नमस्कार दोस्तों, क्या आपको पता है की भारत में कुल कितने धर्म है? (Bharat Me Kul Kitne Dharm Hai) और सबसे तेजी से फैलने वाला धर्म कौन सा है? भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है और यहां कई धर्म को मानने वाले लोग एक साथ मिल जुल कर रहते है! आज के इस ब्लॉग में हम भारत में कुल कितने धर्म है? और सबसे तेजी से फैलने वाला धर्म कौन सा है? के बारे में विस्तार से बताने वाले है!

धर्म की कोई एक परिभाषा नहीं होती है! हर किसी के लिए धर्म की अवधारणा अलग अलग होती है! किसी के लिए धर्म उसका विश्वास तो किसी के लिए कर्म ही उसका धर्म होता है!

भारत देश विभिन्न धर्मो वाला देश है! सभी लोग अपने अपने धर्म के हिसाब से त्यौहार और शुभ पर्व मानते है! पूरी दुनिया के लिए यह एक सोचने का विषय है की भारत जो दुनिया में जनसख्या की दृस्टि से दूसरा सबसे बड़ा देश है और यहां पर विभिन्न जातियों और धर्मो के लोग आपस में शांतिपूर्वक और निष्पक्ष भाव से रहते है!

ऐसे में आप जरूर सोच रहे होंगे की 137 करोड़ से अधिक की आबादी वाले इस देश भारत में कुल कितने धर्म है? (Bharat me Kul Kitne Dharm Hai) और सबसे तेजी से फैलने वाला धर्म कौन सा है? तो चलिए बिना किसी विलम्ब के जानते है!

Bharat mai kul kitne dharm hai

विषय - सूची

भारत में कुल कितने धर्म हैं? (Bharat me Kul Kitne Dharm Hai)

2011 में की गयी भारत की जनगणना के अनुसार भारत में 79.8% लोग हिन्दू धर्म को मानते है जो पूजा पाठ – पुनर्जन्म, आत्मा – परमात्मा और लोक – परलोक पर विश्वास करते है! हिन्दू धर्म के अनुसार तमाम जीवों में आत्मा का निवास होता है!

वही 14.2% लोग इस्लाम, 2.3% लोग ईसाई, 1.72% लोग सिख, 0.7% बौद्ध और 0.7% लोग जैन धर्म को मानते है! इसके साथ ही 0.24% लोग किसी भी धर्म को नहीं मानते है!

  • हिन्दू 
  • इस्लाम 
  • ईसाई 
  • सिख 
  • जैन 
  • बौद्ध 
  • पारसी 

हिन्दू धर्म क्या है? (Hindu Dharm Kya hai)

हिन्दू धर्म को सनातन धर्म भी कहते है! आपको बता दे सनातन का अर्थ ‘पहले से चला आ रहा’ होता है यानी की हिन्दू धर्म सबसे पुराना और बहुत पहले से चला आ रहा धर्म है!

और इसी वजह से हिन्दू धर्म कब शुरू हुआ इसे किसने शुरू किया? के बारे में कोई पुख्ता प्रमाण उपलब्ध नहीं है! दुनिया में सबसे अधिक हिन्दू धर्म को मानाने वाले लोग भारत में रहते है!

हिन्दुओ के धार्मिक ग्रन्थ कौन से है?

हिन्दू धर्म में धार्मिक आस्था बहुत अधिक होती है! और इस प्रचीन धर्म के निम्नलिखित मुख्य ग्रन्थ है!

  • वेद
  • पुराण 
  • उपनिषद 
  • रामायण 
  • महाभारत 
  • गीता 

दुनिया में हिंदू देश कितने हैं? (Hindu Dharm ke Kitne Desh hai)

कुछ लोगो का मानना है की पूरी दुनिया में कुल 13 हिन्दू राष्ट है! लेकिन यह बात प्रामाणिक नहीं है! जबकि हिन्दू धर्म सिर्फ एक धर्म नहीं बल्कि संसार में जीवन जीने का एक जरिया है! इसलिए शास्त्रों के अनुसार हिंदू धर्म मानव सभ्यता से पहले का धर्म है और आज के ये सभी धर्म हिन्दू धर्म से ही बने है! 

सबसे अधिक हिंदू धर्म मानने वालों की संख्या भारत और नेपाल में है! जहा भारत में हिंदुओं की संख्या 81% और नेपाल में 81.3% है! वही ये दोनों देशो को धर्मनिरपेक्ष देश घोषित कर दिया गया है! 

भारत को धर्मनिरपेक्ष देश कब घोषित किया गया?

आजादी के 26 साल बाद संन 1976 में भारत को धर्मनिरपेक्ष देश घोषित कर दिया गया! तब की प्रधान मंत्री इंदिरा गाँधी के कार्यकाल में 42वे सविंधान संशोधन के जरिये धर्मनिरपेक्ष शब्द को भारत के सविधान के प्रस्तावना में पहली बार जोड़ दिया गया! 

इस प्रकार 1976 तक भारत एक हिन्दू राष्ट्र था और उसके बाद पुरे विश्व में भारत की पहचान एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट में बदल गयी! 

इस्लाम धर्म क्या है? (Islam Dharm Kya hai)

इस्लाम धर्म के प्रवर्तक हजरत मुहमद साहब थे! इस धर्म का अर्थ तस्लीम करना होता है! इस्लाम को मानने वालो को मुसलमान कहा जाता  इस्लाम का परित्र धार्मिक ग्रन्थ कुरान है!

कुरान को मुसलमान अपने अल्लाह के शब्द और मुहम्मद के आदेश और आदर्श फरमान मानते हैं! इसके साथ ही मुस्लिम समाज शरिया कानून प्रणाली को मानता है!

इस्लाम धर्म निम्न लिखित पाँच बुनियादी बातो जिन्हे इस्लाम में फराईज कहा जाता है, पर आधारित है!

  1. नमाज अदा करना!
  2. रोजा रखना!
  3. तौहीन अर्थात ईमान लाना!
  4. जकात यानी की कमाई का 25 % गरीबो में बाट देना!
  5. हज पर जाना!

ईसाई धर्म क्या है? (Christian Dharm Kya hai)

ईसाई धर्म के प्रवर्तक ईसा मसीह थे! इस धर्म का इतिहास कोई दो हजार साल पुराना है! इससे पहले ये सभी ईसाई धर्म के लोग यहूदी थे! 

ईसाई धर्म के प्रमुख ग्रन्थ निम्नलिखित है!

  • ओल्ड टेस्टामेंट 
  • बाईबल 
  • न्यू टेस्टामेंट

सिख धर्म क्या है? (Shikh Dharm Kya hai)

सिख धर्म के प्रवर्तक श्री गुरु नानक देव जी थे! सिख धर्म का अर्थ शिष्य यानी की सीखने वाला होता है! और इस धर्म के अनुसार हमेशा गुरुओ द्वारा बताये गये रास्ते पर ही चलना चाहिए!

सिख धर्म में केवल गुरु ग्रन्थ साहिब को ही माना जाता है! गुरु नानक देव जी के बाद सिख धर्म के और भी गुरु हुए जिन्होने गुरु नानक देव जी के बताये उपदेशो और सिख धर्म का प्रचार किया!

  1. गुरु अंगद देव जी 
  2. गुरु अमर दास जी 
  3. गुरु रामदास जी 
  4. गुरु अर्जुन देव जी 
  5. गुरु हर गोविन्द जी 
  6. गुरु हर राय जी 
  7. गुरु हर किशन जी 
  8. गुरु तेग बहादुर जी 
  9. गुरु गोबिंद सिंह जी

जैन धर्म क्या है? (Jain Dharm Kya hai)

जैन धर्म के प्रवर्तक महावीर जैन थे इनका जन्म ईसा से छटी शदाब्दी पूर्व वैशाली नगर में हुआ था! उन्होंने 23 तीर्थकर धार्मिक पुरुषो के उपदेशो का समर्थन किया और 12 वर्ष तपस्या करके प्राप्त ज्ञान और अपने विचारो को भी उनसे जोड़ा! 

महावीर जैन के अनुसार मनुष्य का जीवन सदाचार पूर्ण होना चाहिए!

बौद्ध धर्म क्या है? (Baudh Dharm Kya hai)

बौद्ध धर्म की शुरुआत ईसा पूर्व की छटी शताब्दी में कपिलवस्तु के महाराज शुद्धोधन के घर में राजकुमार सिद्धार्थ के जन्म के बाद हुआ! राजकुमार सिद्धार्थ ने ही बौद्ध धर्म की शुरुआत की और बाद में उन्हें महात्मा बुद्ध के नाम से जाना गया!

महात्मा बुद्ध के अनुसार संसार में हर जगह दुःख ही दुःख है और इन सब दुखो का एकमात्र कारण लोभ और लालच है! महात्मा बुद्ध ने आठ कर्मो के मार्ग जिसे अष्टांगिक मार्ग कहा गया का प्रतिपादन किया!

  1. शुद्ध कर्म 
  2. शुद्ध व्यायाम 
  3. शुद्ध ज्ञान 
  4. शुद्ध आजीविका 
  5. शुद्ध समाधी 
  6. शुद्ध प्रयत्न 
  7. शुद्ध पूजा 

पारसी धर्म क्या है? (Parasi Dharm Kya hai)

पारसी धर्म के संस्थापक सन्त ज़रथुष्ट्र थे! इसलिए पारसी धर्म को जरथुस्त्र धर्म भी कहते है! यह धर्म ज़न्द अवेस्ता नाम के गन्थं पर आधारित है!

यह धर्म सबसे पुराने धर्मो में से एक है और इस्लाम से पहले ईरान में पारसी धर्म को मानाने वाले लोग रहते थे! इसलिए ईरान को पहले फारस के नाम से भी जाना जाता था! बाद में इस देश को अरबों ने मुस्लिम देश बना दिया!

पारसी कौन से भगवान को मानते हैं?

इस धर्म के लोग एक भगवान (ईश्वर) को मानते हैं, जिसे अहुरा मज़्दा (होरमज़्द) कहा जाता है! पूरी दुनिया में पारसी धर्म को मानाने वाले लोगो में लगभग 70 % पारसी भारत में रहते है और इनका भारत की तरक्की में हमेशा अमूल्य योगदान रहा है!

पारसी मंदिर को क्या कहते हैं?

पारसी धर्म में पारसी मंदिर को आतिश बेहराम या फिर दर-ए मेहर कहते है!

सबसे तेजी से फैलने वाला धर्म कौन सा है?

दुनिया में सबसे तेजी से फैलने वाला धर्म इस्लाम है! पूरी दुनिया इस्लामिक देशो की संख्या लगभग 50 है! इस्लाम धर्म के तेजी से फैलने के कुछ निम्नलिखित कारण है!

  • इस्लाम में बहु-विवाह यानी की एक से अधिक स्त्री से विवाह मान्य है!
  • दूसरे धर्मो के मुकाबले इस्लाम धर्म में चाईल्ड बर्थ रेट बहुत ज्यादा है! इस वजह से इनकी आबादी लगातार बढ़ती है!
  • आये दिन जबरदस्ती इस्लाम कुबूल करवाने के मामले आते रहते है!
  • पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश तथा अन्य इस्लामिक देशो में अल्पसंख्यकों की संख्या लगातार घट रही है!

निष्कर्ष – Conclusion

तो इस हिंदी लेख में हमने भारत में कुल कितने धर्म है? (Bharat me Kul Kitne Dharm Hai) और सबसे तेजी से फैलने वाला धर्म कौन सा है? के बारे में विस्तार से जाना!

उम्मीद करते है, इस आर्टिकल के माध्यम से भारत देश में रहने वाले सभी धर्मो के बारे में आपको बहुत कुछ जानने को मिला होगा! और आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आयी होगी! इस लेख से संबंधित अपने विचारो को नीचे कमेंट सेक्शन में लिखकर अवश्य बताएं!

हमारी यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद!   

स्वस्थ रहें, सुरक्षित रहें और अपनों का ख्याल रखें!

- Advertisement -

1 COMMENT

  1. While searching about Indian religion, Get your post in search results for exam preparation. it’s an amazing post Ever.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here