5/5 - (1 vote)

Top 10 Moral Short Stories in Hindi | बच्चों के लिये छोटी कहानियाँ हिन्दी में | Short Stories in Hindi | पारियों की कहानियाँ | दादी की कहानियाँ | नानी की कहानियाँ | बच्चों के लिए कहानियाँ | कहानियों से सीखे अच्छी बातें

नमस्कार दोस्तो, बचपन मे आपने भी अपनी दादी की कहानियाँ और नानी से राजा-रानी और पारियों की कहानियाँ तो जरूर सुनी होंगी! लेकिन जब से फोन और कम्प्युटर आए है तब से यह सिलसिला काफी कम हो गया है! लेकिन आज हम आपके बचपन के दिनो को फिर से याद दिलाने के लिए कुछ रोचक और मज़ेदार Top 10 Moral Short Story In Hindi लेकर आये है! जिनसे आपको बचपन की यादों के साथ साथ बहुत कुछ सीखने को मिलने वाला है!

आज के समय मे इन रोचक Short Story और दादा- दादी की कहानियो को बड़े बड़े Motivational Speakar अपने महंगे महंगे सेमीनारों मे लोगो को motivate करने के लिए सुनाते है! इसलिए यदि आप अपने ज़िंदगी मे दादी और नानी की इन प्यारी से कहानियो से motivate होना चाहते है तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े!

एक समय था जब हम अपने घरो मे अपने दादा दादी से देर रात तक कहानियाँ सुनते थे! लेकिन आज ऐसा दिन भी आ गया की जब हमारे बच्चे हमसे दादा दादी की कहानिया पूछते है तो हमे उनको सुनाने के लिए एक भी कहानी याद नही होती है!

यदि आपके अपने बच्चों भी आपसे कहानी सुनाने की जिद करते है तो आप हमारे इस लेख मे दी गयी रोचक कहानियों को पढ़कर अपने बच्चों को सुना सकते है!

तो चलिये आगे बढ़ते है और आज के इस लेख मे दी गयी प्यारी प्यारी Top 10 Moral Short Stories in Hindi  और रोचक कहानियों को पढ़ते है!

Short Stories in Hindi

कहानी विडियो देखने के बजाय क्यों कहानी को पढ़ना चाहिये?

दोस्तों, बच्चों मे किए गये एक सोध के अनुसार, यह माना गया है की किसी भी कहानी की विडियो देखने से आपके बच्चे की सोचने और समझने की क्षमता कम होती है या फिर बच्चे की सोचने की क्षमता का विकाश नही हो पाता है!

क्यूकी बच्चे का पूरा ध्यान विडियो मे दिखाई देने वाले चित्रो मे होता है! और जिस कारण से बच्चा अपने दिमाग मे कहानी को समझने की कोशिश ही नही करता है!

जबकि, इसके विपरीत यदि आपका बच्चा कहानियों को किताबों मे पढ़ता है या फिर रेडियो और टेप रिकॉर्ड!र के माध्यम से कहानियों को सुनता है तो उसके सोचने और समझने की क्षमता का विकास बहुत तेजी से होता है! क्यों की कहानियों को पढ़ने से या फिर सुनने से आपका बच्चा उस कहानी को अपने दिमाग मे Imagine करना शुरू करता है!

वेसे अपने भी यह कई बार अनुभव किया होगा की जब हम किसी कहानी को पढ़ते है! या फिर रेडियो मे सुनते है तो हम अपने दिमाग मे उस कहानी की कल्पना करने लगते है! और तो और उस कल्पना मे किरदार भी हमारी पसंद के होते है!

लघू कहानियाँ हिन्दी में बच्चों के लिये – Top 10 Moral Short Stories in Hindi for Kids 2022

इस लेख मे बच्चों के लिये छोटी कहानियाँ हिन्दी में बताई गयी है! और ये सभी नतिक शिक्षा, और ज्ञान के आधार पर शीर्ष कहानियाँ है! हमें विश्वास है की ये सभी Stories in Hindi आपके बच्चों के लिये जीवन मे बहुत अच्छा सीखने को प्रेरित करने वाले है!

इसके साथ ही ये कहानियाँ पढ़ने से आपके बच्चों मे समझ और नैतिकता का ज्ञान प्रवाहित होना निश्चित है! जो बच्चों की इस दुनिया को समझने मे मदद करता है! बदलते वक्त मे फिर से दादी-नानी की कहानियाँ पढ़ने के लिये चलिये आगे बढ़ते है!

1. कौवा या मोर कौन ज्यादा खुश किस्मत Short Stories in Hindi

एक समय की बात है एक जंगल में एक कौवा रहा करता था! वह अपने काले रंग से हमेशा दुखी रहता था! जब भी वह रंग-बिरंगे और खूबसूरत पक्षियों को देखता तो उसके मन में यही विचार आता कि “काश मैं भी इनकी तरह खूबसूरत होता”!

उसने अपने इस विचार को अपने दोस्त तोते के साथ साथ सांझा किया! जिस पर तोते ने उसे यह सुझाव दिया कि इस दुनिया का सबसे रंगबिरंगा पक्षी मोर है! इसलिए इस बारे में उसे मोर से बात करनी चाहिए!

Short Stories in Hindi

जब कौवा अपने इस विचार को लेकर मोड़ के पास गया तब मोर ने उसे कहा, “दोस्त तुम इस दुनिया के सबसे भाग्यशाली पक्षी हो! शायद तुम्हें नहीं पता है कि खूबसूरती के साथ कैद भी आती है! सभी खूबसूरत पक्षियों को पिंजरे में कैद कर लिया जाता है और उनसे उनकी आजादी छीन ली जाती है! जबकि तुम हमेशा आजाद होकर खुले आसमान में उड़ सकते हो”!

मोर की बात सुनते ही कौवे को अपनी गलती का एहसास हो गया और वह खुशी-खुशी घर वापस लौट आया!

इस कहानी से मिली सीख – Moral of the Stories in Hindi

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि “कभी भी खुद की तुलना दूसरों के साथ नहीं करनी चाहिए और आपके पास जो भी है उससे खुश रहना चाहिए”! भगवान ने हर किसी को अलग और अद्भुद बनाया है!

2. आलसी लड़का – Short Stories in Hindi

एक समय की बात है, राहुल नाम का एक 5 साल का लड़का बहुत आलसी हुआ करता था! राहुल इतना ज्यादा आलसी था कि वह स्कूल से घर आने के बाद ना ही अपने धोता था और ना ही कपड़े बदलता था! वह बस ज्यादा से ज्यादा समय सोने में बिताता था!

Short Stories in Hindi

एक दिन राहुल ने देखा कि उसके बगीचे में मौजूद आम के पेड़ पर खूब ढेर सारे आम लगे हुए हैं! राहुल को भूख लगी थी, इसलिए उसने सोचा कि “चलो आज आम खाया जाए”, लेकिन उसे इतना ज्यादा आलस आ रहा था कि वह आम के पेड़ पर चढ़कर आम तोड़ना नहीं चाहता था!

इसलिए वह आम के पेड़ के नीचे जाकर लेट गया और आम के नीचे गिरने का इंतजार करने लगा! इंतजार करते करते पता नहीं कब राहुल को नींद आ गई! राहुल सो गया और सपने देखने लगा, लेकिन तभी उसे यह एहसास होता है कि किसी ने उसके सिर पर बैट से काफी जोरदार फटका मारा है!

Photoshop क्या है? फॉटोशॉप से फोटो Edit कैसे करें?

चौक कर राहुल की आंख खुल जाती है और फिर वह देखता है कि उसके सिर पर बैट नहीं, बल्कि एक साथ दो आम के गिरने की वजह से काफी ज्यादा सूजन आ चुकी होती है! राहुल को उसके आलस की सजा मिल चुकी होती है, और फिर वह कसम खाता है कि वह दुबारा कभी भी आलस नहीं करेगा!

शार्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी – Moral of the Stories in Hindi

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि “आलस करने से सभी काम बिगड़ जाते हैं”! इसलिए हमे कभी भी आलस नही करना चाहिये!

3. शेर और चूहा – Short Stories in Hindi

एक बार की बात है, जब एक शेर को खाने के लिए कोई भी बड़ा जानवर नहीं मिलता है तो वह खाने के लिए एक चूहे को पकड़ लेता है! शेर जैसी ही चूहे को खाने वाला होता है,चूहा तुरंत गिड़गिड़ाना शुरू कर देता है और शेर से कहता है कि “मैं तो बहुत छोटा हूं! मुझे खाने से तुम्हारा पेट भी नहीं भरेगा! अगर तुम आज मुझे छोड़ देते हो तो, मैं भविष्य में तुम्हारी मदद जरूर करूंगा!”

चूहे की बात सुनकर शेर को हंसी आ जाती है और वह बोलता है कि “तुम्हारे जैसा छोटा सा चूहा मेरी क्या मदद कर सकता है! लेकिन चलो तुम इतना ज्यादा गिड़गिड़ा रहे हो तो मैं तुम्हें छोड़ देता हूं!”

Short Stories in Hindi

कुछ दिनों बाद उसी जंगल में एक शिकारी आता है और शेर उसके बिछाए जाल में फंस जाता है! शेर जाल से निकलने की बहुत कोशिश करता है, लेकिन वह खुद निकल नहीं पाता है! जिसके बाद शेर मदद के लिए दहाड़ लगाना शुरु करता है! लेकिन क्योंकि सभी जानवर शेर से काफी ज्यादा डरते हैं इसलिए कोई भी शेर की मदद करने नहीं जाता है!

पर जैसे ही चूहे को किस बात की खबर लगती है, वह तुरंत ही दौड़कर शेर के पास आता है, और जाल को काटना शुरू कर देता है! लगभग आधे घंटे के अंदर चूहा पूरे जाल को अपने दांतों से काटकर शेर को आजाद कर देता है!

शेर चूहे का शुक्रिया करता है और वह, चूहे से यह वादा करता है कि अब वह कभी भी किसी चूहे को नुकसान नहीं पहुंचाएगा!

शार्ट मोरल स्टोरी इन हिंदी – Moral of the Story in Hindi

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि “हमे कभी भी छोटों को खुद से कम नहीं समझना चाहिए!” भगवान ने एक चिटी को भी इतनी ताकत दी है की वह हाथी जैसे विशालकाय जानवर को भी मार सकती है! आगे हमने हाथी और चिटी की कहानी भी सुनाई है!

4. गरीब की दिवाली – Short Stories in Hindi

काफी सालों पहले की बात है, गरीब राकेश अपनी बीवी सुधा और पांच साल की बेटी टीना के साथ एक झोपड़ी में रहा करता था! राकेश पेशे से मोची था, और दिन भर में उसकी बस इतनी ही कमाई होती थी, जिससे उस दिन उसके खाने पीने की व्यवस्था हो सके!

दिवाली का दिन आने वाले था, और राकेश की बेटी टीना अभी से जिद करने लगी थी, इस दिवाली उसे नए कपड़े खिलौने और खूब ढेर सारी मिठाइयां चाहिए!

राकेश अपनी बेटी को यह सारी चीजें देना तो चाहता था लेकिन इसके लिए, उसके पास एक भी पैसे नहीं थे! दिवाली का दिन बिल्कुल पास आ गया, और दिवाली के ठीक एक दिन पहले राकेश दुखी मन से काम पर निकला!

राकेश अभी रास्ते में जा ही रहा था, कि तभी उसे एक घायल लड़की दिखाई देती है! जिसकी कार का एक्सीडेंट हो चुका होता है! उस लड़की की गंभीर हालत को देखते हुए, कोई भी उसकी मदद के लिए आगे नहीं आ रहा था! राकेश ने जैसे ही उस लड़की को देखा, वह तुरंत मदद के लिए आगे बढ़ा, और उस लड़की को अपनी गोद में उठाकर हॉस्पिटल ले गया!

उस लड़की की जान बच गई, और इसके बाद राकेश जैसे ही, अपने घर जाने लगा, सामने से उस लड़की के पिता आ गए! वे उस शहर के सबसे अमीर इंसान थे! राकेश उनको देखकर काफी घबरा गया! लेकिन उन्होंने, बड़ी सादगी के साथ राकेश का धन्यवाद करते हुए ये कहा कि, “अगर आप ना होते, तो शायद आज मैं अपनी बेटी को खो देता”!

इस पर राकेश ने कहा, “इसमें धन्यवाद की क्या बात है, आपकी बेटी भी, मेरी बेटी की तरह ही है! इसके बाद उस लड़की के पिताजी ने कहा, “तो बस आज से आप हमारे यहां चौकीदार की नौकरी करेंगे, और मैं 15,000 रुपए महीना सैलरी भी दूंगा! मुझे आपकी आर्थिक स्थिति के बारे में सब कुछ पता चल चुका है!

अब आप हमारे यहां नौकरी करेंगे!” साथ ही उन्होंने, राकेश को 5000 रुपए एडवांस भी दिए, और इस तरह से राकेश को उसके मदद करने का इनाम मिल गया!

इस कहानी से मिली सीख – Moral of the Stories in Hindi

इस मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि “हमे कभी भी दूसरों की मदद करने से पीछे नहीं हटना चाहिए!” दूसरों की मदद करने से भगवान खुश होते है और यदि आप हमेशा दूसरों की मदद करते है तो जरूरत पड़ने पर आपकी मदद के लिए भी भगवान किसी ना किसी को जरूर भेजता है!

5. हाथी और चींटी – Short Stories in Hindi

एक समय की बात है, जंगल में गज नाम का एक बदमाश हाथी रहा करता था! अपने बड़े आकार के कारण वह हाथी, सभी छोटे जानवरों को परेशान किया करता था! जंगल की लगभग सभी जानवर उस से तंग आ चुके थे, और उन्होंने फैसला किया कि अब वे उस जंगल को छोड़कर दूसरे जगह पर रहने चले जाएंगे!

जानवरों की यह बात, जब चींटी के पास पहुंची तो उसे बहुत दुख हुआ! चींटी अपने दोस्तों को खोना नहीं चाहती थी, इसलिए उसने हाथी को सबक सिखा सिखाने का फैसला किया!

एक दिन जब गज हाथी जंगल के रास्ते गुजर रहा था, तब चींटी चुपके से उसके सूंड में घुस गई और अंदर जाकर उसे ज़ोर ज़ोर से काटने लगी! हाथी को तेज दर्द होने लगा, और उसकी आंखों से आंसू निकलने लगे! हाथी दर्द में चिल्लाने लगा “कोई मदद करो, कोई मदद करो”, लेकिन कोई भी जानवर उसकी मदद के लिए सामने नहीं आया!

सभी जानवर सामने खड़े होकर तमाशा देखते रहे! अब हाथी समझ चुका था कि उसकी बदमाशी की वजह से कोई भी जानवर उसकी मदद करने के लिए आगे नहीं बढ़ रहे हैं! इसके बाद हाथी ने तुरंत सभी जानवरों से माफी मांगी और उन्हें अपनी मदद के लिए आने को कहा!

हाथी की माफी की बात सुनते ही, चींटी उसके सूंड से बाहर निकल गई और हाथी को कहने लगी की “अगली बार से अगर तुमने जंगल के किसी भी जानवर को परेशान किया तो मैं तुम्हें इसी तरह सबक सिखाऊंगी!”

तो फिर हाथी को अपनी गलती का एहसास हो चुका था और उसने चिटी से अब आगे से किसी भी जानवर को परेशान नही करने का वादा किया!

इस कहानी से मिली सीख – Moral of the Stories in Hindi

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि “हमें कभी भी किसी को बेवजह परेशान नहीं करना चाहिए!” इसलिये हम उम्मीद करते है की आप किसी को भी किसी वजह के परेशान नही करेंगे! चलिये इसके बाद वाली कहानी Short Stories in Hindi को पढ़ते है!

6. शेर और चालक खरगोश – Short Stories in Hindi

एक समय की बात है, जंगल में एक शेर रहा करता था! वह हर दिन अपने खाने के लिए दो से तीन जानवरों को मारता है! शेर की इस हरकत से परेशान होकर सभी जानवरों ने फैसला किया कि वह खुद ही रोज एक एक करके शेर के पास चले जाएंगे! इस तरह से रोज कम से कम, एक ही जानवर की मौत होगी!

सभी जानवरों ने साथ मिलकर जब शेर को यह बात बताई, तो शेर इसके लिए तैयार हो गया! शेर ने सोचा कि उसे घर बैठे बिठाए शिकार मिल जाएगा, तो शिकार ढूंढने में मेहनत नहीं करनी पड़ेगी!

इस तरह से रोज एक – एक जानवर, शेर के पास जाता रहा, और फिर एक दिन खरगोश की बारी आई! खरगोश ने अपनी जान बचाने के लिए और शेर को मारने के लिए एक उपाय सोचा! जिस दिन उसे जाना था, उस दिन वह बिल्कुल शाम के वक्त शेर के पास पहुंचा!

सुबह से भूखा शेर खरगोश को देखकर चिल्ला उठा, “तुम सुबह से कहां थे”! इस पर खरगोश ने बड़ी मासूमियत से कहा, “हुजूर मैं तो सुबह ही आ रहा था लेकिन दूसरे शेर में मुझे यहां आने से रोक दिया”! दूसरे शेर की बात सुनकर इस शेर को काफी गुस्सा आया और उसने बोला “चलो मैं देखता हूं दूसरा शेर कौन है!

खरगोश शेर को कुएं के पास ले गया और उसने कहा “दूसरा शेर इसी में के अंदर रहता है!” इस पर शेर ने जब कुएं के अंदर झांक कर देखा तो उसे अपनी ही परछाई नजर आई! लेकिन वह इस बात को समझ नहीं सका और उसे लगा कि कुएं के अंदर दूसरा शेर बैठा हुआ है!

शेर ने कुएं के अंदर झांक कर दहाड़ा, तो उसे भी वापस दहाड़ ने की आवाज सुनाई दी! दहाड़ की आवाज सुनकर, शेर को काफी गुस्सा आया और वह कुएं के अंदर मौजूद शेर से लड़ाई करने के बारे में सोच कर कुएं के अंदर ही कूद गया, और इस तरह से कुएं के अंदर गिरते ही शेर की मौत हो गई!

इस कहानी से मिली सीख – Moral of the Stories in Hindi

इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि “आप अपनी बुद्धि से किसी को भी हरा सकते हैं”! हो सकता है की आप अभी छोटे है लेकिन बहुत अधिक बुद्धिमान है! इसलिये बुद्धिमान बनिये, फिर आप जिसे चाहेंगे उसे हरा सकते है!

हमने क्या सीखा – Conclusion

दोस्तों, आज के इस प्यारे से हिन्दी (Short Stories in Hindi) ब्लॉग से हमने अपनी बचपन की यादों को ताजा करते हुए रोचक दादा-दादी की कहानियाँ और नाना-नानी की कहानियों को पढ़ा! और इस लेख से हमने कोशिश की की आप लोगो को अपने बचपन के दिन याद रह सके और आप अपने छोटे छोटे बच्चों को अपनी ये कहानियाँ सुना सकों!

तो आज के लिए बस इतना ही और हम आपसे वादा करते है की आने वाले समय मे हम इस लेख मे और भी रोचक और मज़ेदार कहानिया शामिल करते रहेंगे! इसलिए आपसे निवेदन है की आप इस लेख मे समय समय पर विसिट जरूर करें और हमारी इन प्यारी सी कहानियों को जरूर पढ़े!

अगर इस लेख (Short Stories in Hindi) को पढ़कर अच्छा लगा हो तो कृपया इस पोस्ट को एक लाइक करें और 5 स्टार देकर अपना रिवियू जरूर दें!

और भी जानकारी और रोचक हिन्दी लेख को हर दिन पढ़ने के लिए हमारे इस ब्लॉग को जरूर Subscribe करें!

आपका हमारे इस लेख को पूरा पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद!

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here