क्या आप जानते है की न्युमोनिआ क्या है? Pneumonia kya hai? न्युमोनिआ Lungs में होने वाला एक प्रकार का Infection है Pneumonia के कारण एक और दोनों Lungs के Air sac(alveoli) में Inflammation आ जाती है

और alveoli में Fluids और Pus भर जाने के कारण साँस लेने में तकलीफ और सीने में दर्द जैसी परेशानी देखी जाती है!

सर्दी, जुकाम, बुखार इसके लक्षण है! यह संक्रमण 2 साल से कम के Child में और 65 साल से अधिक के लोगो में इसके बढ़ने का risk रहता है! जो लोग Alcohol का सेवन और Smoking करते है! इस कारण भी Pneumonia के होने के Chance बढ़ जाता है!

World में 2017 में 2 million लोगो की death हुवी! जिसमे मरने वालो में अधिक संख्या 5 साल से कम के बच्चों की थी!

न्युमोनिआ के कारण (Causes of Pneumonia):

बैक्टीरियल न्युमोनिआ (Bacterial pneumonia)

बैक्टीरियल न्युमोनिआ जो बैक्टीरिया के कारण होता है! Streptococcus pneumoniae Bactriea से यह होता है! शुरुवात में थोड़ा weakness हल्का बुखार आता है! लेकिन जब ये बैक्टीरिया Lungs में चला जाये तो Serious लक्षण दिखने लगते है! यह कम Immunity वाले लोगो में इसका risk बढ़ जाता है!

वायरल निमोनिया (Viral pneumonia)

वायरल न्युमोनिआ जो वायरस के कारण होता है जैसे फ्लू(इन्फ्लुएंजा)

न्युमोनिआ के लक्षण (Symptoms)

न्युमोनिआ के लक्षण व्यक्ति के age, Health immunity पर निर्भर रहता है! और न्युमोनिआ के कारण पर भी लक्षण निर्भर रहता है!

Common pneumonia symptoms:

  • सीने में दर्द होने
  • साँस लेने में तकलीफ
  • बुखार (up to 105 F )
  • सर्दी जुकाम खासी में cough बनना
  • थकान लगना
  • भूख न लगना
  • heartbeat का फ़ास्ट होना
  • ५ साल से कम के बच्चों में breath का तेज़ होना
  • Lips और nails का नीला पड़ना
  • पसीना होना
  • शुरवात के दिनों में बुखार सर्दी लगना सरदर्द सुखी खासी जैसे लक्षण दिखते है और 1-2 दिनों में यह तेज़ी से बढ़ने लगता है!

न्युमोनिआ के प्रकार (Types of pneumonia):

  • Hospital-acquired निमोनिया वेंटीलेटर एसोसिएटेड pneumonia । यह ४८ में यह न्युमोनिआ दिख सकता है या अगर न्युमोनिआ का पेशेंट हॉस्पिटल में एडमिट हो और जब high risk पेशेंट को वेंटीलेटर machine में रखा जाये तो जैसे वेंटीलेटर एसोसिएटेड pneumonia
  • Aspiration निमोनिया यह न्युमोनिआ तब होता है जब भोजन पेय पदार्थो और लार से बैक्टीरिआ लंग्स तक पहुँचता है और इससे गले में भी कुछ निगलने में दर्द होता है

Pneumonia को Diagnosis कैसे किया जाता है?

Diagnosis के लिए Health history और Body illness के Base पर किया जाता है:

Blood test

इसमें pneumonia patient का Blood sample लिया जाता है और confirm किया जाता है! की इन्फेक्शन है या नहीं और artery blood gas test किया जाता है जिससे ब्लड में ऑक्सीजन की amount का पता लगाया जाता है!

Chest Xay

इससे Lungs में inflammation को देखा जा सकता है! और Internal tissues, bones और Lungs अन्य Organs की Pictures का टेस्ट किया जाता है!

CT Scan

Lungs की अधिक जानकारी लेने के लिए CT scan किया जाता है!

Sputum Culture

इसमें न्युमोनिआ patient का Mucus sample लिए जाता है और Lab में sample check करने पर infection का पता लगाया
जाता है

Pulse oximetry

Blood में ऑक्सीजन को Check करने के लिए और Lungs में ऑक्सीजन की amount को चेक करने के लिए Pulse oximetry sensor machine को finger में Clip किया जाता है! जो ऑक्सीजन की Amount को Indicate करता है!

Bronchoscopy

इसमें Lungs की Air ways को देखने के लिए गले से lungs में एक tube को insert किया जाता है! जिसमे कैमरा लगाया जाता है यह टेस्ट Doctors द्वारा तब किया जाता है जब न्युमोनिआ के symptoms severe हो और Patient hospitalized हो! इसमें और Ribs, lungs के बिच में Space होता है! जिसे pleural Space कहते है Needle की मदद से Fluid sample लिया जाता है और Test किया जाता है इन्फेक्शन है या नहीं!

Conclusion [ निष्कर्ष ]

इस पोस्ट में हमने जाना की Pneumonia kya hai और कारण और लक्षण तथा Pneumonia को कैसे Diagnosis किया जाता हैं! हम आशा करते हैं आपको यह पोस्ट पसंद आयी होगी! इस पोस्ट से संबधित कोई विचार और सुझाव हो तो कृपया निचे कमेंट करके जरूर अवगत कराये! और यदि पोस्ट अच्छी लगे तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों में अवश्य शेयर कीजिये!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here