Rate this post

हेल्लो दोस्तोंक्या आप हैं जानते हैं डेट फंड क्या है?(Debt Fund kya hai), डेट फंड कैसे काम करता है? और Types of Debt fund कितने है? तो आज हम आपके अपने इस हिंदी ब्लॉग डेट फण्ड से संबंधित सभी प्रकार के तथ्यों को विस्तार से जानेंगे और समझेंगे!

दरअसल हम Mutual Fund में निवेश तो करते हैं! लेकिन फण्ड मैनेजर निवेशक को How Debt Fund Works की जानकारी नहीं देते हैं जिससे निवेशक के पास विकल्प नहीं होते हैं!

Debt Fund Kya Hai
Debt Fund kya hai 

इससे पहले हमने जाना था Equity Fund क्या है? Equity Fund में कैसे निवेश करें? आपको डेट फंड के बारे मैं जानना बहुत ही आवश्यक है ताकि आप भविष्य में एक अच्छा निवेशक बन सकें!

Types of Debt Fund & Debt Funds Works भी आपके लिए जानना बहुत आवश्यक है!

हालाँकि कुछ निवेशक परेशान भी है! अगर आप थोड़ा असमंजस में किस फण्ड में निवेश करें तो हमारी यह राय होगी आप डेट फंड में निवेश करें!

बहुत लोग Mutual Fund Investment और Share Market Stock Exchange को एक ही समझते हैं!

हम यह भी जानेंगे डेट फंड क्या है?(Debt Fund kya hai), डेट फण्ड कैसे काम करता है और भारत में टॉप 5 Best Debt Funds to Invest in 2022 क्या हैं! तो आगे बढ़ते हैं!

डेट फंड का हिंदी रूपांतरण – Debt Fund meaning in Hindi

Full meaning of Debt Fund in Hindi- डेट फंड का हिंदी में अर्थ ऋण फण्ड होता है। 

डेट फंड क्या हैDebt Fund kya hai 

डेट फंड Mutual fund में Investment की एक प्रकार की केटेगरी हैं जो मुख्य रूप से Fixed Income Securities में निवेश करते हैं और एक निश्चित ब्याज देते हैं!

इसके अंतर्गत रिटर्न की गारंटी भी प्रदान की जाती है! सिकियॉरिटीज की रेंटिंग कम होने पर फंड पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है! 

मुख्यतः Debt Fund सरकारी फर्मो, फिक्स्ड इनकम सिकियॉरिटीज में निवेश करते हैं! जो की बाजार में होने वाले नुकसान से बचते है!

जैसे Treasury Bills. Commercial paper, Corporate bond, Government Securities, Money Market instruments!

डेट फंड में निवेश करने का मुख्य उद्देश्य है। यह Mutual Funds में पब्लिक लिस्टेड कंपनियों में निवेश करती है।

डेट फंड कैसे काम करता है – Debt Fund Kaise Kaam Karta Hai

यह सरकारी कंपनियों में जयादा निवेश करती है! डेट फंड अपनी पूंजी का लगभग 75 प्रतिशत हिस्सा Bond और Bank Deposit में निवेश करता है!

 Fixed Income Securities के तहत पहले से ही डेट फंड फर्म द्वारा यह फिक्स किया जाता है की आपको कितने समय में कितना ब्याज मिलेगा उसकी समय अवधी क्या होगी! डेट फंड में रिटर्न की गारंटी नहीं दी जाती है!  

इसके अंतर्गत Liquid Fund की बात करें तो उसमें 6 से 8% तक रिटर्न मिलने के आसार होते है! यह Short Term और Medium Term Investors के लिए बहुत फायदेमंद है! 

यहां पर Short Term का अर्थ है जो 3 महीने से लेकर 1साल तक निवेश करना चाहते है!

Medium Term निवेश का मतलब है जो 3 साल से लेकर 5 साल तक के लिए निवेश करना चाहते हैं!

डेट फंड कितने प्रकार के होते हैं – Types of Debt Funds

अब आगे जानते हैं! Types of Debt Fund in Hindi डेट फंड को कितने भागों में वर्गीकृत किया गया है!

मुख्यतः डेट फंड 6 प्रकार के होते हैं!

1- Dynamic Bond Fund

डायनेमिक फंड के पोर्टफोलियो को मैनेजर समय समय पर बदलते रहते हैं!

मैनेजर बाजार की हालत का जायजा लेकर ही पोर्टफोलियो में बदलाव करते हैं! यह फण्ड कम समय और लम्बे समय दोनों में निवेश करते हैं।

2- Income Fund

ऐसे फण्ड में निवेश करते हैं जिनका Maturity Period अधिक समय तक का हो!

ये Dynamic Bond Fund के मुकाबले ज्यादा फायदेमंद होते हैं!

इसका एक मुख्य कारण यह भी है की फण्ड मैनेजर का समय समय पर पोर्टफोलियो पर बदलाव करना! 

3- Short & Ultra Debt Fund

इस तरह के फण्ड Short term में निवेश करते हैं! जिनका Maturity Period 1से 3 साल तक हो!

यह नए निवेशकों के लिए काफी फायदेमंद है क्योंकि इसमें आप कम समय में अच्छा रिटर्न पा सकते हैं!

4- Liquid Fund

Liquid fund को मुख्यतः Money Market Fund भी कहा जाता है!

इस तरह के फण्ड में जायदा liquidity मिलती है! जैसे Saving Accounts में मिलने वाले ब्याज के मुकाबले Liquid fund में निवेश किया जा सकता है।

ताकि आपको कम समय मे अच्छा रिटर्न प्राप्त हो सके!

अपनी जरुरत के अनुसार इसमें पैसा निकला भी जा सकता है! इसका एक बड़ा हिस्सा Short Term Investment में निवेश किया जाता है!

5- Gilt Fund

इस तरह के फंड्स सरकारी सिकियॉरिटीज़ में निवेश करते हैं इसमें क्रेडिट रिस्क बहुत कम होता है चूँकि सरकार अधिक मामलों में डिफाल्ट नहीं करती!

फिर भी अत्यधिक मामलों में सरकार भी डेब्ट में डिफाल्टर हो जाती है! ज्यादातर कम आय वाले निवेशक इसमें निवेश करने से दूर ही रहते है!

6- Fixed Maturity Fund

इस तरह के फण्ड में समय निर्धारित किया जाता है! ये कॉरपरेट फण्ड और सरकारी Instruments में ज्यादा निवेश करते हैं!

प्रत्येक FMP के लिए समय के साथ आपकी पूंजी भी बंधित की जाती है!

इसको आप एक Fixed Deposit की तरह मान सकते हैं! इसमें बेहतर रिटर्न की को ज्यादा संभावना नहीं होती है!

डेट फंड में जोखिम कितना होता है – Debt Fund mai Risk Kitna Hota Hai

Risk की बात करें तो इसमें Credit और ब्याज रिस्क होता है! जो की बैंक Fixed Deposit से ज्यादा रिस्की बना देता है!

Bank Manager अधिक रिटर्न के लिए Low Bond में भी निवेश कर सकते हैं!

जिससे डिफ़ॉल्ट होने के आसार बढ़ जाते हैं। इसका ध्यान रखते हुए आप एक अच्छे डेट फंड में ही निवेश करें!

डेट फंड में कितना रिटर्न मिलता हैDebt Fund mai Kitna Return milta Hai

डेट फंड को एक Fixed Income Fund माना जाता है! इसमें रिटर्न की कोई गारंटी नहीं दी जाती है! इकोनॉमी का ब्याज रेट जब बढ़ता है तब डेट फंड की NAV घटती है!

इसके साथ ही आपको बता दें!जब इकोनॉमी घटती है तब Debt Fund  में निवेश करने का सही समय रहता है।

2022 में निवेश करने के लिए 5 बेस्ट डेट फंड – 5 Best Debt Funds to Invest in 2022

  • पराग पारिख लिक्विड फंड
  • आईडीएफसी बैंकिंग और पीएसयू डेट फंड
  • एक्सिस बैंकिंग और पीएसयू डेट फंड
  • क्वांटम लिक्विड फंड
  • आदित्य बिरला एसएल कॉर्प बॉन्ड फंड

डेट फंड में निवेश करने से क्या फायदा होगाDebt Fund mai Nivesh Karne se kya Fyada Hoga

Debt Fund फिक्स डिपॉजिट की तरह ही ब्याज देते हैं किन्तु ये टैक्स में ज्यादा छूट प्रदान करते हैं! Debt Fund में लाभ तब मिलता है जब समयावधि 3 साल से अधिक हो!

Fixed Deposit की तरह इसमें Lock in Period नहीं होता है! आप जरुरत पढ़ने पर निवेश पूंजी को निकाल भी सकते हैं! 

Interest Rate Risk क्या है? 

डेट फंड मे इंटरेस्ट रिस्क बने होते हैं! वैसे तो गवर्नमेंट बांड मे आपको पूरी सिक्योरिटी मिलती है। इसकी वजह यह है की इसमें मार्केट ट्रेडिंग नहीं होता है!

ज्यादा प्रॉफिट पाने वाले फंड मैनेजर इसमें पैसा लगते हैं जो की मार्केट मे ट्रेडिंग ही होता है।

बांड और इंटरेस्ट रेट एक दूसरे के पूरक माने जाते हैं अगर रेट ऑफ़ इंटरेस्ट बढ़ता है तो बांड का मूल्य गिर जाता है और जब बांड का मूल्य बढ़ता है तो रेट ऑफ़ इंटरेस्ट घट जाता है। 

निवेश करने से पहले किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

पहला: इस बात का ध्यान रहना चाहिये! निवेश करने से पहले आपको भली भातिं ज्ञात होना चाहिए आप कितना जोखिम लेने में समर्थ हैं।

जिस में आप निवेश कर रहे है! उस कम्पनी की क्रेडिट रेटिंग से कम्पनी की क्षमता का पता लगाया जा सकता है,

इसलिए कम रेटिंग वाले फर्म रिटर्न तो अच्छा देते हैं। लेकिन उनमें जोखिम भी ज्यादा रहता है!

दूसरा: ध्यान रहे कि एक ही जगह निवेश करने से भी जोखिम बढ़ जाता है! आप सारी जमा की हुई पूंजी एक ही जगह लगा देते है! जिससे आपको नुकसान ज्यादा हो सकता है!

इसलिए डेट फंड में Diversification Rule भी आप अपना सकते हैं!

फण्ड मैनेजर निवेश को एक से जायदा कंपनियों में बाँट दते हैं! जिससे कहीं पर आपको अधिक रिटर्न मिलने की भी संभावना हो जाती है!

तीसरा: इस बात का ध्यान रखना चाहिए! जिसमें आपने निवेश किया है उस कम्पनी के शेयर की बाजार में क्या स्थिति है!

कम्पनी के जारी किये गए शेयर का असर Bond की कीमतों पर नहीं पड़ता लेकिन Bond के मूल्यों पर गिरवाट देखी जा सकती है!   

FAQ:  अक्सर पूछे जाने वाले सवाल 

Q 1. क्या डेट फंड में निवेश करना एफडी से बेहतर माना जाता है?

Ans. एफडी में मिलने वाले रिटर्न में आपको टैक्स चुकाना होता है! जबकि डेट फंड में 3 वर्ष अवधि से अधिक निवेश को Long Term Capital Gains माना जाता है

और 20% की ब्याज रेट से ही Tax देना होता है! डेट फंड अधिक विकल्प भी प्रदान करते हैं!

Q 2. क्या डेट फंड टैक्स फ्री है?

Ans. 1 लाख तक का Long Term Capital Gains टैक्स फ्री है! Short Term में 3 Years तक की अवधि में टैक्स पर छूट नहीं होती है! 

Q 3. क्या डेट फंड में Lock in Period होता है?

Ans. निश्चित परिपक्वता योजनाओं को छोड़कर डेट फंड में Lock in Period नहीं होता है!

जो दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ मिलता है वह 3 साल की अवधि के बाद प्रदान किया जाता है! 

Q 4. क्या ELSS Scheme टैक्स फ्री है?

Ans. ELSS Scheme अब टैक्स फ्री की सुविधा प्रदान नहीं करता है!

आयकर अधिनियम धारा 80c के तहत कर में लाभ लिया जा सकता है! 

इन्हें ही पढ़ें

> शेयर मार्किट में निवेश कैसे करें पूरी जानें जानकारी हिंदी में!

> Equity Fund क्या है? Equity Fund में निवेश कैसे करें?

> Mutual Funds क्या है? Mutual Funds में निवेश  कैसे करें?

> SIP (Systematic Plan Investment) क्या है? इसमें निवेश कैसे करें?

Conclusion [ निष्कर्ष ]

आज के इस हिंदी में हमने जाना Debt Mutual Fund क्या है (Debt Fund kya hai in Hind) (यह कितने प्रकार के होते हैं (Types of Debt Fund).

साथ में हमने समझा Debt Fund meaning in Hindi, डेट फण्ड कैसे काम करता है? और डेट फंड में कितना रिटर्न मिलता है

हमने आपको भारत में कुछ मुख्य डेट फंड के नाम भी बताये (5 Best Debt Funds to Invest in June 2022) जिनमें आप 2022 में निवेश कर सकते हैं!

आशा करता हूँ आपको हमारे इस हिंदी ब्लॉग से महत्वपूर्ण जानकारियां अवश्य प्राप्त हुई होंगी! हमें आपके पूर्ण सहयोग की आवश्यकता है!

आप इस हिंदी ब्लॉग को Subscribe अवश्य करें! ताकि हमें नया उत्साह मिलेगा और आगे हम इसी क्रम में जानकारियां लाते रहें।

- Advertisement -

7 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here