प्रदेश (CRPF)
11. Bn NDRF बनारस – उत्तर प्रदेश (SSB)
12. Bn NDRF एटा नगर – अरुणाचल प्रदेश (SSB)

एनडीआरएफ की भर्ती कैसे होती है? – NDRF Join kese kare

NDRF में सीधी भर्ती नहीं की जाती है! यानी कोई भी साधारण नागरिक एनडीआरएफ ज्वाइन नहीं कर सकता है!

ऐसे जवान, जो पहले से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP), सीमा सुरक्षा बल (BSF), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) और सशस्त्र सीमा बल (SSB) में कुछ सालों से तैनात हैं, केवल वही NDRF में Join होने के लिए अप्लाई कर सकते हैं!

अप्लाई करने के बाद, चयनित जवानों की आपदा प्रबंधन(disaster management) से जुड़ी विशेष ट्रेनिंग होती है जिसके बाद ये एनडीआरएफ ज्वाइन कर लेते हैं!

SDM Ka Full Form एसडीएम क्या होता है? SDM कैसे बने?

एनडीआरएफ का वेतन कितना है? – NDRF Salary

एनडीआरएफ में जवान अलग अलग रैंक और पद पर काम करते हैं जिसके अनुसार उनकी सैलरी भी होती है!

NDRF के सबसे ऊंचे रैंक के अधिकारी डायरेक्टर जनरल की सैलरी 67000-79000 रुपए प्रति महीने होती है!

जबकि एनडीआरएफ के इंस्पेक्टर पद पर काम कर रहे कर्मचारी की सैलरी 17,100 रुपए मासिक होती है!

वहीं NDRF की सबसे नीची पोस्ट पर काम कर रहे कांस्टेबल की सैलरी 8,460 रुपए होती है!

एनडीआरएफ में विभिन्न पोस्ट अनुसार सैलरी डिटेल्स देखने के लिए एनडीआरएफ की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं!

निष्कर्ष – Conclusion

आज के हिंदी लेख में हमने एनडीआरएफ क्या है? (NDRF Kya Hai), भारत में एनडीआरफ का मुख्यालय कहाँ स्थित है? और NDRF Full Form in Hindi के बारे में जाना इसके साथ ही एनडीआरएफ कैसे ज्वाइन करें? और एनडीआरएफ का काम, एनडीआरएफ सैलरी और भारत में एनडीआरफ बटालियन के बारे में आपको जानकारी दी!

एनडीआरएफ भारत की सेनाओं के तरह ही लोगों की जान बचाने का काम करती है लेकिन यह दुश्मनों से नहीं लड़ती बल्कि यह देश में आने वाले प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं का सामना करती है!

बाढ़, भूकंप, सुनामी, भूस्खलन, रेल एक्सीडेंड, बिल्डिंग गिर जाने जैसी ना जाने कितनी ही आपदाओं का सामना NDRF करती है!

NDRF में केवल सैनिक ही नहीं होते हैं बल्कि NDRF की कमियों की टीम में इंजीनियर, तकनीशियन, डॉक्टर जैसे भी अन्य कई लोग होते हैं जो आपदाओं में लोगों को बचाने में सहायता करते हैं!

उम्मीद है कि अब आपको (NDRF Full Form in Hindi) लेख को पढ़कर बहुत कुछ जानने को मिला होगा! पोस्ट अच्छी लगे तो लाइक जरूर कीजिये!

इस आर्टिकल से संबंधित सवाल, सुझाव या कोई जानकारी नीचे कमेंट सेक्शन में लिखकर बताएं! पोस्ट को अपने सोशल मिडिया व्हाट्सप्प, इंस्टाग्राम, फेसबुक पर अवश्य शेयर करें!

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here