आपका किसी भी बैंक में खाता है तो फिर आप बैंक से रोजाना Transaction तो करते ही होंगे तो क्या आप जानते हैं MICR Code kya hai वैसे ये बहुत छोटे Terms हैं जो common तो हैं लेकिन इन्हें जानना कई लोग जरूरी नहीं समझते! इन कोड की सहायता से ही Banking work काफी अच्छे से और तेजी से होता है!

इन्हीं कोड की सहायता से हम किसी को पैसा भेज पाते हैं क्योंकि एक तरह से बैंक में आपके जीवन की पूरी कमाई रखी जाती है इसलिए जरूरी है की आप बैंक से जुडी सारी जानकारियां से परिचित रहें!

इस पिछले पोस्ट में हमने जाना था IFSC कोड क्या होता है किसी भी बैंक का आईएफएससी कोड हम कैसे जान सकते हैं? आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे MICR Code क्या होता है MICR Code kya hai in Hindi इसकी फुल फॉर्म क्या होती है Full form of MICR Code और इसे हम कैसे पता कर सकते हैं तो चलिए आगे बढ़ते हैं!

MICR code kya hota hai
MICR Code क्या होता है

Full Form of MICR Code

MICR का Full Form “Magnetic Ink Character Recognition code” है! यह Character Recognition Technology पर आधारित कोड है!

आइये अब आगे जानते हैं: MICR Code kya hai in Hindi

MICR Code क्या होता है MICR Code kya hai in Hindi

MICR 9 डिजिट का एक ऐसा कोड है जिससे बैंक के किसी भी ब्रांच की पहचान की जा सकती है! यह Magnetic Ink से print code होता है! एमआईसीआर का उपयोग Electronic Cheque Clearance में किया जाता है! यह Electronic Clearing System का एक हिस्सा माना जाता है!

जिस तरह किसी भी Net Banking से पैसा भेजते वक्त IFSC Code की जरूरत होती है उसी तरह बैंक के किसी भी cheque को clear होने में यह code अपनी भूमिका निभाता है!

यह कोड Account Holer को बैंक द्वारा issue किया जाता है! डिफरेंट Magnetic Technology Character से इस कोड को print किया जाता है!यह 9 digit का होता है! जब आप डीडी बनाते हैं उसमें भी यह कोड अंकित रहता है! साथ में Pay Order में भी print रहता है! बैंक में यह कोड काफी common होते है अक्सर लोगों को सिर्फ रुपयों के लेनदेन से मतलब होता है! कभी कभी आपके लिए इन code को जानना बहुत जरूरी हो जाता है! 

MICR कोड की शुरआत कब हुई

भारत में यह code 1980 में उपयोग में लाया गया था! शुरुआत में इसका उपयोग चेक Clearance में इसका उपयोग किया जाने लगा! फिर धीरे धीरे इसे unique कोड में बदल कर अन्य उपयोग में भी लाया जाने लगा! आपका बैंक में लगा हुआ चेक सुरक्षित और जल्दी clear हो इसके लिए भी यह उपयोग में लाया जाता है! 

MICR कोड कैसे बनता है

किसी भी चेक को clear करने के लिए चेक को एक Scanning mashin के अंदर डाला जाता है तो यहां पर एक बार कोड के रूप में एमआईसीआर कोड काम करता है! इससे बैंक की पहचान भी हो जाती है! यह कुल 9 डिजिट का नंबर होता है! इसके डिजिट को कोई भी पढ़ सकता है! यह human read digits होती है!

माना किसी बैंक की ब्रांच का MICR कोड- 600-222-005 है! इस कोड में शुरू के 3 डिजिट उस शहर का कोड होता है जिसे city code भी कहा जाता है! 
उसके बाद के 3 Digit उस बैंक का code होता है! 
और आखिरी के 3 Digit बैंक के ब्रांच का code होता है यानि अगर वह एसबीआई बैंक है तो आखिरी के तीन Digit एसबीआई बैंक के ब्रांच के code होंगे!

MICR कोड कैसे पता करें?

MICR कोड जानने के कुछ तरीके बिलकुल साधारण हैं! आपको नीचे दिए गए Steps को फॉलो करना है!

वेबसाइट के माध्यम से 

steps-1 आपको किसी भी search engine पर जाना है और लिखना है MICR code search आगे आप बैंक या ब्रांच का नाम अगर आपको मालूम है तो आप लिख सकते हैं!
steps-2 अब आपको पहली हेडलाइन पर क्लिक करना है उसके बाद आपको बैंक का चुनाव कर लेना है! अब आप नीचे आएंगे तो आपको राज्य और जिले का नाम चुनना है! 
steps-3 जब आप यह चुन लेते हैं तो आपको आगे एंटर करना है! अब आप नीचे देखेंगे आपको MICR कोड प्राप्त हो जायेगा!

यह MICR कोड ऑनलाइन ढूढ़ने की एक साधारण विधि है!

बैंक चेक के माध्यम से 

कभी आप MICR कोड ऑनलाइन न देख पाए तो आप बहुत कम समय में इस कोड को अपने बैंक के चेक से भी प्राप्त कर सकते हैं! यह बैंक चेक के नीचे की तरफ आपको दिख जायेगा! यह code आपके चेक के नीचे सफेद रंग की पट्टी के अंदर रहता है जिसे बैंकिंग भाषा में MICR बैंड कहा जाता है!

डीडी और पेय ऑर्डर के माध्यम से 

जब किसी भी बैंक से आप कोई Demand Draft या फिर कोई Pay Order जारी करवाते हैं तो वहाँ पर इस MICR कोड को आप देख सकते हैं!

तो यह कुछ सरल तरीके थे जिनसे आप इस कोड को प्राप्त कर सकते हैं!

इन्हें भी पढ़ें- IFSC Code क्या होता है? किसी भी बैंक का आईएफएससी कैसे पहचाने!

इन्हें भी पढ़ें- पीएफ क्या होता है! EPFO पेंशन स्कीम क्या होती है!

क्या एमआईसीआर कोड से चेक जल्दी क्लियर हो जाते हैं?

जी हाँ यह बात बिलकुल सही है! पहले Cheque को manual तरीके से clear किया जाता था और clear होने में बहुत वक्त लग जाता था! काफी गलतियां भी हो जाती थी फिर चेक पर MICR कोड प्रिंट किया जाने लगा! इस कोड को Scanning mashian द्वारा read किया जाता है! जिससे कोई गलतियां भी नहीं होती और fast cheque clearing process हो जाता है! 

MICR कोड और IFSC कोड में क्या अंतर है?

बैंकिंग सेक्टर में कोड में निहित अंकों से बैंकिंग कामकाज को करने में बहुत सुविधाएँ मिलती है किन्तु इन सभी codes में बहुत फर्क होता है!

एमआईसीआर कोड 9 Digit से मिलकर बना होता और आईएफएससी कोड 11 Digit से मिलकर बना होता है!

MICR कोड मेग्नेटिक करेक्टर की सहायता से बना होता है जो चेक एक नीचे की तरफ एक बॉक्स के अंदर होता है इसे MICR बेंड कहते हैं! जबकि आईएफएससी कोड एक Finance Pavement System कोड है जो Online Transaction करने में काम आता है!

एमआईसीआर कोड में मेग्नेटिक स्याही उपयोग में लायी जाती है! जबकि आईएफएससी कोड की जरूरत मुख्यतः Neft, Rtgs, Add Bank Account Benificery में होती है! 

इन्हें भी पढ़ें- एनपीए क्या है? कोई भी Loan Amount एनपीए कैसे बनता है?

इन्हें भी पढ़ें- जीएसटी क्या है? जीएसटी कितने प्रकार का होता है? 

MICR कोड और आईएफएससी कोड में कुछ समानता हमें देखने को मिलती है जैसे बैंकों की पहचान करना! आप इन दोनों कोड को online और अपने चेक बुक से प्राप्त कर सकते हैं!

आज हमने क्या सीखा 

आज के इस हिंदी पोस्ट में हमने जाना MICR Code क्या होता है MICR Code in Hindi इसकी फुल फॉर्म क्या होती है (Full form of MICR Code) कैसे हम इसको पहचान सकते हैं और कैसे हम इसको प्राप्त कर सकते हैं!

साथ में हमने जाना MICR कोड और IFSC कोड में क्या अंतर् है! इस जानकारी से सम्बंधित कोई भी सुझाव हो तो आप अवश्य दें!

आशा करता हूँ आपको आज के इस post से बहुत कुछ जानने और सीखने को मिला होगा! आप हमारे इस पोस्ट को शेयर कीजिये! अपने दोस्तों रिश्तेदारों तक पहुंचाएं और हमारे इस Hindi Blog को Subscribe करना न भूलें!

आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here