क्या आप जानते हैं इक्विटी फण्ड क्या है – What is Equity Fund Meaning in Hindi, बहुत सारे ऐसे Investment से जुडी हुई जरुरी जानकारियां होती है जिनका हमें मालूम नहीं होता है! अक्सर ये Hidden (छुपे) होते हैं और शायद ही इसी का फायदा हमसे Brokers लेते हैं! Broker द्वारा हमें निवेश से जुडी जानकारियां नहीं बताई जाती है! इसलिए आज हम आपको इक्विटी फण्ड से जुडी जानकारियां इस पोस्ट में बताने वाले हैं!

इससे पहले हमने Mutual Fund और SIP (Systematic Investment Plan) के बारे में विस्तार से बताया था!Equity Fund खासकर कम्पनी के Stocks में निवेश करती है! जिसे अक्सर आम भाषा में Growth Fund भी कहा जाता है! इस तरह के Fund सबसे ज्यादा उपयोग होने वाले Funds होते हैं! 

आज हम जानेंगे Equity Fund in Hindi – शेयर मार्केट में इस तरह के Fund क्या होते हैं, Equity Fund mai Nivesh kaise kare, इक्विटी फण्ड के फायदे क्या हैं- Benefits of Equity Fund, निवेश करने के लिए Top 10 Equity Fund क्या हैं, इक्विटी फण्ड से जुडी हुई और क्या जानकरियां हैं जिन्हे हमें जानना चाहिए!

Equity fund kya hai
Equity Fund Meaning in Hindi

इक्विटी फण्ड क्या है – Equity Fund Meaning in Hindi

Equity Meaning in Hindi- Equity का मतलब होता है किसी भी व्यवसाय का ” स्वामित्व ” पाना! Share Market में किसी कम्पनी पर हक जाताना! उस कम्पनी के शेयर खरीदना! Investing की भाषा में इसे ही Equity कहते हैं! हम यह भी कह सकते हैं कम्पनी के Share को खरीदकर हम Company के Equity को भी खरीद रहे है।

आइये एक उदाहरण के तौर पर समझते हैं 

माना पांच दोस्तों ने मिलकर एक Company start की! पांचों दोस्तों ने उस कम्पनी में दो-दो करोड़ रूपये का Fund लगाया! 10 करोड़ से Business की शुरुआत की। जब कम्पनी का Registration हुआ! उन्होंने कम्पनी को 1 करोड़ Shares में बाँट दिया।

साथ में सभी ने Decide किया सभी लोग कम्पनी में बराबरी से काम करेंगे! इसलिए कम्पनी की हिस्सेदारी को भी सभी ने आपस में डिवाइड किया! इस तरह कम्पनी के हर एक को 20 लाख Shares मिले।

तो यहां पर यह कहा जा सकता है! अभी तक कम्पनी की Founder Ship अभी Company के फाउंडर के पास है! जिसकी total Value 10 करोड़ है।सभी के पास 20 प्रतिशत की Equity है।

कुछ समय बाद कम्पनी को 5 करोड़ की जरुरत हुई! सभी फाउंडर्स ने कम्पनी की 50% Equity यानि 50 लाख शेयर्स को बेचा। और 5 करोड़ की रकम Raise किया! यहां पर कम्पनी ने हर एक लाख पर अपनी 1 प्रतिशत की Equity को बेचा! अगर हम 1 लाख शेयर्स इस कम्पनी के खरीद लें!

तो हम 1 प्रतिशत Equity खरीद लेंगे! हम इस कम्पनी के 1% के बराबर मालिक बन जायेंगे तो इस तरह Equity को समझा जा सकता है!

इक्विटी फण्ड कितने प्रकार के होते हैं – Types of Equity Fund

वैसे तो इक्विटी फण्ड कई प्रकार के होते हैं! कुछ Fund की जानकारी इस पोस्ट में नीचे दी जा रही है! निवेश को कहाँ लगाना है यह इक्विटी Fund Manager पर निर्भर करता है! Fund Manager के अंदर कई ऐसे लोग काम करते हैं जो Manager को Funds से जुडी सलाह देते रहते हैं!

Types of Equity Fund – मुख्यतः Equity Fund 7 प्रकार के होते हैं

1. Large Cap Equity Fund

Large Cap Equity Fund को बड़ी कंनियों में निवेश किया जाता है! यह वह कंपनियां होती है जिनके डूबने के आसार कम होते हैं! यह कंपनियां अच्छी तरह स्थापित हो चुकी होती हैं। यह एक मुख्य वजह है जिससे इस तरह के Equity Fund (Large Cap Equity Fund) कम्पनी में निवेश कर सकते हैं। यह एक तरह से सुरक्षित Equity Fund माना जाता है! जिससे लोग अधिक Risk लेना पसंद नहीं करते है। उन्हें Equity Fund) में अधिक रिटर्न भी मिल जाता है!

2. Mid Cap Equity fund

Mid Cap Equity Fund में मध्यम तरह की कंपनियों के द्वारा ज्यादा निवेश किया जाता है! इसमें कुछ कम जोखिम होता है! इस तरह के Fund में आपको काफी मुनाफा देंगी। यदि कम्पनी आगे चलकर पूर्ण रूप से विकसित हो जाती है तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है!

3. Small Cap Equity fund

Small Cap Equity Fund में छोटी कंपनियों में ज्यादा निवेश किया जाता है! Mutual fund और Share Stock में ज्यादा निवेश होता है इसलिए इसे Small Cap Equity Fund कहा जाता है! छोटी कंपनियों में निवेश होने से इसमें जोखिम भी ज्यादा होता है। यह सिर्फ ज्यादा जोखिम उठाने वाले निवेशकों के लिए है!

4. Sector Equity fund

Sector Fund में निवेश एक ही विशेष सेक्टर या एक विशेष Company में होता है! अन्य Fund के मुकाबले यह ज्यादा जोखिम भरा माना जाता है! जैसे Sector Fund में निवेश Riyal estate सेक्टर में होना! आप अगर Riyal estate में निवेश करने की सोच रहे है! तो आप अपनी पूंजी का कुछ ही हिस्सा निवेश करें! जिससे आपको कोई नुकसान भी तो आप उसे वहन कर लें!

5. ELSS Equity fund

ELSS Equity Fund में आयकर अधिनियम sanction 80 C के तहत कर में छूट दी जाती है! Tax Saving के लिए भी आप इसमें निवेश कर सकते हैं। इसमें Fund तीन साल के Lock in Period के साथ जमा होता है! इसका मतलब आप Lock in Period time 3 साल तक निवेश किये हुए रकम को निकल नहीं सकते हैं!

6. Diversified Equity fund-

Diversified Equity Fund ये Fund सभी तरह के क्षेत्र में निवेश करती है! बड़ी छोटी कंपनियां या फिर विशेष सेक्टर में निवेश करना इसमें प्रतिबंधित है। यह उद्योग के साथ जुडी कम्पनी के साथ भी ज्यादा निवेश करती है!

7. Thematic fund

Thematic Equity Fund में Theme के आधार पर निवेश होता है! जिस तरह HDFC Bank में Housing Board की Themes को आधार बनाकर निवेश किया जाता है!

इक्विटी फण्ड में निवेश कैसे करें (Equity Fund mai Nivesh kaise kare)

Mutual Fund में निवेश करते वक्त इन Fund का चयन करना होता है। Equity Fund में निवेश करने से पहले आपको यह तय करना है! आप कितना जोखिम उठा सकते हैं! क्योंकि अलग अलग Equity Fund में कम या ज्यादा जोखिम होते हैं! अगर आप ज्यादा जोखिम उठा सकते है तो स्मॉल कैप फण्ड में निवेश करिये इसमें आप जयदा मुनाफा कमा सकते हैं!

अगर आप कम जोखिम उठाना चाहते हैं तो आप Large Cap Equity Fund और Mid Cap Equity Fund में भी निवेश कर सकते हैं! Sector Fund में आपको ज्यादा जोखिम रहता यह आप पर निर्भर  करता है! आप इसमें ऑनलाइन भी निवेश कर सकते हैं लेकिन जब आप निवेश में शुरुआत कर रहे हैं तो किसी ब्रोकर के द्वारा ही शुरू करें। इससे आप ऑनलाइन होने वाले नुकसान से बच सकते हैं!  

इक्विटी फण्ड के फायदे क्या हैं – Benefits of Equity Fund

  • Mutual Funds में अन्य Funds की तुलना में Equity फण्ड ज्यादा फायदे मंद है! इसका मुख्य फायदा यह होता है की हमें हमारे निवेश में Transparency “पारदर्शिता”  देखने को मिलती है। इसमें अलग अलग Cap बने हुए है! 
  • कम और ज्यादा जोखिम के अनुसार आप निवेश कर सकते हैं। जोखिम के अनुसार आप ज्यादा रिटर्न भी पास सकते हैं!
  • इक्विटी फण्ड में Company अपनी एक Market Value बनाकर चलती है जिससे निवेशक Long Term तक इस Fund का इस्तेमाल करता है!
  • इसमें अलग अलग कंपनियों में पैसा लगाया जाता है। जिसमें जोखिम कुछ कम हो जाता है। प्रत्येक स्टॉक के निवेश में कम रकम होने पर नुकसान की आंशका कम हो जाती है!
  • इसका सबसे बड़ा फायदा यह है की इसमें निवेश एक अनुभवी व जानकर मैनेजर के हिसाब से होता है! फंड मैनेजर ही छोटी छोटी रकम को इकट्ठा कर बड़े निवेश की तरफ बढ़ने का बेडा उठाते हैं!  
  • इक्विटी फण्ड में कड़ी निगरानी में निवेश होता है! Mutual Funds में Regulator Associate की सभी निवेश पर पैनी निगाह रहती है। निवेश के हर एक जानकरी Regulator को देनी होती है जिससे लोगों के निवेश में अच्छी वृद्धि हो सके! 

इन्हें भी पढ़ें 

Invest करने करने के लिए Top 10 Equity Funds

आइये अब जानते हैं Top 10 equity funds in India 2020-

  1. ICICI Prudential Focus Blue Chip Equity Fund
  2. Aditya Birla Sunlife Small and Mid Cap Fund
  3. Tata Equity PE Fund
  4. HDFC Monthly Income Plan
  5. L and T Tax Advantage
  6. SBI Nifty Index Fund
  7. Cenra Riboco Gilt PGS
  8. Kotak Corporate Bond Fund
  9. DSP Black Rock Balanced Fund
  10. Axis Liquid Equity Fund

Conclusion [ निष्कर्ष ]

आज के इस Hindi पोस्ट में हमने जाना की [ इक्विटी फण्ड क्या है – Equity Fund meaning in Hindi ] इक्विटी फण्ड में निवेश कैसे करें Equity Fund mai Nivesh kaise kare, Equity में Investment करने से हमें क्या क्या फायदे हो सकते हैं!

साथ में हमने जाना Equity Fund कितने प्रकार के होते हैं Types of Equity Fund 2020 में कौन Top 10 Equity Funds हैं (Top 10 Equity Funds in India 2020)

आशा करता हूँ आपको हमारे [ इक्विटी फण्ड क्या है – इक्विटी फण्ड में निवेश कैसे करें ] इस Blog के माध्यम से Equity Fund के बारे में पूरी जानकारियां मिली होंगी! यदि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आयी तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों में जरूर शेयर करे! ताकि उन्हें भी Equity funds में निवेश करने के इस बेहतरीन तरीके के बारे जानकारी हो!

अगर आपके पास इस पोस्ट से संबधित कोई सवाल या सुझाव हो! तो कृपया हमें Comment करके जरूर अवगत कराये! हमारे इस Hindi Blog को Subscribe अवश्य करें! हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है ताकि भविष्य में हम इस तरह की अनेकों जानकारियां लाते रहें!

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here