क्या आप जानते हैं मास कम्युनिकेशन क्या है? (Mass Communication in Hindi). मास कम्युनिकेशन कोर्स कैसे करें! इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप आसानी से किसी भी मीडिया, न्यूज़ एजेंसी, विज्ञापन कंपनी में आसानी से एक अच्छी नौकरी पा सकते हैं! इस लेख में हम मास कम्युनिकेशन के बारे में विस्तार से जानने वाले है!

अधिकतर छात्र 10 वीं और 12 वीं कक्षा पास करने के बाद ऐसे कोर्स की तलाश करते हैं ताकि उन्हें आसानी से एक अच्छी नौकरी मिल सके! यदि आप भी ऐसे किसी कोर्स को करना चाहते हैं तो मास कम्युनिकेशन आपके लिए एक बेहतर विकल्प हो सकता है! 

दरअसल, मास कम्युनिकेशन से आप किसी बुक, न्यूज़ पेपर, मैगजीन, या फिर रेडियो स्टेशन के लिए काम कर सकते हैं और समाज में चल रही कई अव्यवस्थाओं के खिलाफ आवाज उठाने में मदद कर सकते हैं! तो चलिये आगे बडते है और जानते है Meaning of Mass Communication in Hindi.

mass communication in hindi

मास कम्युनिकेशन हिंदी मीनिंग – Meaning of Mass Communication in Hindi

Mass Communication का हिंदी में अर्थ जनसंचार होता है! अंग्रेजी में इसे मास मीडिया भी कहा जाता है! जनसंचार को किसी भी संघठन द्वारा प्रयोग में लाना व्यापक या अधिक प्रभावकारी माना जाता है!

कोई भी कार्य समाज के हित में है या समाज के अहित में, यह जनसंचार या जनसम्पर्क के माध्यम से बेहतर समझा जा सकता है! 

मास कम्युनिकेशन क्या है – What is Mass Communication in Hindi 

Mass Communication एक ऐसा प्रोसेस है जिसमें कोई एक संघठन बहुत अधिक जनसंख्या तक संचार व्यवस्था को स्थापित करती है! इसे जनसम्पर्क या लोकसंपर्क भी कहा जाता है! इसमें संचार व्यवस्था टीवी चैनल, अख़बार, Websites, और सोशियल मिडिया होते हैं! समाज की बात एक बड़े वर्ग तक पहुँचाना ही मास कम्युनिकेशन है! 

जनसंचार लोकतंत्र यानि मास कम्युनिकेशन के सभी पहलुओं के सफल संचालन के लिए बहुत ही आवश्यक माना जाता है! आज के समय में लोग मास कम्युनिकेशन और जर्नलिज्म को एक जैसा ही मानते हैं! किन्तु ऐसा नहीं है मास कम्युनिकेशन का दायरा बहुत बड़ा होता है!

मास कम्युनिकेशन में रेडिओ, टीवी, फिल्म प्रोडक्शन, सामाजिक रिश्ते और प्रचार जैसे संचार के साधन शामिल हैं जबकि जर्नलिज्म में रिपोर्टिंग, पब्लिशिंग और एडिटिंग शामिल है!

इन दोनों का कोर्स एक साथ ही होता है! हालाँकि ये दोनों मिडिया से जुड़े एक सिक्के के दो पहलु माने जाते हैं! 

किसी भी चीज के विस्तार को फैलाने के लिए जनसंचार की ही आवश्यकता होती है चाहे वो कृषि से जुड़ा हो या फिर किसी उद्योग के प्रचार प्रसार से!

पहले के समय में लोगों की रूचि या मंशा जांनने के लिए राजा अपने गुप्तचरों को भेजते थे! और गुप्तचर शिलालेखों और ताम्रपत्रों पर लोगों के विचार लिखकर राजा तक पहुंचाते थे! फिर राजा द्वारा अपना आदेश भोजपत्रों पर लिखकर जनता को सुनाया जाता था! 

धीरे धोरे जब विज्ञानं का नया युग आया तो सब बदलने लग गया और जनसंचार के माध्यम रेडियो, समाचार पत्र, किताबें इत्यादि बनने लगे! समाचार पत्र को आज भी Mass Communication का एक मुख्य अंग माना जाता है! 

मास कम्युनिकेशन कोर्स क्या है – Mass Communication Course in Hindi

Mass Media एक ऐसा कोर्स है जिसके अंतर्गत टीवी रेडियो, इवेंट मैनेजमेंट, सामाजिक संबंध, मार्केटिंग, ऑनलाइन विज्ञापन का अध्ययन कराया जाता है! 

मास कम्युनिकेशन कोर्स करने के लिए Creativity, Good Communication Skills, Command Language, Writing Ability, Networking Skills, Research Skills और Problem-Solving Skills का होना बहुत ही जरूरी है! 

अगर आपको लोगों से बात करना अच्छा लगता है उनकी राय को जानने में आप Interest रखते हैं तो आप 12th पास करने के बाद आप इस कोर्स को कर सकते हैं!

यह कोर्स अंडर ग्रेजुएशन और ग्रेजुएशन पूरा करने की बाद भी किया जा सकता है! मास कम्युनिकेशन में मास्टर डिप्लोमा के लिए ग्रेजुएशन और Diploma Course के लिए 12वीं पास होना आवश्यक है! 

मास कम्युनिकेशन कोर्स कौन से है – Mass Communication Course in Hindi

Mass Communication में कई कोर्स ऐसे हैं जिनसे आप अपने स्किल्स को और भी मजबूत कर सकते हैं आइये कुछ कोर्स के नाम जान लेते हैं –

पत्रकारिता और जनसंचार में डिप्लोमा (Diploma in Journalism & Mass Communication)
पत्रकारिता और जनसंचार में स्नातक (Bachelor in Journalism & Mass Communication)
पत्रकारिता में स्नातक (Bachelor of Journalism)
जनसंचार में स्नातक (Bachelor of Mass Communication)
पत्रकारिता और जनसंचार के मास्टर (Master of Journalism & Mass Communication)
प्रसारण पत्रकारिता में स्नातक (Bachelor in Broadcast Journalism)
ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म में मास्टर (Master in Broadcast Journalism)
पत्रकारिता और जनसंचार में पीजी डिप्लोमा (PG Diploma in Journalism & Mass Communication)
विज्ञापन और जनसंचार में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (PG Diploma in Advertisement & Mass Communication)
प्रिंट पत्रकारिता और न्यू मीडिया (Print Journalism and New Media)
सर्टिफिकेट कोर्स एनिमेशन टैक्नोलॉजी (Certificate Course Animation Technology)
फिल्म मेकिंग कोर्स (MAF-Film Making Course)
डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी इन मीडिया स्टडीज (Doctor of Philosophy in Media Studies)

मास कम्युनिकेशन के स्किल्स में डिप्लोमा की Degree 2 साल की होती है! इसमें Bachelor और Master Degree का समय 3 और 2 वर्ष का होता है जिसमें कुल 6 सेमिस्टर होते हैं!

12 वी आपने किसी भी स्ट्रीम से पास की हो तो आप अपने स्किल्स के अनुसार मास कम्युनिकेशन का कोर्स बड़ी आसानी से कर सकते हैं! इसके लिए 12 वी में 40 % अंकों के साथ पास होना आवश्यक है! 

मास कम्युनिकेशन कोर्स कैसे करें – Mass Communication Course Kiase kare

Mass Communication Curse में प्रवेश पाने से पहले ऑनलाइन एक एंट्रेंस एग्जाम देना होता है! जिसमें उम्मीदवार की शैक्षिक योग्यता को परखा जाता है! उसके बाद ही उम्मीदवार को मास कम्युनिकेशन कोर्स के लिए प्रवेश मिलता है! इसके लिए आप अपने अनुसार भाषा को चुन सकते हैं! 

इस कोर्स को लोग अधिकतर हिंदी में करना पसंद करते हैं! इसका कारण है लोगों से सम्पर्क करने के बाद उनके विचारों को सहज भाषा में सभी लोगों तक पहुँचाना! जिसमें हिंदी सबसे सहज भाषा मानी जाती है! 

मास कम्युनिकेशन कोर्स को करने से पहले आपको मानसिक रूप से मजबूत होना होगा! इस कोर्स में भी कई चीजें आपको ऐसी बताईं जाती है जो आपको समाज में बोलना और सत्यता को जांचना सीखा देती है!

आप Mass Communication में एंट्रेंस एग्जाम के लिए किसी भी पत्रकारिता या मास Media Collage की Website पर जाकर Apply कर सकते हैं! 

भारत में कुछ टॉप Mass Communication Institutes और Collages 

S.NoCollage NameLocation
1Anwar Jamal Kidwai Mass Communication Research CentreDelhi
2Xavier Institute of CommunicationMumbai
3Symbiosis Institute of Media & CommunicationPune
4Indian Institute of Journalism & New Media, BangaloreBangalore
5Amity School of CommunicationNoida
6NSHM Institute of Media & DesignKolkata
7School of Communication, ManipalManipal
8Department of Communication, HyderabadHyderabad

1. Anwar Jamal Kidwai Mass Communication Research Centre – यह Collage दिल्ली में है! इसकी स्थापना 1982 में की गयी! यह कॉलेज जन संचार प्रोग्राम्स पेश करने में नंबर वन कॉलेज है! 

2. Xavier Institute of Communication यह Institute मुंबई में है इसकी स्थापना 1969 में की गयी थी! इसमें Placement जैसी सुविधाओं का लाभ लिया जा सकता है! Mass Media से जुड़े सभी कोर्स इस कॉलेज से किये जा सकते है! 

3. Symbiosis Institute of Media & Communication – यह Collage पुने में है! इसे 1990 में बनाया गया! यह Symbiosis International University का एक हिस्सा है! Course के बाद यहां से प्लेसमेंट के जरिये Zee Group में या Times Now जैसी कंपनियों में जॉब मिल जाती है! 

4. Indian Institute of Journalism & New Media, Bangalore – यह इंस्टीटिटूटे बैंगलोर में है! इसमें एडमिशन के लिए IIJNM aptitude test and personal interview पास करना होता है! इस कॉलेज को 2001 में बनाया गया था! 

5. Amity School of Communication – यह Mass Media Institute नोएडा, उत्तर प्रदेश में है! इसे 1999 में बनाया गया! इसमें एडमिशन के लिए पहले Amity Written Entrance Exam को क्लियर करना होता है! Placement के जरिये इस कॉलेज से Course करने के बाद मिडिया के बड़े Groups में जॉब मिल सकती है! 

6. NSHM Institute of Media & Design – यह Mass Communication Collage कोलकाता में है! इसे 1996 में बनाया गया था! इस कॉलेज से BSC in Media Science और MSC in Media Science किया जाता है! 

7. School of Communication, Manipal – यह Manipal University के अंतर्गत आने वाला कॉलेज है! इसमें एडमिशन के लिए MU-OET Entrance Exam को clear करना होता है! 

8. Department of Communication, Hyderabad – यह कॉलेज Hyderabad of University के अंतर्गत आता है! यह हैदराबाद के Sarojini Naidu School of Arts Communication Center में स्थित है! Print Journalism और Media Studies के लिए यह कॉलेज बहुत बेहतर माना जाता है! 

इन सभी कॉलेज के अलावा आज के समय में कई Mass Communication के कई छोटे और बड़े Institutes खुल चुके हैं! ये Institutes आपको छोटे और बड़े शहरो में मिल जायेंगे जहां आप Online Admission ले सकते हैं!

आपको Google पर जाकर Collage और उनकी Website आसानी से मिल जायेंगे! 

जहां तक Mass Communication Course में Fees की बात आती है तो यह मिनिमम 1 लाख से 1. 5 लाख के बीच में सालाना होती है! यह Course और उसकी समय अवधि के साथ कॉलेज पर भी निर्भर करता है! Mass Media Course पूरा होने के बाद 15 से 20 हजार की शुरआती नौकरी आप पा सकते हैं! 

इन्हें भी पढ़ें 

निष्कर्ष – Conclusion

आज के इस हिंदी लेख में हमने Mass Communication क्या है? मास कम्युनिकेशन कोर्स कैसे करें (Mass Communication kaise kare) और साथ ही Meaning of Mass Communication in Hindi, भारत में कुछ टॉप Mass Communication Institute और Collage कौन से है? के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की!

उम्मीद है आपको आज के इस आर्टिकल (Mass Communication in Hindi) से Mass Communication Course के बारे में बहुत कुछ जानने को मिला होगा! अगर आपके पास इस पोस्ट से संबधित किसी प्रकार का कोई प्रश्न या सुझाव हो तो हमें Comment Box में Comment करके जरूर बताये!

और पोस्ट को Social Media मिडिया (WhatsApp, Facebook, Instagram, Twitter Etc.) पर जरूर Share कीजिये!

इस लेख को पूरा पढ़ने हेतु आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here