Home Education RAM Full Form: रैम क्या होता है? रैम के कार्य? RAM कितने प्रकार...

RAM Full Form: रैम क्या होता है? रैम के कार्य? RAM कितने प्रकार की होती है?

0
Rate this post

हेल्लो दोस्तों, क्या आपको पता है की कंप्यूटर में RAM Full Form, रैम क्या होता है? (RAM Kya Hai), रैम की परिभाषा, RAM कितने प्रकार की होती है?, RAM कैसे काम करता है!

आप सभी ने तो RAM के बारे में जरुर सुना होगा! खास तौर पर जब भी आप अपने लिए Mobile या फिर कंप्यूटर खरीदते है! आजकल तो सभी लोग कंप्यूटर, लैपटॉप या फिर मोबाइल फोन खरीदने से पहले उसका RAM देखते हैं। क्योंकि सिस्टम में ज्यादा RAM होने पर सिस्टम बहुत तेज़ और अच्छा काम करता है!

अक्सर PubG और फ्री फायर जैसे बड़े-बड़े Game खेलने के लिए भी मोबाइल में अधिक RAM की जरुरत होती है! इसलिए अधिकतर लोग ज्यादा RAM के चक्कर में महंगा फ़ोन या कंप्यूटर खरीदकर अपना पैसा बर्बाद करते हैं!

इसलिये आपको कंप्यूटर, लैपटॉप और मोबाइल में रैम क्या होता है? (RAM Kya Hai), रैम का क्या काम होता है! RAM Full Form और अपने मोबाइल का RAM कैसे पता करें? और RAM की पूरी जानकारी पता होना बहुत जरुरी होता है!

रैम का पूरा नाम – RAM Full Form 

RAM Full Form: रैम का फुल फॉर्म Random Access Memory होता है! और इसे शॉर्ट-टर्म मेमोरी भी कहते है! कोई भी कंप्यूटर लैपटॉप या फिर फ़ोन, बिना RAM के किसी भी प्रोग्राम, स्ट्रीम, फाइल या गेम को नहीं चला सकता है!

रैम क्या होता है – What is RAM in Hindi

Random Access Memory यानी की RAM हमारे कम्प्यूटर सिस्टम की एक मुख्य मेमोरी होती है! यह कंप्यूटर या फिर मोबाइल में चल रहे सभी सक्रिय कार्यों और Applications को सँभालने का कार्य करता है!

जब कभी भी आप अपने मोबाइल फोन या कंप्यूटर में कोई Application चलाते हैं! या फिर किसी प्रकार की कोई Files जैसे; Photo, Video, Audio या Game आदि ओपन करते हैं! तो उस समय आपके सभी active tasks का डाटा RAM में Store होता है!

इसके बाद यदि आप बिना फाइल सेव किये अपने कंप्यूटर को बंद कर देते है तो यह RAM में Store Data स्वतः ही नष्ट हो जाता है! क्युकी RAM एक प्रकार की Volatile Memory (अस्थायी मेमोरी) होती है, इसलिए इसमें Data अस्थायी रूप में Store होता है!

वैसे हमारे Computer सिस्टम में मुख्य रूप से 3 तरह की RAM मेमोरी उपलभ्द होती है! और इन सभी के अलग अलग काम और विशेषताए होती है!

  1. Primary Memory
  2. Secondary Memory
  3. Cache Memory

1). प्राइमरी मेमोरी (Primary Memory)

किसी भी कंप्यूटर सिस्टम की Primary Memory उसकी मुख्य मेमोरी होती है! यदि आप अपने कंप्यूटर डेस्कटॉप को कभी खोलकर देखते है तो आपको Primary Memory लगाने के लिए 2 स्लॉट दिखाई देते है!

यह मेमोरी Data को तभी तक स्टोर करती है जब तक इसको इलेक्ट्रिक का सप्लाई मिल रह हो जब इसको इलेक्ट्रिक का सप्लाई मिलना बंद हो जाता है यानी की आप अपना कंप्यूटर पावर ऑफ कर देते है तो इसका Data स्वतः ही नस्ट हो जाता है!

इसलिए आपको अपने मशीन पावर ऑफ करने से पहले डाटा को सेव करना जरुरी होता है!

2). सेकेंडरी मेमोरी (Secondary Memory)

कंप्यूटर में लगे स्टोरेज डिवाइस को सेकेंडरी मेमोरी कहा जाता है! जैसे की हार्ड ड्राइव और सॉलिड स्टेट ड्राइव इत्यादि! आसान शब्दों में कहे तो सेकेंडरी मेमोरी रिमूवेबल स्टोरेज मीडिया जैसे की USB फ्लैश ड्राइव, सीडी और डीवीडी को कहते है!

आपके कंप्यूटर के सीपीयू द्वारा सेकेंडरी मेमोरी को Directly एक्सेस नहीं किया जाता है! इसके बजाय सेकेंडरी मेमोरी में रखे डेटा को पहले Main Memory में लोड किया जाता है और उसके बाद प्रोसेसर को भेजा जाता है!

3). कैश मेमोरी (Cache Memory)

कैश मेमोरी हमारे कंप्यूटर के सीपीयू में आवश्यक डेटा रखने और माइक्रो प्रोसेसर को High Speed डेटा Access प्रदान करने के लिए एक Temporary storage क्षेत्र के रूप में उपयोग किया जाता है!

Primary Memory की तुलना में कैश मेमोरी अधिक महंगी होती है! कैश मेमोरी आमतौर पर रैम की तुलना में 10 से 100 गुना Fast होती है, जो केवल कुछ Nano सेकंड में Output देने में सक्षम होती है!

कैश मेमोरी में उपयोग किए जाने वाले हार्डवेयर को “High Speed ​​Static Random Access Memory” कहा जाता है

रैम कितने प्रकार की होती है – Types of RAM in Hindi

RAM को इसके कार्य क्षमता, उपयोग, तीव्रता और विशेषता के आधार पर मुख्यता 2 प्रकार में बाटा गया है!

  1. Static RAM
  2. Dynamic RAM

1). Static RAM क्या होता है?

इसे SRAM भी कहा जाता है! SRAM का फुल फॉर्म Static Random Access Memory होता है! इसका प्रयोग Computer, लैपटॉप और मोबाइल फ़ोन में Cache Memory के रूप में किया जाता है! यह भी अस्थायी मेमोरी होती है!

क्योंकि SRAM में Data स्थिर रहता है! इसलिए इसमें बार बार Refresh करने की जरुरत नहीं होती है! ये एक प्रकार का सेमी कंडक्टर मेमोरी होती है! DRAM की तुलना में SRAM मेमोरी तेज और महंगा होता है!

SRAM  में रखे डाटा को Frequently Access करने के लिए इसे हमेशा Power की आवश्यकता पड़ती है!

2). Dynamic RAM क्या होता है?

इसे DRAM भी कहते है! DRAM का फुल फॉर्म Dynamic Random Access Memory होता है! इसका प्रयोग Computer में Main Memory केरूप पर किया जाता है! क्योंकि DRAM की Data हमेशा परिवर्तित होते रहता है! इसलिए आपको इसे बार बार Refresh करने की आवश्यकता होती है!

SRAM की तुलना में यह कम तेज और काफी सस्ती होती है!

Conclusion [निष्कर्ष]

तो आज के इस हिंदी लेख में हमने RAM Full Form, रैम क्या होता है? (RAM Kya Hai), रैम की परिभाषा, RAM के प्रकार, RAM कैसे काम करता है? के बारे में जाना! साथ ही हमने Static RAM क्या होता है? Dynamic RAM क्या होता है? के बारे में विस्तारपूर्वक जाना!

हम उम्मीद करते है आपको इस पोस्ट के माध्यम से RAM Memory Kya Hai के बारे में बहुत कुछ जानने को मिला होगा! आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी, हमे कमेंट सेक्शन में लिखकर जरूर बताये और यह लेख को सोशल मिडिया (व्हाट्सपइंस्टाग्रामट्विटरपर शेयर जरूर करे!

हमारी यह पोस्ट को पढ़ने के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद!

स्वस्थ रहें, सुरक्षित रहें और अपनों का ख्याल रखें!

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!