5/5 - (1 vote)

Horse Gram in Hindi – दोस्तों, क्या आप जानते हैं कि हॉर्स ग्राम क्या हैं? (Horse Gram Kya Hai) और इस के चौकाने वाले फायदे (Horse Gram Ke Fayade) क्या क्या हैं? अगर नहीं, तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें ताकि आप भी हॉर्स ग्राम के अनगिनत फायदों को जान सके और इसका लाभ ले सकें!

हमारे भारत में ऐसी ऐसी औषधीय गुणों से भरपूर फसलें उगाई जाती हैं कि अगर इन सभी का इस्तेमाल हम अपने रोज के खानपान में करे तो हम कभी बीमार नहीं पड़ेंगे!

इन्हीं फसलों में से एक है, Horse Gram यानी कुलथी दाल! अगर आप अभी तक इस Horse Gram के बारे में नहीं जानते तो हमारे इस आर्टिकल को पढ़कर आप इसके बारे में सारी जानकारी हासिल कर सकते हैं!

तो चलिए दोस्तों, जानते हैं कि Horse Gram in Hindi – हॉर्स ग्राम क्या हैं? (Horse Gram Kya Hai) कुलथी दाल (Kulthi Dal) के फायदे और नुकसान क्या है!

horse-gram-in-hindi

विषय - सूची

हॉर्स ग्राम क्या हैं? Horse Gram Kya Hota Hai

हॉर्स ग्राम एक तरह की दाल होती है! इसमें प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम और एंटी ऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होता है! इस दाल के बहुत से औषधीय फायदे हैं, इसलिए इसका इस्तेमाल आयुर्वेद में दवाएं बनाने के लिए भी किया जाता है!

कुल्थी की दाल इन हिंदी – Horse Gram Origin in Hindi

हॉर्स ग्राम की ओरिजिन उष्णकटिबंधीय दक्षिण-पूर्व एशियाई उपमहाद्वीप और उष्णकटिबंधीय अफ्रीका से हुई है!

भारत में भी प्राचीन समय से ही हॉर्स ग्राम की खेती दक्षिणी भारत के राज्यों में होती आई है!

शुरुआत में Horse Gram को रेस वाले घोड़े के खाने के लिए उगाया जाता था ताकि घोड़े पूरी ताकत से रेस में भाग सके!

लेकिन इसके फायदों को देखते हुए हमारे पूर्वजों ने इसे खुद भी खाना शुरू कर दिया और आज पूरे देश में लोग इसे अंकुरित करके या इसके तरह-तरह के पकवान बना कर खाते हैं!

BP चेक कैसे करें? घर बैठे ब्लड प्रेशर नापने का तरीका, बीपी चेक करने की मशीन को क्या कहते हैं?

हॉर्स ग्राम को हिंदी में क्या कहते है? Horse Gram in Hindi

Horse Gram का हिंदी में meaning कुलथी दाल होता है!

कुलथी दाल को अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नाम से जाना जाता है! इसलिए आप इसके नाम को लेकर परेशान ना होएं!

कुलथी दाल का दूसरा नाम कुर्थी दाल/ हुरली दाल/हुलथी दाल/ हुलग्या दाल/ कोल्लू, मद्रास ग्राम आदि है!

इसके अलावा, Horse Gram का Scientific Name यानी वैज्ञानिक नाम Macrotyloma uniflorum है!

हॉर्स ग्राम के प्रति 100 में कितना प्रोटीन, कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट होता है

Horse Gram Nutritional Value per 100 gram in Hindi

हॉर्स ग्राम के प्रति 100 में कितना प्रोटीन होता है, कितना कैलोरी होता है, कितना कार्बोहाइड्रेट होता है आदि के बारे में चलिए जानते हैं –

  • प्रोटीन – 22 ग्राम
  • फाइबर – 5 ग्राम
  • मिनरल – 3 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट – 57 ग्राम
  • आयरन – 7 मिलीग्राम
  • फास्फोरस – 311 मिलीग्राम
  • कैल्शियम – 287 मिलीग्राम
  • फैट – 0 ग्राम
  • एनर्जी – 321 Ecals

डिप्रेशन क्या है? (Depression in Hindi) अवसाद क्यों होता हैं और डिप्रेशन से बाहर कैसे आए?

हॉर्स ग्राम के फायदेHorse Gram Benefits in Hindi

दोस्तों, बात अगर हॉर्स ग्राम के फायदे (Benefits) की हो तो इसकी लिस्ट काफी लंबी है!

हम यहां आपको हॉर्स ग्राम के कुछ महत्वपूर्ण फायदे (कुलथी दाल के फायदे) के बारे में बताने जा रहे हैं!

  • त्वचा के लिए हॉर्स ग्राम के फायदे हिंदी में
  • बालों के लिए हॉर्स ग्राम के फायदे हिंदी में
  • कुलथी की दाल है पथरी का इलाज
  • वजन घटाने के लिए हॉर्स ग्राम के फायदे हिंदी में
  • मासिक चक्र में हॉर्स ग्राम के फायदे
  • गर्भावस्था के दौरान हॉर्स ग्राम के फायदे
  • पुरुषो के लिए हॉर्स ग्राम के फायदे हिंदी में
  • दिल की बीमारी में हॉर्स ग्राम के फायदे
  • हॉर्स ग्राम के अन्य फायदे हिंदी में

1: डायबिटीज में हॉर्स ग्राम के फायदे

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी के वैज्ञानिकों ने रिसर्च में पाया कि कच्चे हॉर्स ग्राम के बीज, डायबिटीज के मरीजों में भोजन के बाद बढ़े ब्लड शुगर के लेवल को कम करने में मदद करता है!

यह भोजन में पाए जाने वाले कार्बोहाइड्रेट के पाचन की प्रक्रिया को धीमा कर देता है! जिससे शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा में बढ़ोतरी नहीं होती है!

इसलिए डायबिटीज के मरीजों को हर दूसरे दिन खाली पेट या सलाद के साथ हॉर्स ग्राम के रात भर भिगोए गए बीजों को जरूर खाना चाहिए!

2: त्वचा के लिए हॉर्स ग्राम के फायदे हिंदी में (Horse Gram Benefits for Skin in Hindi)

हॉर्स ग्राम में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं! साथ ही इसमें antibacterial और antimicrobial गुण भी पाए जाते हैं जो त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होते हैं!

एंटीऑक्सीडेंट्स की वजह से Horse Gram त्वचा पर असमय पैदा हुई झुर्रियों और fine lines की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करता है!

साथ ही हॉर्स ग्राम skin में हुए इन्फेक्शन (boil), जलन, रैशेज को कम करके त्वचा को नमी देने का काम करता है!

Horse gram की मदद से skin problems को कम करने के लिए इसके बीजों को रात भर पानी में भिगाएं! और अगली सुबह बीजों को पीस कर पेस्ट बना लें!

और त्वचा पर लगाकर 15 से 20 मिनट तक छोड़ दें! फिर ठंडे पानी से चेहरा धो लें!

3: बालों के लिए हॉर्स ग्राम के फायदे हिंदी में (Horse Gram Benefits for Hair in Hindi)

प्रोटीन से भरपूर होने के कारण Horse Gram बालों की चमक बढ़ाने के साथ साथ बालों को घना और मजबूज भी करता हैं!

इसके साथ ही यह बालों की growth को तेज करता है!

4: कुलथी की दाल है पथरी का इलाज

कुलथी की दाल (Horse gram seeds) में ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो किडनी में हुई पथरी (kidney stone) के इलाज में काफी ज्यादा असरदार होते हैं!

ये तत्व पथरी को soluble बना देते हैं, जिससे बड़ी आसानी से पथरी शरीर से बाहर निकल जाता है!

इसके साथ ही अगर आप अक्सर अपने खानपान में कुलथी की दाल को शामिल करते हैं! तो आपको जिंदगी में कभी भी kidney stone की समस्या नहीं होगी!

Migraine क्या होता है? माइग्रेन के लक्षण और घरेलू उपचार क्या होते है?

5: वजन घटाने के लिए हॉर्स ग्राम के फायदे हिंदी में (Horse Gram for weight loss in Hindi)

हॉर्स ग्राम के बीज फाइबर से भरपूर होते हैं इसलिए ये weight loss करने में काफी ज्यादा सहायता करते हैं!

ये बीज हमारे digestive system को एक्टिव रखते हैं, जिसके कारण जल्दी-जल्दी weight loss होने लगता है!

Weight loss करने के लिए आप हॉर्स ग्राम पाउडर, हॉर्स ग्राम पानी, हॉर्स ग्राम सूप आदि का सेवन कर सकते हैं! या केवल हॉर्स ग्राम के कच्चे बीजों को सलाद के साथ भी खा सकते हैं!

6: मासिक चक्र में हॉर्स ग्राम के फायदे (Benefits of horse gram in monthly cycle)

दोस्तों, हॉर्स ग्राम में आयरन की मात्रा काफी अच्छी खासी होती है! इसलिए यह अनियमित मासिक चक्र को नियमित करने में मदद करता है! आयरन की अधिकता के कारण यह body में हीमोग्लोबिन को भी Increase करता है जिसके कारण शरीर में खून बढ़ता है!

7: गर्भावस्था के दौरान हॉर्स ग्राम के फायदे (Benefits of horse gram during pregnancy)

हॉर्स ग्राम को प्रेगनेंसी के दौरान खाने से काफी फायदा मिलता है! क्योंकि इसमें ढेर सारे पोषक तत्व जैसे – आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन आदि होते हैं, जो बच्चे और मां दोनों लिए best होते हैं!

लेकिन during pregnancy ज्यादा मात्रा में इसका सेवन ना क्योंकि ये शरीर में गर्मी पैदा करता है! और प्रेगनेंट महिलाओ के लिए शरीर के अंदर ज्यादा गर्मी होना बच्चे के लिए अच्छा नहीं है!

प्रेगनेंट महिलाएं इसे रात भर भिगाकर या उबालकर या इसका जूस बनाकर या सलाद के रूप में इसे खा सकती हैं!

8: पुरुषो के लिए हॉर्स ग्राम के फायदे हिंदी में (Benefits of horse gram in Hindi for men)

हॉर्स ग्राम में कैल्शियम, आयरन, फास्फोरस और बहुत से जरूरी अमीनो एसिड पाए जाते हैं! जो पुरुषों (male) में स्पर्म की संख्या बढाने में मददगार होते हैं!

कुलथी दाल में पाए जाने वाले ये पोषक तत्व पुरुषों के reproductive organ में ब्लड फ्लो बढाने का काम करते हैं! जिससे उनमें स्पर्म की संख्या में भी बढ़ातरी होती है!

9: दिल की बीमारी में हॉर्स ग्राम के फायदे (Benefits of horse gram in heart disease)

जैसा कि हमने ऊपर भी बताया कि हॉर्स ग्राम में proteins, polyphenols और flavonoids होते हैं! जोकि major antioxidants होते है! इसके अलावा इसमें low fat और कार्बोहाइड्रेट की भी अच्छी मात्रा होती है!

हॉर्स ग्राम में पाए जाने वाले ये सभी पोषक तत्व दिल की बीमारियों को होने से रोकने में काफी ज्यादा मदद करते हैं!

10: हॉर्स ग्राम के अन्य फायदे (Other Benefits of Horse Gram)

ऊपर बताए गए फायदों के अलावा, हॉर्स ग्राम के कुछ अन्य फायदे इस प्रकार से हैं –

  • सर्दी और बुखार ठीक करने में!
  • कब्ज (Constipation) के इलाज में!
  • डायरिया के इलाज में!
  • आँख आना (Conjunctivitis) के ट्रीटमेंट में!
  • बवासीर (Piles) के ट्रीटमेंट में!
  • अल्सर के ट्रीटमेंट में!
  • कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल करने में!
  • लिकोरिया (Leucorrhea) के इलाज में!

हॉर्स ग्राम को कैसे खाएं (How to Eat Horse Gram in Hindi)

हॉर्स ग्राम के बीजों को हमेशा रात भर पानी में भिगाने के बाद या अंकुरित करके या उबालने के बाद ही खाएं!

अगर आप ऐसा नहीं करते हैं, तो यह आपके शरीर में जाने वाले अन्य पोषक तत्वों के absorption को रोक देगा!

Horse Gram कब ना खाएं

दोस्तों, हॉर्स ग्राम शरीर में गर्मी को बढ़ाता है, इसलिए अगर आपको कोई ऐसी बीमारी है, जिसमें शरीर में गर्मी बढ़ने से नुकसान हो सकता है! उसमें Horse Gram को ना खाएं!

हॉर्स ग्राम की विशेषकर इन बीमारियों के दौरान ना खाएं –

  • हाइपर एसिडिटी
  • गैस्ट्रिक अल्सर
  • महिलाएं में अगर पीरियड्स के दौरान हेवी ब्लीडिंग हो!
  • गठिया
  • एनीमिया
  • टीबी

निष्कर्ष  – Conclusion

दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने Horse Gram से जुड़ी सारी जानकारी जैसे – Horse Gram kya hai / kise kahate hain / इसके फायदे क्या हैं, इसे कैसे खाएं और इसे कब ना खाएं के बारे में जानकारी दी!

अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो इस आर्टिकल को जरूरतमंद लोगों के साथ शेयर करें! और Horse Gram से जुड़ा कोई भी सवाल का जवाब जानने के लिए कमेंट करें!

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here