हेल्लो दोस्तों, क्या आप जानते हैं मोबाईल नंबर पोर्ट सर्विस क्या है? (Mobile Number Port Kya Hai) और मोबाईल नंबर पोर्ट कैसे करें? (Mobile Number Port Kaise Kare). आज इस हिंदी आर्टिकल में हम Airtel, BSNL, Idea को Jio में Port कैसे करे? या फिर अपना कोई भी मोबाईल नंबर पोर्ट कैसे करें? और साथ ही मोबाईल नंबर पोर्ट से क्या फायदे हैं? के बारे में विस्तार से जानने वाले है!

अक्सर कभी कभी हम मौजूदा टेलीकॉम कंपनी की सेवाओं में कभी नेटवर्क की समस्या तो कभी कॉल ड्राप या फिर स्लो इंटरनेट की समस्या से खुश नहीं होते हैं! ऐसे में हमें मौजूदा टेलीकॉम कंपनी के मोबाईल नंबर को दूसरे टेलिकॉम कंपनी में पोर्ट करना जरूरी हो जाता है! 

अगर आप अपनी मौजूदा टेलीकॉम कंपनी की सर्विस से खुश नहीं हैं! या फिर आप मोबाईल नंबर पोर्ट करना चाहते हैं तो आज की इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें! किसी भी मोबाईल नंबर को पोर्ट करने में किन चीजों की जरूरत होती है, पोर्ट होने में कितना समय लगता है? इन्हीं बातों को हम आगे विस्तार से जानने वाले हैं!

तो चलिए आगे बढ़ते हैं और मोबाईल नंबर पोर्ट सर्विस क्या है? (Mobile Number Port Kya Hai) मोबाईल नंबर पोर्ट कैसे करें? (Mobile Number Port Kaise Kare) और साथ ही मोबाईल नंबर पोर्ट से क्या फायदे हैं? जानते हैं!

Mobile Number Port Kaise Kare

विषय - सूची

मोबाइल नंबर पोर्ट क्या है – Mobile Number Port Kya Hai

किसी भी मोबाईल नंबर को बिना बदले मौजूदा टेलिकॉम कंपनी से दूसरी टेलिकॉम कंपनी में मोबाइल नंबर को बदलना Mobile Number Portability प्रोसेस कहलाता है! यूजर देश के किसी भी हिस्से में रहता हो वो मोबाईल नंबर पोर्ट प्रोसेस का लाभ ले सकता है! चाहे उपभोक्ता कितना भी पुराने मोबाईल नंबर का इस्तेमाल कर रहे हों!

सभी टेलिकॉम कंपनी की पॉलिसी के अनुसार किसी भी नए मोबाईल नंबर को 90 दिन तक पोर्ट नहीं किया जा सकता है! यूजर को 3 महीने मोबाईल नंबर का यूज करना होता है! उसके बाद ही यूजर Mobile Number Port की सुविधा ले सकता है!

ऐसा जरूरी नहीं है कि किसी अन्य व्यक्ति के दस्तावेजों के माध्यम से लिए गए सिम को पोर्ट करते समय वही दस्तावेजों की जरूरत हो! आप पोर्ट करते समय अपने दस्तावेजों के आधार पर भी मोबाईल नंबर को पोर्ट करा सकते हैं!   

मोबाइल नंबर पोर्ट क्यों करते हैं?

आखिर लोग किसी भी मोबाईल नंबर को पोर्ट क्यों कराते हैं यह जानना बहुत ही जरूरी है! इसके कई कारण हो सकते हैं जिन्हे हम आगे इस पोस्ट में जान लेते हैं! 

👉 क्षेत्र में मौजूदा टेलिकॉम कंपनी अच्छी सेवाएं न दे रही हो या फिर टेलिकॉम कंपनी का टॉवर आये दिन थोड़ी सी हवा में या फिर बरसात के दिनों में खराब हो जाता हो! तो ऐसे में यूजर मोबाईल नंबर को पोर्ट कराना तो चाहेंगे ही! 

👉 कई बार मार्केट में टेलिकॉम कंपनीयो में कम्पटीशन के चक्कर में जबरदस्त टकराव देखने को मिलता है! तो ऐसे में टेलीकॉम कंपनियां रिचार्ज के प्लान दर को बढ़ा देती है!

👉 ऐसे में उपभोक्ता कम प्राइस वाले रिचार्ज के प्लानदरों वाली टेलिकॉम कंपनी में अपना मोबाईल नंबर को पोर्ट कराते हैं!

👉 उपभोक्ता जिस जगह पर रहते हों उस जगह पर मौजूदा टेलिकॉम कंपनी का नेटवर्क का न पहुंचना यह भी एक मुख्य कारण होता है! तो ऐसे में मोबाईल नंबर पोर्ट करना जरूरी हो जाता है! 

👉 उपभोक्ता के पास मौजूदा टेलिकॉम कपनी के मोबाईल नंबर में और भी कई मुख्य समस्या हो सकती है! जैसे इंटरनेट का धीमे चलना, कॉल ड्राप होना, रिचार्ज प्लान महंगे होना इत्यादि! 

मोबाइल नंबर पोर्ट करने के क्या फ़ायदे हैं?

मोबाइल नंबर पोर्ट का सबसे मुख्य फायदा यह होता है कि आपको अपना मोबाईल नंबर को बदलने की जरूरत नहीं होती है!

👉 आप चाहे देश के किसी प्रदेश से दूसरे प्रदेश में चले जाएँ! या फिर दूसरे देश में चले जाएँ आप मोबाइल नंबर पोर्ट सर्विस के माध्यम से मोबाईल नंबर पोर्ट करवा सकते हैं! 

👉 मोबाइल नंबर पोर्ट Services के द्वारा आप किसी भी पोस्टपेड मोबाईल नंबर को प्रीपेड में बदल सकते हैं! इसके लिए आपको कुछ दस्तावेजों की जरूरत होती है जैसे आपका एड्रेस प्रूफ, टेलीफोन या बिजली का बिल और एक पासपोर्ट साइज फोटो!

👉 उपभोक्ता जिस टेलिकॉम कंपनी में चाहें अपना मोबाईल नंबर पोर्ट करा सकते हैं! और दूसरी अन्य टेलिकॉम कंपनी की सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं! 

👉 आप अपने मोबाईल नंबर को जितनी बार चाहे पोर्ट करा सकते हैं इसकी कोई भी लिमिट नहीं होती है!

👉 मोबाइल नंबर पोर्ट के लिए जरूरी है की शुरू में आपका मोबाईल नंबर एक टेलिकॉम ऑपरेटर में 90 दिन यूज होना चाहिए!  

सिम पोर्ट होने में कितना समय लगता है?

अमूमन एक मोबाईल नंबर को अन्य टेलिकॉम सर्विस में पोर्ट होने में करीब एक हफ्ते का समय लगता है! लेकिन अब MNP Service के नए नियमों के अनुसार 3 से 4 दिन के अंदर ही पोर्ट टेलिकॉम कंपनी की सर्विस स्टार्ट हो जाती है! 

मोबाइल नंबर पोर्ट कैसे करें – Mobile Number Port Kaise Kare

किसी भी मोबाइल नंबर को पोर्ट करने से पहले यह चेक कर लें की आपके नंबर पर कोई रिचार्ज है कि नहीं! रिचार्ज होने से आपके मोबाईल नंबर से पोर्ट मैसेज जा सकेगा! मोबाईल नंबर को पोर्ट कैसे करें हम यह कुछ स्टेप्स के साथ जान लेते हैं! 

👉1. 1900 नंबर पर मैसेज भेजें! 

पोर्ट करने के लिए आपको 1900 नंबर पर PORT और स्पेस देकर अपना मोबाइल नंबर लिखकर भेजना होता है! चाहे आपका किसी भी टेलीकॉम कंपनी का सिम कार्ड है! आपके मोबाइल नंबर पर मिनिमम 49 रूपये का रिचार्ज होना चाहिए तभी आपका पोर्ट मैसेज जा पायेगा! 

👉2. UPC Code लेकर नजदीकी रिटेलर से मिलें! 

पोर्ट मैसेज भेजने के तुरंत बाद आपके UPC Code आपके मोबाईल नंबर पर टेलिकॉम कंपनी द्वारा भेज दिया जाता है! उसके बाद आप जिस टेलिकॉम कंपनी में आप अपना मोबाईल नंबर पोर्ट करवाना चाहते हैं उसे लेकर रिटेलर से जाकर आपको मिलना होगा!  

👉3. जरूरी दस्तावेज रिटेलर ऑफिस में जमा करें!

मोबाइल नंबर पोर्ट के लिए आपको कुछ डाक्यूमेंट्स जैसे आधार कार्ड, एक पासपोर्ट साइज फोटो, UPC Code नजदीकी टेलिकॉम रिटेलर ऑफिस में देने होंगे! आगे रिटेलर द्वारा आपको एक नया सिम दिया जायेगा!

यह सिम कार्ड उस टेलिकॉम कंपनी को होगा जिसमें आपने पोर्ट के लिए आवेदन किया है! 

वैसे आजकल आपको रिटेलर को सिर्फ आधार नंबर बताना होता है और आगे पंचिंग मशीन से रिटेलर द्वारा सत्यता की जाँच कर ली जाती है!

टेलिकॉम कंपनी के द्वारा आपके मोबाइल नंबर पर एक मैसेज भेज दिया जाता है! जिसमें लिखा होता है कि आपके मोबाइल नंबर को पोर्ट होने में 7 से 8 दिन का समय लग सकता है! जैसे ही आपका नंबर पोर्ट होता है तो आपका पहले वाला सिम कार्ड काम करना बंद कर देता है!

तो इस तरह आप अपने मोबाइल नंबर को बड़ी आसानी से पोर्ट करा सकते हैं!

पोर्ट करने के बाद हो सकता है रिटेलर आपसे 30 रूपये से लेकर 50 रूपये तक चार्ज करे! कई रिटेलर FRC Recharge (399 Rs) करने के लिए भी बोलते है यानि जिस रिटेलर के माध्यम से आपने अपना मोबाईल नंबर पोर्ट किया है आपको FRC Recharge भी उसी रिटेलर से करना होता है!  

निष्कर्ष – Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने मोबाईल नंबर पोर्ट सर्विस क्या है? (Mobile Number Port Kya Hai) मोबाईल नंबर पोर्ट कैसे करें? (Mobile Number Port Kaise Kare), मोबाईल नंबर पोर्ट से क्या फायदे हैं? और साथ में Mobile Number Port होने में कितना समय लगता है? के बारे में विस्तार से जाना!

आपको इस पोस्ट के द्वारा समझ आ गया होगा कि Airtel, BSNL, Idea को Jio में Port कैसे करे?

हमें उम्मीद है आज की यह पोस्ट आपको जरूर पसंद आयी होगी! पोस्ट को सोशल मिडिया पर अवश्य शेयर करें! ताकि मोबाइल नंबर पोर्ट कैसे करें? के बारे में सभी उपभोक्ता जान सकें! इस कोर्स से संबंधित अपने सवालों और विचारो को नीचे कमेंट सेक्शन में लिखकर अवश्य बताएं!

हमारी यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

स्वस्थ रहें, सुरक्षित रहें और अपनों का ख्याल रखें!

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here